Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Calling 108 Ambulance Service People Ask This Thing

108 एंबुलेंस सेवा पर फोन कर लोग पूछ रहे ये बात, कॉल सेंटर परेशान

कॉल सेंटर में 70 एग्जीक्यूटिव कर रहे कॉल रिसिव, 24 घंटे में एक हजार लोगों ने किया फोन।

BhaskarNews | Last Modified - Nov 17, 2017, 06:59 AM IST

  • 108 एंबुलेंस सेवा पर फोन कर लोग पूछ रहे ये बात, कॉल सेंटर परेशान

    रांची. राज्य के स्थापना दिवस पर 15 नवंबर को तीन जिलों में 108 एंबुलेंस सेवा शुरू हुई है। लेकिन, काफी लोगों को इस सेवा की पूरी जानकारी नहीं है। 24 घंटे में कॉल सेंटर में करीब एक हजार लोगों ने कॉल कर 108 सेवा क्या है, इसकी जानकारी ली। कई कॉलर एग्जीक्यूटिव से पूछ रहे थे कि मेरा राशन कार्ड कब बनेगा..., राशन कार्ड के लिए आवेदन पत्र कहां जमा करना है। जिगित्सा हेल्थ सर्विस सरकार का प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत एंबुलेंस सेवा को मैनेज कर रही है।

    31 मार्च तक 329 एंबुलेंस का परिचालन होगा : अभीरांची, गढ़वा जमशेदपुर में 33 एंबुलेंस से सेवा दी जा रही है। 31 मार्च तक 329 एंबुलेंस का परिचालन राज्य में होगा। एडवांस लाइफ केयर और बेसिक लाइफ केयर दो प्रकार के एंबुलेंस होंगे। एडवांस में किसी भी अस्पताल के इमरजेंसी सुविधा होगी। बेसिक में भी जान बचाने के उपकरण हैं।

    स्कूल, कॉलेज आंगनबाड़ी में होगा प्रचार
    जीएम के सुमित ने बताया कि सरकार 108 सेवा का प्रचार तो कर रहा है। हमलोग भी अपने स्तर से स्कूल-कॉलेज, आंगनबाड़ी पंचायतों में जाकर प्रचार करेंगे। लोगों को इस सेवा की जानकारी देंगे। कैसे इसका लाभ लें, यह बताया जाएगा।

    यह पूरी तरह से नि:शुल्क है यानी एंबुलेंस सेवा लेने वालों को किसी को पैसा नहीं देना है। 108 सेवा पर कॉल करना है और मोबाइल में बैलेंस नहीं है, फिर भी मरीज कॉल कर सकते हैं। सेंटर के जीएम सुमित ने बताया कि गुरुवार को पांच मरीजों को अस्पताल पहुंचाया गया है। ये सभी मरीज रांची जिले के हैं। कॉल आने पर तुरंत एंबुलेंस भेजकर मरीज को अस्पताल में भरती कराया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ranchi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Calling 108 Ambulance Service People Ask This Thing
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×