रांची

  • Home
  • Jharkhand News
  • Ranchi
  • News
  • Ranchi - जवाब : सरकार विचार कर रही है कैबिनेट से पास होने के बाद सेवा देंगे
--Advertisement--

जवाब : सरकार विचार कर रही है कैबिनेट से पास होने के बाद सेवा देंगे

-आयुष मंत्रालय के अधीन 431 पदों पर नियुक्ति की गई है। बचे पदों पर जल्द नियुक्ति होगी। आयुष डॉक्टरों को भी एलोपैथ...

Danik Bhaskar

Sep 12, 2018, 03:41 AM IST
-आयुष मंत्रालय के अधीन 431 पदों पर नियुक्ति की गई है। बचे पदों पर जल्द नियुक्ति होगी। आयुष डॉक्टरों को भी एलोपैथ डॉक्टरों के समकक्ष वेतन देने की बात केंद्र सरकार के समक्ष उठाई थी।

दैनिक भास्कर कार्यालय में आयोजित भास्कर खुला मंच में लोगाें ने पूछे सवाल

आयुष चिकित्सक की नियुक्ति ग्रेड पे, योगा पर सरकार क्या कर रही है- डॉ. अरविंद

3-4 महीने में नियुक्ति

रामगढ़ में ब्लड बैंक नहीं है, इमरजेंसी सेवाएं भी नहीं हैं- प्रिंस जॉन रामगढ़

रामगढ़ में बनेगा ब्लड बैंक

- रामगढ़ में अभी ब्लड स्टोरेज यूनिट है। जल्द ही यहां ब्लड बैंक संचालित किया जाएगा। इसके लिए बजट दे दिया गया है। जहां तक इमरजेंसी सेवाओं की बात है तो रामगढ़ सदर अस्पताल में इमरजेंसी कार्यरत है।

अस्पतालों में दवाएं नहीं हैं, फंड पड़ा है। सदर अस्पताल कब पूर्ण संचालित होगा- सत्येंद्र कुमार धुर्वा

सरकार प्रयास कर रही है

-अस्पतालों में दवाओं की कमी नहीं है। खरीद प्रक्रिया में पारदर्शिता हो, इसके लिए थोड़ा बिलंब हो रहा है। जहां तक रांची सदर अस्पताल की बात है तो यह संचालित है। 500 करोड़ रुपए और दिए गए हैं, ताकि रिम्स का लोड कम हो।

एमजीएम में 164 बच्चों की मौत पर सरकारी रिपोर्ट गलत, फिर से जांच कराएंगे क्या?- मनोज मिश्रा जमशेदपुर

लापरवाही हुई है तो कार्रवाई होगी

- एमजीएम में बच्चों की मौत पर लोकायुक्त और कोर्ट की क्या रिपोर्ट है, इसकी जानकारी नहीं है। अगर इस मामले में कोई लापरवाही हुई है तो कार्रवाई की जाएगी।

हजारीबाग में बन रहे मेडिकल काॅलेज सहित अन्य काॅलेज कब शुरू होंगे- -नीतेश कुमार चान्हो

अगले सत्र से शुरू होंगे

-हजारीबाग, पलामू व दुमका में बन रहे मेडिकल काॅलेज को इसी सत्र से शुरू करने की योजना थी। लेकिन, फैकल्टी की कमी पूरी नहीं होने से शुरू नहीं हो सका। अगले सत्र से ये काॅलेज शुरू हो जाएंगे।

सरकार झोलाछाप डॉक्टरों पर क्या कार्रवाई कर रही है -डॉ. पंकज

झोलाछाप डॉक्टरों पर सख्त

-झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई के लिए निर्देश दिए गए हैं। कई जिलों में झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई की गई है। उनके क्लिनिक सील कर एफआईआर दर्ज कराया गया है। सरकार ऐसे किसी भी झोलाछाप डॉक्टरों को नहीं छोड़ेगी।

रिम्स में मरीजों को बेड नहीं मिल रहा, व्यवस्था नहीं सुधर रही- मौली रांची

जल्द व्यवस्था सुधरेगी

-रिम्स में 1400 बेड है, लेकिन यहां बेड से ज्यादा मरीज भर्ती हंै। ऐसे में सबको बेड देना संभव नहीं है। यह सरकार का अस्पताल है, किसी को वापस नहीं लौटा सकते। आईएएस अधिकारी रात 10 बजे भी हॉस्पिटल पहुंचकर व्यवस्था सुधारने में लगे हैं।

रांची | स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी मंगलवार को दैनिक भास्कर कार्यालय में हुए भास्कर खुला मंच के आपकी सीधी बात सरकार के साथ में पहुंचे। राज्य के विभिन्न जिलों से लोग पहुंचे और स्वास्थ्य मंत्री से आमलोगों की स्वास्थ्य सुविधाओं से सवाल पूछे, जिसका स्वास्थ्य मंत्री ने जवाब दिया।

राज्य में कई मेडिसिनल प्लांट हैं, इनके संवर्धन की कोई योजना है- -सुशील तिवारी चंदवा

सुझाव पर पहल होगी

- मेडीसिनल प्लांट के संवर्धन का सुझाव अच्छा है। सरकार अवश्य पहल करेगी। स्टेट मेडीसनल प्लांट बोर्ड को काम करने का निर्देश दिया जाएगा। राज्य में खुलने वाले आयुर्वेदिक कालेजों से भी इस कार्य में मदद मिलेगी।

निजी डॉक्टरों की सेवा क्यों नहीं ले रही सरकार -बिपुल

नियम बनाने पर विचार हो रहा

-सरकार इसपर विचार कर रही है। लेकिन इससे पहले इस पर नियम बनाना जरूरी है, ताकि इस पर कोई विवाद नहीं हो। निजी डॉक्टर सरकारी अस्पतालों में सेवाएं दे सकेंगे।

मेरे गांव में अभी तक स्वास्थ्य केंद्र नहीं है, छह हजार आबादी है -मंटू बाबा रमकंडा गढ़वा

जल्द ही हेल्थ सब सेंटर देंगे

- गढ़वा जिले के रमकंडा चेटे पंचायत में जल्द ही हेल्थ सब सेंटर दिया जाएगा। इसके अलावा रमकंडा पीएचसी में भी डॉक्टरों को पोस्टिंग होगी, ताकि यहां की जनता को चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल सके।

अस्पताल बनकर तैयार है, मशीन खराब हो रही हैं?

पुराने को पहले चलाया जाएगा

-अब सरकार ने फैसला किया है कि कोई नया अस्पताल नहीं बनाया जाएगा। पहले उन अस्पतालों को संचालित किया जाएगा, जिनकी बिल्डिंग बनी हुई है। उपकरण की खरीद से पहले उसे चलाने के लिए तकनीशियन व पारा मेडिकलकर्मी उपलब्ध हों।

Click to listen..