बयान / सोनभद्र की घटना पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने जताया दुख, कहा- मर्माहत हूं...



अर्जुन मुंडा। (फाइल फोटो) अर्जुन मुंडा। (फाइल फोटो)
X
अर्जुन मुंडा। (फाइल फोटो)अर्जुन मुंडा। (फाइल फोटो)

  • कहा- उम्मीद है राज्य सरकार मामले की निष्पक्ष जांच कराएगी और दोषियों को सजा दिलाएगी

Dainik Bhaskar

Jul 20, 2019, 12:53 PM IST

रांची/नई दिल्ली. जनजातीय मामलों के केंद्रीय मंत्री और झारखंड के खूंटी से भाजपा सांसद अर्जुन मुंडा ने सोनभद्र की घटना पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि ये काफी दुखद घटना है। घटना में 10 आदिवासियों की मौत हो गई है जबकि 27 लोग घायल हो गए हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार कार्रवाई कर रही है। मुझे उम्मीद है कि इस मामले में राज्य सरकार निष्पक्ष जांच कराएगी और दोषियों को सजा दिलाएगी। इस संबंध में केंद्रीय मंत्री ने एक ट्वीट भी किया था।

 

 

सोनभद्र में बुधवार को जमीनी विवाद में हुआ था खूनी संघर्ष 
उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में बुधवार को जमीनी विवाद में तीन महिलाओं समेत 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी। घोरावल इलाके के उम्भा गांव में हुई इस घटना में 27 लोग घायल हुए थे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीजीपी ओपी सिंह को मामले पर नजर बनाए रखने का निर्देश दिया था। उधर, डीजीपी सिंह ने बताया था कि ग्राम प्रधान यज्ञवत घुर्तिया ने दो साल पहले उम्भा गांव में 90 बीघा जमीन खरीदी थी। बुधवार सुबह प्रधान घुर्तिया जमीन पर कब्जा करने के लिए कई लोगों को ट्रैक्टर ट्राली से लेकर गांव पहुंचा था। प्रधान ने ट्रैक्टर से जुताई शुरू की तो ग्रामीणों ने इसका विरोध किया। इसी दौरान प्रधान पक्ष के लोगों ने धारदार हथियारों से ग्रामीणों पर हमला कर दिया। कुछ लोगों ने फायरिंग भी की। इसमें 10 लोगों की मौत हुई। मृतकों में तीन महिलाएं भी शामिल थीं। घायलों को रॉबर्ट्सगंज जिला अस्पताल और पीएचसी घोरावल में भर्ती करवाया गया था। 

 

अब तक 29 लोगों की हुई गिरफ्तारी
इस मामले मे कुल 29 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं, जिसमें एक आरोपी ग्राम प्रधान भी है। वाराणसी जोन एडीजी को जांची सौंपी गई है। दस दिन में रिपोर्ट मांगी गई है। इस मामले में लापरवाही के चलते सीओ, एसडीएम, इंस्पेक्टर व बीट के दरोगा व सिपाही को सस्पेंड किया गया है। 

 

जनजाति आयोग का दल 22 को जाएगा सोनभद्र के उम्भा गांव
राष्ट्रीय जनजाति आयोग का एक दल 10 आदिवासियों के मारे जाने तथा कई के घायलों होने की मामले की जांच के लिए 22 जुलाई को घटनास्थल का दौरा करेगा। केंद्रीय जनजातीय मंत्रालय ने बताया कि आयोग ने संज्ञान लेते इस जिले के उम्भा गांव का दौरा करने का फैसला किया गया है। दल में आयोग के अध्यक्ष नंद कुमार साईं, आयोग की सदस्य माया चिंतामन इवाते, संयुक्त सचिव एस के राठो और सहायक निदेशक आर के दुबे शामिल होंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना