• Hindi News
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • सीसीएल के पूर्व चीफ विजिलेंस अफसर को तीन साल की सजा, 1 लाख जुर्माना
--Advertisement--

सीसीएल के पूर्व चीफ विजिलेंस अफसर को तीन साल की सजा, 1 लाख जुर्माना

सीसीएल रांची के पूर्व चीफ विजिलेंस अफसर और बंगाल कैडर के पूर्व आइपीएस हेमचंद को 25 वर्ष पुराने भ्रष्टाचार के मामले...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:15 PM IST
सीसीएल रांची के पूर्व चीफ विजिलेंस अफसर और बंगाल कैडर के पूर्व आइपीएस हेमचंद को 25 वर्ष पुराने भ्रष्टाचार के मामले में कोर्ट ने बुधवार को दोषी पाया। कोर्ट ने उन्हें तीन साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई। सीबीआई की विशेष न्यायाधीश कुमारी रंजना अस्थाना की अदालत ने पूर्व आईपीएस पर 100000 का जुर्माना भी लगाया। जुर्माना नहीं देने पर अलग से एक वर्ष के साधारण कारावास की सजा काटनी होगी। उनके खिलाफ वर्ष1992 में सीबीआई ने प्राथमिकी दर्ज की थी। आरोप था कि चीफ विजिलेंस अफसर के पद पर रहते हुए हेमचंद ने मई 1989 से अगस्त 1992 की अवधि में दो लाख 65 हजार रुपए अवैध तरीके से संपत्ति अर्जित की। सुनवाई के दौरान सीबीआई ने 28 गवाहों के बयान दर्ज कराए। वहीं, हेमचंद ने अपने बचाव में दो गवाहों के बयान दर्ज कराए। पूर्व आईपीएस को इससे पहले भी रिश्वत लेने के मामले में सीबीआई कोर्ट ने सजा सुनाई थी। इस मामले को चुनौती देते हुए हेमचंद्र ने हाईकोर्ट में अपील याचिका दायर की है।

घूसखोर कर्मचारी को 10 साल सजा

रांची| वासुदेव की 10 डिसमिल जमीन का म्यूटेशन करने के लिए बानो अंचल के कर्मचारी दिवाकर बड़ाइक ने हजार रुपए घूस ली थी। इस मामले में एसीबी के विशेष जज संतोष कुमार नंबर दो की अदालत ने उसे 10 वर्ष के सश्रम कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने बुधवार को ही कर्मचारी को दोषी ठहराया था। बुधवार को सजा के बिंदु पर सुनवाई हुई।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..