Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Dial To Move The Body From The Rims To The House

रिम्स से शव घर तक ले जाने के लिए डायल करें 9709500007

झारखंड के किसी भी कोने से 108 नंबर पर डायल करें, 15-30 मिनट में पहुंचेगी एंबुलेंस।

पुष्पगीत। | Last Modified - Nov 06, 2017, 07:35 AM IST

  • रिम्स से शव घर तक ले जाने के लिए डायल करें 9709500007
    रांची। राजधानी के युवकों के हौसले की उड़ान रविवार को जमीं पर उतरी। जिंदगी मिलेगी दोबारा फाउंडेशन संस्था के युवकों ने रिम्स से पार्थिव शरीर को गंतव्य स्थान तक पहुंचाने के लिए तीन एंबुलेंस रिम्स को और एक रांची पुलिस को सौंपा। इस सेवा के लिए टॉल फ्री नंबर 9709500007 है।
    - यह सेवा अभी 100 किलोमीटर के दायरे तक होगी। एंबुलेस के साथ-साथ कफन, पीड़ित परिजनों के लिए मिनरल वाटर और मोबाइल सेवा भी नि:शुल्क मिलेगी। आईएमए में रविवार को एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने इस सेवा का शुभारंभ किया।
    - फाउंडेशन प्रमुख अश्विनी राजगढ़िया ने कहा कि तीन एंबुलेंस रिम्स के पास और एक रांची पुलिस के पास रहेगी, ताकि शहर में कहीं भी दुर्घटना या मदद की जरूरत हो तो एंबुलेंस भेजी जा सके। रिम्स की इमरजेंसी के पास स्ट्रेचर और व्हील चेयर की सुविधा भी मिलेगी।
    हंटर सिंड्रोम से पीड़ित बेटे के लिए मदद मांगी
    अरगोड़ाचौक निवासी सौरभ सिंह ने लोगों से अपने बेटे शौर्य के इलाज के लिए आर्थिक मदद मांगी है। हंटर सिंड्रोम से पीड़ित शौर्य के इलाज में दो करोड़ लगेंगे। संस्था के सदस्यों ने कहा है कि एंबुलेंस में एक डोनेशन बॉक्स भी होगा।
    - एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने कहा कि भागदौड़ की जिंदगी में सब व्यस्त हैं, पर फाउंडेशन के युवकों ने जो बीड़ा उठाया है, वह काबिल-ए-तारीफ है। हमें जीवन में सबसे बड़ा दुख तब होता है, जब हमसे अपने बिछड़ते हैं। ‌‌उस वक्त आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए यह सेवा वरदान साबित होगी। वहीं, हरि नारायण ने कहा कि मेरी पत्नी के निधन के बाद फाउंडेशन के सदस्यों ने काफी मदद की, उसे हमेशा याद रखेंगे।
    मरीज के बताए अस्पताल तक ले जाएगी यह एंबुलेंस
    यह एंबुलेंस मरीज को उनके बताए अस्पताल तक पहुंचाएगी। इससे पहले एंबुलेंस में बैठा पारा मेडिक्स संबंधित अस्पताल को सूचित कर केस की जानकारी देगा। लेकिन, प्राथमिकता सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराना होगा। एंबुलेंस में चालक के अलावा पारा मेडिक्स, वेंटीलेटर, स्ट्रेचर और दवाएं रहेंगी। यह सेवा 24 घंटे चालू रहेगी।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×