--Advertisement--

नई औद्योगिक नीति पर चर्चा करेंगे प्रभु

आर्सेलर मित्तल को तिमाही में दुगुना शुद्ध लाभ नई दिल्ली | दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात कंपनी आर्सेलर मित्तल का...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:25 PM IST
आर्सेलर मित्तल को तिमाही में दुगुना शुद्ध लाभ

नई दिल्ली | दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात कंपनी आर्सेलर मित्तल का शुद्ध लाभ दिसंबर 2017 में समाप्त तिमाही में दोगुना से अधिक होकर 1.03 अरब डॉलर पर पहुंच गया। बिक्री बढ़ने से कंपनी के मुनाफे में बढ़ोतरी हुई। लक्ष्मी निवास मित्तल की अगुवाई वाली कंपनी ने इससे पिछले साल की समान तिमाही में 40.3 करोड़ डॉलर का शुद्ध लाभ कमाया था। अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में लग्जमबर्ग की कंपनी की बिक्री बढ़कर 17.71 अरब डॉलर पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 14.12 अरब डॉलर थी।


नई औद्योगिक नीति पर चर्चा करेंगे प्रभु

नई दिल्ली | वाणिज्य व उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु प्रस्तावित औद्योगिक नीति पर अगले महीने उद्योग जगत के प्रतिनिधियों के साथ विचार विमर्श करेंगे। अधिकारियों ने कहा कि इस तरह की पहली बैठक दो फरवरी को गुवाहाटी में होगी। दूसरी बैठक नौ फरवरी को नई दिल्ली में होनी है। वाणिज्य व उद्योग मंत्रालय ने प्रस्तावित औद्योगिक नीति का मसौदा तैयार कर लिया है।नई नीति 1991 की औद्योगिक नीति में आमूल चूल बदलाव करेगी। औद्योगिक नीति व संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) ने पिछले साल अगस्त में औद्योगिक नीति का मसौदा जारी किया था।

जेएसडब्ल्यू स्टील को ₹ 1,774 करोड़ का मुनाफा

नई दिल्ली| वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में जेएसडब्ल्यू स्टील का मुनाफा 1,774 करोड़ रुपए हो गया है जबकि बाजार का अनुमान था कि जेएसडब्ल्यू स्टील का मुनाफा 1,185 करोड़ रुपए के आसपास रहेगा। तीसरी तिमाही में जेएसडब्ल्यू स्टील को 264 करोड़ रुपए का एकमुश्त घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में जेएसडब्ल्यू स्टील की आय 27.5 फीसदी बढ़कर 17,861 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है।

निर्माण रोकने से संबंधित किसी भी प्रकार का नोटिस नगर निगम से नहीं : एसोटेक सन ग्रोथ

रांची| एसोटेक न्यू सिटी एंड एसोटेक सन ग्रोथ द्वारा शुरू किए गए अफोर्डेबल हाउसिंग प्रोजेक्ट पर रांची नगर निगम से किसी प्रकार के निर्माण रोकने से संबंधित नोटिस नहीं प्राप्त हुआ है। यह बात कंपनी के अधिकृत प्रतिनिधि ने कही। उन्होंने कहा कि एग्रोटेक हिल्स राज्य का पहला अफोर्डेबल प्रोजेक्ट है। इसके लिए राज्य सरकार से एमओयू हुआ है। कंपनी ने बताया कि इस प्रोजेक्ट का नक्शा भवन प्लॉट संख्या बीपी/w04/0165/16 नगर निगम रांची ने गत वर्ष 24 दिसंबर को सभी लीगल प्रक्रिया को अपनाते हुए पारित किया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..