झारखंड / 1932 के खतियान पर स्थानीयता नीति तय करके नियुक्तियां करे सरकार: देवशरण भगत

दाे दिवसीय विचार मंथन कार्यक्रम में पार्टी के अध्यक्ष सुदेश महतो, देवशरण भगत व अन्य। दाे दिवसीय विचार मंथन कार्यक्रम में पार्टी के अध्यक्ष सुदेश महतो, देवशरण भगत व अन्य।
X
दाे दिवसीय विचार मंथन कार्यक्रम में पार्टी के अध्यक्ष सुदेश महतो, देवशरण भगत व अन्य।दाे दिवसीय विचार मंथन कार्यक्रम में पार्टी के अध्यक्ष सुदेश महतो, देवशरण भगत व अन्य।

  • गठबंधन सरकार के कामकाज पर सीधी नजर रखेगी और जनता के सवालों पर कोई समझौता नहीं करेगी: आजसू पार्टी

दैनिक भास्कर

Feb 17, 2020, 12:01 PM IST

रांची. अाजसू पार्टी का दाे दिवसीय विचार मंथन कार्यक्रम का शुक्रवार काे समाप्त हाे गया। बैठक में कई प्रस्ताव पारित कर महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। पारित प्रस्ताव के बारे में प्रेस कांफ्रेंस में जानकारी देते हुए पार्टी के मुख्य केंद्रीय प्रवक्ता डॉक्टर देव शरण भगत ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष सुदेश महताे की अध्यक्षता में हुए विचार मंथन में राज्य सरकार से मांग की गई कि झारखंड की जनभावना के अनुरूप राज्य सरकार 1932 के खतियान के आधार पर स्थानीय नीति तय करे। 

पूर्व की स्थानीय नीति में संशोधन के बाद ही नियुक्तियों की प्रक्रिया शुरू की जाए, ताकि झारखंड के आदिवासियों, मूलवासियों का उनका हक और अधिकार मिल सके। गठबंधन की सरकार नियुक्तियों की बात पर जोर दे रही है, तो उससे पहले वादे के अनुरूप वह स्थानीय नीति में संशोधन करे। देवशरण भगत के साथ पार्टी के वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण किशोर और शिवपूजन मेहता ने भी पार्टी के निर्णयों की जानकारी दी।

राज्य में अारक्षण का दायरा बढ़ाकर 73 प्रतिशत किया जाए

डॉक्टर भगत ने कहा कि राज्य सरकार आरक्षण का दायरा बढ़ाकर 73 प्रतिशत करे। इसके लिए अनुसूचित जनजाति को 32 और अनुसूचित जाति को 14 प्रतिशत आरक्षण देने पर निर्णायक फैसला ले। राज्य सरकार पिछड़ों को 27 प्रतिशत आरक्षण देने का वादा भी निभाए। बैठक में यह भी प्रस्ताव पारित किया गया कि पार्टी गठबंधन सरकार के कामकाज पर सीधी नजर रखेगी और जनता के सवालों पर कोई समझौता भी करेगी। 

सांगठनिक ढांचे का पुनर्गठन, प्रमंडल स्तर पर बनाए गए प्रभारी
पार्टी ने पूरे प्रदेश में हर स्तर पर सांगठनिक ढांचा का भी पुनर्गठन करने का निर्णय लिया है। इसके तहत प्रमंडल स्तर पर सम्मेलन किया जाएगा। केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महताे ने प्रमंडल स्तर पर जिम्मेदारी संभालने के लिए प्रभारी भी बनाए हैं। इसके तहत दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल की जिम्मेदारी देवशरण भगत, उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल की जिम्मेदारी सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी, पलामू प्रमंडल की जिम्मेदारी पूर्व विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता और कोल्हान प्रमंडल की जिम्मेदारी पूर्व मंत्री और पार्टी के प्रधान महासचिव रामचंद्र सहिस को दी गई है। 

चाईबासा नरसंहार की उच्च स्तरीय जांच कराई जाए
बैठक में पार्टी ने चाईबासा जिले के बुरुगुलीकेरा गांव में सात आदिवासियों की हुई हत्या की घटना की निंदा की। घटना की जांच के लिए पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल प्रभावित गांव का दौरा करेगा और पीड़ित परिवारों से मिलकर घटना की जानकारी लेगा। पार्टी ने इस घटना की उच्च स्तरीय जांच की भी मांग की है। साथ ही पीड़ित परिवारों को मुकम्मल मुआवजा देने पर जोर दिया है। 

जनता को बताएं खजाना कैसे खाली हुआ
भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और वित्त मंत्री राज्य को बताएं कि खजाना कैसे खाली हुआ है? सरकार बार-बार कह रही है कि खजाना लूट लिया गया है, तो हेमंत सोरेन को बताना चाहिए कि किसने लूटा है और कैसे लूट हुई है। राज्य को यह जानने का हक है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना