• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • इ खर्च नहीं, इंवेस्टमेंट है बैंक से ज्यादा फायदेमंद
--Advertisement--

इ खर्च नहीं, इंवेस्टमेंट है बैंक से ज्यादा फायदेमंद

चुनाव में हमारे पक्ष में वोट अधिक पड़े, इसके लिए शर्मा जी बेजान ने अपने कैडर वोटरों के बीच मतदाता पर्ची बंटवाने का...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:25 AM IST
चुनाव में हमारे पक्ष में वोट अधिक पड़े, इसके लिए शर्मा जी बेजान ने अपने कैडर वोटरों के बीच मतदाता पर्ची बंटवाने का जिम्मा चेले-चपाटियों को सौंप दिया है। जो भी जान-पहचान वाले मिल रहे हैं, कह रहे हैं- ध्यान रखिएगा। आपका, भाभी जी और बच्चों की मतदाता पर्ची चुनाव के दो दिन पहले घर में पहुंच जाएगी। कोई और कुछ भी घूंटी पिलाए, मत पीजिएगा। तरह-तरह का लालच देगा, बहकिएगा नहीं। जीत हम ही रहे हैं, कोई इफ-बट नहीं है। प्रतिद्वंद्वी भी यही अभियान छेड़े हुए है। हमारे वोटरों को भड़काने के लिए खूब हांक रहा है। घर की दहलीज के पास गाड़ी लगाने और फिर वहीं लाकर छोड़ देने का लालच दिया है। चाय-नाश्ता घर में नहीं करने के लिए कह दिया है। आपत्ति जताने पर प्रतिद्वंद्वी बोला- यह खर्च नहीं, इंवेस्टमेंट हैं। बैंक से ज्यादा सेफ और फायदेमंद।

मेयर के लिए सभी प्रत्याशी युवा

डिप्टी मेयर के लिए 8 उम्मीदवार 50 के पार

सिटी रिपोर्टर| रांची

मेयर और डिप्टी मेयर के प्रत्याशियों की उम्र का अंक गणित भी काफी रोचक है। इनके द्वारा दाखिल नामांकन पत्र के अनुसार, मेयर पद के लिए सभी पांच उम्मीदवार युवा हैं। सबसे कम उम्र वाली आजसू की कुसुम रंजीता सिंह मुंडा सिर्फ 30 साल की है। जबकि सबसे अधिक उम्र वाले जेवीएम के शिव कुमार कच्छप 44 साल हैं। वहीं डिप्टी मेयर के 19 प्रत्याशियों में सबसे अधिक उम्र वाले 70 वर्षीय भवन सिंह और सबसे कम उम्र वाले 35 साल के अजीत लकड़ा अपने प्रतिद्वंद्वियों को टक्कर दे रहे हैं।

अन्य मेयर प्रत्याशियों की उम्र


अन्य डिप्टी मेयर प्रत्याशियों की उम्र