वोटरलिस्ट / दूसरे शहर में तबादला होने पर फॉर्म-6 भरकर बूथ पर जमा करें, ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं



Answers to all the questions related to voter list and voter icard that arise in your mind
X
Answers to all the questions related to voter list and voter icard that arise in your mind

  • मतदाता सूची और वोटर आईकार्ड से संबंधित उन सारे सवालों के जवाब जो आपके जेहन में उठते हैं 

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 05:42 AM IST

रांची. रांची सहित राज्य भर में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर मतदाता सूची के पुनरीक्षण का काम चल रहा है। यह 17 सितंबर तक चलेगा। यदि मतदाता सूची में किसी भी व्यक्ति का नाम नहीं है तो अभी नाम जुड़वाने के साथ सुधार का माैका है। इसके लिए 1.1.2019 को 18 साल का होना अनिवार्य है। आवेदन ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से कर सकते हैं। भास्कर ने गुरुवार को पाठकों से मतदाता सूची व वाेटर आईकार्ड से संबंधित उलझनें पूछीं और इनका जवाब जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी बिपिन बिहारी से जाना।

 

सवाल: दूसरे राज्य या शहर का निवासी होने पर रांची में कैसे नाम जुड़वा सकता हूं?
जवाब: ऑफलाइन व ऑनलाइन फॉर्म 6 भरना होगा। इसके घोषणा कॉलम में पूरा ब्योरा देना होगा कि पूर्व में कहां के मतदाता थे। अगर एपिक नंबर है तो उसकी भी जानकारी देनी होगी। फॉर्म के साथ फोटो, जन्मतिथि का प्रमाण पत्र और निवास का प्रमाण पत्र देना होगा। इससे पुराने स्थान से नाम कटकर रांची में जुड़ जाएगा।


सवाल: ऑफलाइन और ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?
जवाब: ऑफलाइन आवेदन के लिए अपने नजदीकी बूथ के बीएलओ, बीडीओ, सीओ, एसडीओ या डीसी कार्यालय से फाॅर्म ले सकते हैं। जबकि, आॅनलाइन आवेदन राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल की वेबसाइट www.nvsp.in पर घर बैठे भी फॉर्म 6 भरने के साथ जरूरी दस्तावेज अटैच कर सकते हैं।


सवाल:नाम जुड़वाने के लिए कितना शुल्क देना पड़ता है?
जवाब: फॉर्म से लेकर नाम जुड़वाने और वोटर आईडी कार्ड बनाने के लिए किसी प्रकार का शुल्क नहीं लगता।


सवाल: एपिक नंबर क्या होता है, कहां से मिलेगा?
जवाब: एपिक नंबर का मतलब होता है इलेक्शन फोटो आईडी कार्ड। यह नंबर आपके वोटर कार्ड पर ही अंकित रहता है।


सवाल: मतदाता सूची से नाम कटाने के लिए क्या करें?
जवाब: मतदाता सूची से नाम हटाने के लिए फॉर्म 7 भरना होगा। जांच के बाद नाम हटाया जाता है। हालांकि, अभी यह प्रक्रिया बंद है।


सवाल: मतदाता पहचान पत्र में नाम, पता, जन्म तिथि या पता गलत हो तो सुधारने के लिए क्या करूं?
जवाब: फॉर्म 8 भरना होगा। सुधार से जुड़े दस्तावेज देने होंगे।


सवाल: एक ही विधानसभा के दूसरे बूथ में नाम जोड़ने के लिए क्या करूं?
जवाब: फॉर्म 8 ए भरना होगा। इसके साथ आवासीय पता बदलने से संबंधित दस्तावेज देना होगा। 


सवाल: मतदाता पहचान पत्र खो गया है, क्या करना होगा?
जवाब: नया कार्ड प्रज्ञा केंद्र में 25 रुपए शुल्क देकर निकलवा सकते हैं।


सवाल: पढ़ा-लिखा नहीं हूं, जन्म तिथि का प्रमाण नहीं दे सकता तो नाम कैसे जुड़ेगा?
जवाब: पढ़े-लिखे नहीं हैं और 18 साल से अधिक उम्र है तो माता-पिता लिखित घोषणा करेंगे की आवेदक की उम्र कितनी है। अगर माता-पिता नहीं हैं तो संबंधित पंचायत के मुखिया या निगम के पार्षद द्वारा दिया गया आयु प्रमाण पत्र भी मान्य होगा। वहीं, थर्ड जेंडर के मामले में उनके गुरु को घोषणा करनी होगी। 


सवाल: एक से अधिक जगह मतदाता सूची में नाम हो सकता है या नहीं?
जवाब: एक साथ दो अलग-अलग विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में नाम है, तो एक साल का कारावास और आर्थिक जुर्माना लग सकता है। क्योंकि लोक प्रतिनिधित्व अधिनिमय 1950 की धारा-31 के अनुसार यह दंडनीय अपराध है। 


सवाल: नाम जोड़ने के लिए किन दस्तावेज की जरूरत?
जवाब: एक फोटो, जन्मतिथि, निवास प्रमाणित करने वाले कागजात, माता या पिता का मतदाता पहचान पत्र की प्रति (यह अनिवार्य नहीं)। जन्मप्रमाण पत्र, पांचवीं, आठवीं या दसवीं का अंक पत्र, पासपोर्ट, पैनकार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या आधार कार्ड दे सकते हैं।

 

सवाल: नाम जोड़ने या सुधार के लिए क्या कैंप भी लगाया जाएगा?
जवाब: जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी बिपिन बिहारी ने कहा कि इसके लिए 15 सितंबर को कैंप लगेगा। सभी बीएलओ बूथ पर रहेंगे। वहां अपना मतदाता सूची देखकर नाम जोड़ने व सुधार के लिए फॉर्म भर सकते हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना