पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

राज्य के सभी सरकारी और निजी डॉक्टर आज हड़ताल पर, ओपीडी बंद

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रिम्स के ओपीडी काउंटर के बंद होने से मरीज काफी परेशान हुए।
  • रिम्स के आईएमए से जुड़े डाॅक्टराें ने भी हड़ताल पर रहने की घाेषणा की है
Advertisement
Advertisement

रांची. पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के साथ हुई हिंसा के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के आह्वान पर सोमवार को रिम्स समेत राज्य भर के निजी और सरकारी हॉस्पिटल में ओपीडी सेवाएं बाधित रही। डॉक्टरों ने ओपीडी सेवाओं का बहिष्कार किया। डॉक्टरों ने अपनी मांगों को लेकर धरना-प्रदर्शन किया। सिर्फ रिम्स में ही डॉक्टरों के कार्य बहिष्कार के कारण करीब 1400 मरीज बिना इलाज के लौट गए। इसी तरह रांची सदर अस्पताल में भी 500 मरीजों का इलाज नहीं हुअा। कई गंभीर मरीज रिम्स के बरामदे में ही लेटकर ओपीडी सेवा बहाल होने का इंतजार करते रहे। हालांकि रिम्स की इमरजेंसी सेवाएं चली और मरीजों का ऑपरेशन भी हुअा। ओपीडी सेवाएं अब मंगलवार को बहाल होंगी।

 

डॉक्टर्स रिम्स परिसर में आयोजित धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए
देशव्यापी इस हड़ताल में डॉक्टरों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। राजधानी रांची के डॉक्टर्स रिम्स परिसर में आयोजित धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए। इसमें अाईएमए, झासा, निजी नर्सिंग होम के साथ-साथ जूनियर डॉक्टरों भी शामिल हुए। डॉक्टरों ने अपने ऊपर लगातार हो रही हिंसा का विरोध किया और सरकार से इसे रोकने के लिए कड़ा कानून (मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट) लागू करने की मांग की। डॉक्टरों ने बंगाल सरकार की दमनकारी नीति के खिलाफ नारे लगाए और केंद्र एवं राज्य सरकारों से डॉक्टरों की सुरक्षा देने की मांग की। निजी हॉस्पिटल मेडिका, रानी हॉस्पिटल, अॉर्किड, सेंटेविटा, राज अस्पताल आदि में भी ओपीडी सेवाएं बाधित रही।

 

ये डॉक्टर्स प्रदर्शन में हुए शामिल
धरना-प्रदर्शन में आईएमए राज्य सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह, डॉ. अजय कुमार सिंह, डॉ. बिमलेश सिंह, रिम्स के डॉ. जेके मित्रा, डॉ. किरण, डॉ. अनंत सिन्हा, आईएमए महिला विंग की अध्यक्ष डॉ. भारती कश्यप, डॉ. संजय जयसवाल, डॉ. अजीत सहाय, डॉ. श्याम सिडाना, डॉ. दीपक गुप्ता, डॉ. संदीप अग्रवाल, डॉ. मनोज राय, डॉ. प्रभात कुमार, डॉ. एसएस चौधरी, डॉ. किरण, डॉ. आरके सिंह, जेडीए के डॉ. अजीत समेत सैकडों जूनियर डॉक्टर शामिल हुए।

 

डॉक्टरों ने पास किए रेज्यूलोशन
बैठक में डॉक्टरों की ओर से कई रेज्यूलोशन पास किए गए। इसमें कई बिंदुओं पर चर्चा की गई। डॉक्टरों ने कहा कि इन बिंदुओं के पालन से डॉक्टरों के खिलाफ हो रहे हिंसा को रोकने में मदद मिलेगी।

1. हॉस्पिटल को एयरपोर्ट की तरह ही प्रोटेक्टेड एरिया घोषित किया जाए।
2. डॉक्टर्स सेल्फ डिफेंस मैकेनिज्म डेवलप करें।
3. मीडिया रिपोर्ट में डॉक्टर्स का भी पक्ष शामिल किया जाए।
4. मेडिकल क्षेत्र के किसी भी रेग्यूलेटरी में आईएएस की जगह चिकित्सा सेवा से जुड़े लोग शामिल किए जाएं।
5. डॉक्टर्स एनजीओ के साथ फ्री चैरिटी न करें। कारण है वे डॉक्टरों साथ खड़े नहीं होते।
6. अस्पताल में मरीजों के अटेंडेंट की संख्या को कम किया जाए।
7. अस्पतालों में मानव संसाधन और आधारभूत संरचना का विकास हो।
8. अस्पतालों में सिक्योरिटी सिस्टम मजबूत किया जाए। सीसीटीवी आदि लगाए जाएं।
9. राज्य में मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट लागू हो
10. किसी भी कानूनी कार्रवाई के पूर्व सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन हो।


पूरी तरह बंद रहा रिम्स का ओपीडी, भटकते रहे मरीज
रिम्स प्रबंधन के दावों के विपरीत रिम्स का ओपीडी पूरी तरह बंद रहा। इससे पहले रिम्स निदेशक डॉ. दिनेश कुमार सिंह ने शनिवार को विभागाध्यक्षों और जेडीए के साथ बैठक की थी। बैठक के बाद दावा किया गया था कि ओपीडी सेवाएं चलेंगी। लंच के समय डॉक्टर्स धरना देंगे। हालांकि सुबह 9 बजे से ही ओपीडी बंद रहा। इलाज के लिए आए मरीज यहां-वहां भटकते रहे। इमरजेंसी में सिर्फ गंभीर मरीजों को ही देखा गया। पलामू से आए मरीज अपने बेटे को लेकर यहां-वहां भटकते रहे। उसका 10 वर्षीय बेटा गिरने के कारण घायल हो गया था। इसी तरह पिस्का मोड़ से सड़क दुर्घटना में घायल उमेश और दीपक इलाज के लिए घंटों बैठे रहे। इन दोनों के सिर में चोटी थी। रूटीन जांच के लिए आई गर्भवती महिलाएं भी भटकती रही। मीना देवी और संतोषी देवी की जांच नहीं हो सकी।

 

क्या कहते हैं डॉक्टर्स

सरकार डॉक्टरों के साथ मारपीट रोकें
मारपीट की इस घटना के विरोध में पूरे देश के डॉक्टर आंदोलन कर रहे हैं। झारखंड और रिम्स में भी आए दिन डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटनाएं होती हैं। सरकार को इसे रोकने के लिए कदम उठाना चाहिए। -डॉ. प्रदीप कुमार सिंह, राज्य सचिव आईएमए

 

डॉक्टरों की सुरक्षा की व्यवस्था सरकार करे
डॉक्टरों की सुरक्षा की व्यवस्था सरकार को करनी चाहिए ताकि वह भयमुक्त वातावरण में मरीजों की सेवा कर सके। झारखंड में मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट को बार-बार लटकाया जा रहा है। सरकार को इसे पास करना चाहिए। -डॉ. भारती कश्यप, अध्यक्ष, आईएमए (महिला विंग)

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप अपनी रोजमर्रा की व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय सुकून और मौजमस्ती के लिए भी निकालेंगे। मित्रों व रिश्तेदारों के साथ समय व्यतीत होगा। घर की साज-सज्जा संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत हो...

और पढ़ें

Advertisement