• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • सुनील सिंह ने एसएसपी से लगाई गुहार - पुलिस लाइन में परिवार को रहने की जगह दें या सुरक्षा दें
--Advertisement--

सुनील सिंह ने एसएसपी से लगाई गुहार - पुलिस लाइन में परिवार को रहने की जगह दें या सुरक्षा दें

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार के विरुद्ध जान मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए थाने में आवेदन देने वाले...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:10 AM IST
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार के विरुद्ध जान मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए थाने में आवेदन देने वाले कांग्रेस नेता सुनील कुमार सिंह ने अब एसएसपी को ज्ञापन देकर कहा है कि परिवार सहित उन्हें पुलिस लाइन में रहने की जगह दी जाए या पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए। दूसरी ओर पार्टी ने उन्हें शो कॉज जारी करते हुए सात दिन में जवाब मांगा है। प्रदेश कांग्रेस के कार्यालय समन्वयक राजीव रंजन प्रसाद द्वारा सुनील सिंह को जारी किए गए नोटिस में कहा गया है कि लालपुर थाने में सनहा दर्ज कराना और मीडिया को इसकी जानकारी देना गैर जिम्मेदाराना कदम प्रतीत होता है। इससे पार्टी की छवि सामाजिक एवं राजनीतिक तौर पर धूमिल हुई है। यह अनुशासनहीनता दर्शाता है।

सुनील सिंह से पार्टी ने चार बिंदुओं पर मांगा स्पष्टीकरण

पार्टी ने 4 बिंदुओं पर स्पष्टीकरण मांगा है, जिसमें कहा गया है कि धमकी की घटना मोरहाबादी मैदान में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने पार्टी के कार्यक्रम के बाद हुई, तब ऐसी कौन सी मजबूरी थी कि आपने तत्काल इसकी चर्चा वहां उपस्थित कार्यकर्ताओं एवं सीनियर लीडर से नहीं की। क्या विवशता थी कि पार्टी स्तर पर इसकी चर्चा ना कर सीधे थाना में सूचना देना हितकर समझा गया। जब पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता के तौर पर कार्यक्रम स्थल पर उन्हें आमंत्रित किया गया था, तो कार्यक्रम के दौरान ऐसा क्या हुआ कि उन्हें धमकी दी गई। यह भी पूछा गया है कि क्यों नहीं समझा जाए कि उनकी यह गैर जिम्मेदाराना हरकत पार्टी विरोधी ताकतों के साथ एकमत होकर सुनियोजित षड्यंत्र का हिस्सा है। पार्टी ने कहा है कि अगर 7 दिनों के भीतर वे अपना जवाब नहीं देते हैं, तो प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति यह समझेगी कि उन्हें इस संबंध में कुछ नहीं कहना है और समिति स्वतंत्र रूप से अपना निर्णय लेगी।

मामले की जांच के बाद होगी एफआईआर की कार्रवाई

कांग्रेस नेता सुनील सिंह द्वारा लालपुर थाने में दिए गए आवेदन के आधार पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार के विरुद्ध सनहा दर्ज किया गया है। डीएसपी सदर राजकुमार मेहता ने पूछे जाने पर कहा कि आवेदन के आधार पर कोई संज्ञेय मामला नहीं बन रहा था। सनहा दर्ज करने के बाद अब इस मामले की जांच की जाएगी। जांच में अगर संज्ञेय बात सामने आती है, तो उसके अनुसार ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यह हिंसा वाली कांग्रेस है, जो अपने कार्यकर्ता को ही एनकाउंटर की धमकी देती है : भाजपा

भाजपा ने कहा है कि अहिंसा वाली कांग्रेस खत्म हो गई है, अब जो कांग्रेस है, वह हिंसा में विश्वास करती है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुनील कुमार सिंह ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार पर लालपुर थाने में जो शिकायत की है, वह बहुत ही गंभीर है। एक समय था, जब सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलने वाली महात्मा गांधी की कांग्रेस हुआ करती थी। आज राहुल गांधी के कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष द्वारा अपनी ही पार्टी के नेता के लिए खुद की 300 एनकाउंटर वाली छवि दिखाकर धमकाया जाता है। शाहदेव ने कहा की झारखंड की राजनीति में एनकाउंटर जैसे शब्द का पहली बार प्रयोग हुआ है। वह भी अपनी ही पार्टी के किसी नेता को डराने के लिए। प्रतुल ने कहा कि झारखंड में अपनी खिसकती जमीन को देख कर अजय परेशान हो गए हैं और भाषा पर संयम खो बैठे हैं। यद्यपि यह कांग्रेस का आंतरिक मामला है, फिर भी राजनीतिक और सामाजिक जीवन में उच्च पद पर बैठे लोगों को अपने पद की गरिमा का ख्याल रखना चाहिए।

भाजपा से सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं : कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने भाजपा के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस हमेशा शालीनता का दूसरा नाम रही है। डॉ. अजय को प्रतुल शाहदेव के सर्टिफिकेट की आवश्यकता तो कतई नहीं है। उन्होंने कहा है कि अंतर्विरोधों और अंतरकलह वाले लोग हमें शिक्षा देने का प्रयास न करें। गोडसे की विचारधारा पर चलने वालों के द्वारा निहित राजनीतिक स्वार्थ की पूर्ति के लिए महात्मा गांधी के नाम का उपयोग शोभा नहीं देता। कांग्रेस कल भी महात्मा गांधी के सिद्धांतों पर चलनेवाली पार्टी थी, आज भी उन्हीं के बताए रास्तों पर चलती है। भाजपा का चरित्र और चेहरा सभी के सामने आ गया है। चुनाव जीतने के लिए अपराधियों, भ्रष्टाचारियों को टिकट देनेवालों को डॉ. अजय कुमार जैसी शख्सियत पर उंगली उठाने से पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए। दरअसल डॉ. अजय कुमार के प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस की लोकप्रियता में हो रहे लगातार इजाफा एवं विशेषकर राज्यसभा में हुई हार को भाजपा पचा नहीं पा रही है।