जैक / इंटर साइंस, कॉमर्स और मैट्रिक की कॉपियों की स्क्रूटनी के लिए 18 तक जमा करें आवेदन



applications for scrutiny of copies of inter science, commerce and matriculation Submit up to 18 June
X
applications for scrutiny of copies of inter science, commerce and matriculation Submit up to 18 June

  • इच्छुक स्टूडेंट्स प्रिंसिपल से अग्रसारित कराकर काउंसिल को भेजें आवेदन 
  • इंटर के विद्यार्थियों को हर विषय के लिए 500 रुपए का ड्राफ्ट लगेगा 

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 10:28 AM IST

रांची. झारखंड एकेडमिक काउंसिल साइंस व कॉमर्स स्ट्रीम और मैट्रिक परीक्षा परिणाम 2019 में मिले प्राप्तांक से असंतुष्ट हैं, तो विद्यार्थी स्क्रूटनी के लिए 18 जून तक आवेदन कर सकते हैं। जैक ने स्क्रूटनी के लिए आवेदन आमंत्रित किया है।
स्क्रूटनी के लिए विद्यार्थी को अपने स्कूल या कॉलेज में प्राचार्य से आवेदन अग्रसारित करवा कर जैक कार्यालय में जमा करना होगा। आवेदन के साथ प्रवेशपत्र, इंटरनेट से निकाले गए अंकपत्र की छायाप्रति संलग्न करना है। साथ ही इंटर के
विद्यार्थियों को प्रत्येक सैद्धांतिक विषय के लिए 500 रुपए का ड्राफ्ट तथा मैट्रिक के लिए 300 रुपए का ड्राफ्ट लगाना है।
 

मेडिकल-इंजीनियरिंग के लिए स्पेशल स्क्रूटनी 
जैक ने इंजीनियरिंग या मेडिकल संस्थानों में प्रवेश के लिए चयनित विद्यार्थियों की सुविधा को देखते हुए स्पेशल स्क्रूटनी की व्यवस्था की है। वैसे विद्यार्थी जिनका चयन ऐसे संस्थानों में प्रवेश के लिए हो गया है, लेकिन इंटर में मिले अंक से
असंतुष्ट हैं, वे 4 जून तक आवेदन कर सकते हैं। इन्हें प्रति विषय 1000 रुपए लगेंगे। 

 

कॉपियों की स्क्रूटनी में क्या होगा 

  •  स्क्रूटनी के तहत मूल्यांकन हुए प्रश्नों का पुनर्मूल्यांकन नहीं किया जाएगा। 
  •  अंदर के पृष्ठ पर आवंटित अंक यदि मुख्य पृष्ठ पर अंकित नहीं हों, तब उसे मुख्य पृष्ठ पर अंकित करते हुए योग में सुधार किया जाएगा। 
  •  प्रश्नोतर बिना मूल्यांकन का रह गया है, तो होगा। 

त्रुटि सुधार के लिए 18 तक जमा करें आवेदन
इंटर व मैट्रिक के स्टूडेंट्स, जिनके अंकपत्रक में किसी प्रकार की त्रुटि जैसे इनवेलिड, इनकंप्लीट, अब्सेंट हो, तो आवेदन को प्राचार्य से हस्ताक्षर करवाकर जैक कार्यालय में 18 जून तक जमा करना है। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लगेगा। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना