• Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • शैतानी शक्तियों पर विजय के लिए आत्मिक शक्ति के लिए अभ्यास का समय : फादर विनय
--Advertisement--

शैतानी शक्तियों पर विजय के लिए आत्मिक शक्ति के लिए अभ्यास का समय : फादर विनय

रांची महाधर्मप्रांतीय विश्वास प्रशिक्षण दल के निदेशक फादर विनय गुड़िया ने कहा कि चालीसा मसीहियों के जीवन में सबसे...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:50 AM IST
रांची महाधर्मप्रांतीय विश्वास प्रशिक्षण दल के निदेशक फादर विनय गुड़िया ने कहा कि चालीसा मसीहियों के जीवन में सबसे महत्वपूर्ण अवसर है आध्यात्मिक अभ्यास साधना का। शैतानी शक्तियों पर विजय केलिए आध्यात्मिक सामर्थ्य की प्राप्ति के लिए साधना का अवसर है चालीसा। पूरे जगत की कलीसिया और मसीही हर साल चालीस दिन त्याग, तपस्या और बलिदान के साथ उन चालीस दिन और रात को याद करते हैं जो येसु ने निर्जन प्रांत में परमेश्वर की प्रार्थना और मनन-चिंतन में गुजर कर खुद को आध्यात्मिकता में मजबूत किया था। मसीहियों के जीवन में यह चालीस दिन येसु ख्रीस्त के उन चालीस दिनों को याद करने का है जो उन्होंने परमेश्वर की प्रार्थना में बिताए और शैतान की परीक्षा में विजयी हुए। मसीहियों के लिए यह चालीसा महा उपवासकाल का यह चालीस दिन सिर्फ याद करने या प्रार्थना और मनन चिंतन के लिए नहीं है, बल्कि इन चालीस दिनों में पश्चाताप के साथ प्रार्थना, त्याग, तपस्या से खुद को इतना मजबूत करना है ताकि हम सभी मसीही विश्वासी अपने रोजमर्रा के जीवन में उसे जीएं और खुद मे प्रभु येसु के उस क्रूस दुखभोग और क्रूस मरण के दुख को अनुभव करे, जो उन्होंने समस्त मानवजाति की मुक्ति के लिए किया।

फादर विनय गुड़िया ने कहा कि हमारे दैनिक जीवन और कार्यों पर हर क्षण शैतानी शक्तियों का प्रहार जारी है। शैतान कौन, यह समझने के लिए बहुत दूर जाने या दिमाग लगाने की जरूरत नहीं, बल्कि यह देखें कि वे कौन से तत्व या कारक हैं, जो हमारा परिवार तोड़ते हैं। शैतानी ताकतों पर विजय पाने के लिए जरूरी है कि हम प्रतिदिन प्रार्थना में ईश्वर की संगति कर उनसे ऊर्जा प्राप्त करें। निस्वार्थ प्रेम भावना के साथ दूसरों के लिए भलाई का काम करें।

चालीसा का पुण्यकाल