• Hindi News
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • News
  • पढ़ाई के दौरान जब भी थकान हो, तब स्टूडेंट्स सूप जूस और फ्रूट्स लें, इससे ब्रेन काे एनर्जी मिलती है
--Advertisement--

पढ़ाई के दौरान जब भी थकान हो, तब स्टूडेंट्स सूप जूस और फ्रूट्स लें, इससे ब्रेन काे एनर्जी मिलती है

News - एग्जाम के प्रेशर में कई स्टूडेंट्स ने अपना बॉयो क्लॉक बिगाड़ लिया है, इसलिए कई पैरेंट्स डायटीशियंस की मदद ले रहे...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 03:15 AM IST
पढ़ाई के दौरान जब भी थकान हो, तब स्टूडेंट्स सूप जूस और फ्रूट्स लें, इससे ब्रेन काे एनर्जी मिलती है
एग्जाम के प्रेशर में कई स्टूडेंट्स ने अपना बॉयो क्लॉक बिगाड़ लिया है, इसलिए कई पैरेंट्स डायटीशियंस की मदद ले रहे हैं। रांची की डायटीशियन डॉ. कुमारी मीनाक्षी के अनुसार इन दिनों कई बच्चे खाने-पीने का शेड्यूल फॉलो नहीं करते हैं और उसका प्रभाव पढ़ाई पर भी पड़ता है। एग्जाम टाइम में ब्रेन को इंस्टेंट ग्लूकोज की जरूरत पड़ती है, ताकि ब्रेन एक्टिव रहे। स्टूडेंट्स को 2 से 3 घंटे के टाइम इंटरवल में हल्का डाइट-जैसे सूप, जूस और फ्रूट्स खाते रहना चाहिए। जब कभी पढ़ाई करते में थकान होती है तो कुछ मीठा खाना चाहिए। इससे ब्रेन को एनर्जी मिलती है। नॉर्मल पानी की जगह ग्लूकोज या लेमन वॉटर पीना चाहिए। इससे भी ब्रेन को लगातार एनर्जी मिलती है और फ्रेश फील होता है।

एग्जाम सीजन में डायटीशियन दे रहे हैं हेल्दी फूड हैबिट्स, ताकि स्टूडेंट्स रहें एकदम फिट एंड फाइन

कैफीन से तो दूर ही रहें

स्टूडेंट्स को प्रिपरेशन के दौरान कैफीन से दूर रहना चाहिए। चाय-कॉफी पीने के बाद बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन का ग्राफ हाई हो जाता है और फ्रेश फील भी करते हैं। लेकिन तेजी से ब्लड सर्कुलेशन लो भी होता है और फिर थकान और सुस्ती महसूस होती है।

फास्ट फूड न खाएं

रांची की ही डायटीशियन डॉ. मनीषा घई का कहना है कि एग्जाम टाइम की डाइट में प्रोटीन और ग्रीन वेजिटेबल को शामिल करना चाहिए। रिच कार्बोहाइड्रेट और ऑयली फूड को अवॉयड करने की जरूरत है, क्योंकि ये स्टूडेंट को स्लीपी और लेजी फील कराता है। फास्ट फूड को इग्नोर करने की जरूरत है, क्योंकि ये जल्दी डायजेस्ट नहीं होते। इसे खाने के बाद खूब नींद आती है।

X
पढ़ाई के दौरान जब भी थकान हो, तब स्टूडेंट्स सूप जूस और फ्रूट्स लें, इससे ब्रेन काे एनर्जी मिलती है
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..