रांची

  • Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • कर्मियों के लिए शौचालय और पेयजल की व्यवस्था कराएं प्रबंधन
--Advertisement--

कर्मियों के लिए शौचालय और पेयजल की व्यवस्था कराएं प्रबंधन

टंडवा| मगध परियोजना प्रबंधक के मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ बुधवार को बीट मीटिंग हुई। इसकी अध्यक्षता आरकेएमयू...

Danik Bhaskar

Mar 01, 2018, 02:00 AM IST
टंडवा| मगध परियोजना प्रबंधक के मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ बुधवार को बीट मीटिंग हुई। इसकी अध्यक्षता आरकेएमयू अध्यक्ष विजय कुमार बेदिया ने की। बैठक में मुख्य रूप से परियोजना में कार्यरत कर्मियों की समस्याओं पर चर्चा की गई। कहा कि मगध परियोजना खुले चार वर्ष बीत चुके हैं। पर प्रबंधक द्वारा आज तक कर्मियों के लिए कोई भी मूलभूत सुविधा उपलब्ध नहीं कराया गया है। माइंस में कार्यरत कर्मियों के लिए शुद्ध पेयजल, शौचालय, कैंटीन, रेस्ट सेलटर आदि की सुविधा नहीं है। साथ खान परिसर से लगभग पांच से लेकर आठ किलोमीटर कि दूरी पर आवास कि व्यवस्था भी नहीं की गई हैं। जो माइंस एक्ट, रुल का खुला उल्लंघन है। कुछ एमआर कर्मचारियों को डकरा में आवास दिया गया है। जो से माइंस तक आने जाने में 80-90 किलोमीटर की दूरी सफर करने में तीन से चार घंटे लगते हैं। हर दिन लंबी दूरी तय करने के कारण कर्मचारियों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। अध्यक्ष विजय वेदिया ने कहा कि प्रबंधन टंडवा में आवास की व्यवस्था करे अन्यथा इसकी लिखित शिकायत कोयला मंत्री, लेबर कमिश्‍नर, लेबर मिनिस्टर , कोयला सचिव , डीजीएमएस धनबाद से की जाएगी। कहा कि प्रबंधन की तानाशाह रवैया से कर्मी परेशान हैं। कहा कि जल्द हमारी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो हम बाध्य होकर प्रबंधन के खिलाफ आंदोलन करेंगे। मौके पर रवि सिंह, संजय पासवान, रंजन उरांव, रामचंद्र गंझू, नवीन लकरा, दीपक रुंडा, धनंजय गोराई, अनंत कुमार, प्रभाष गंझू, सन्नी उरांव, आनंद पासवान समेत यूनियन के कई प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Click to listen..