सियासत / 30 जून तक महागठबंधन के दलों के बीच विस सीटों का बंटवारा: हेमंत सोरेन



झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन। (फाइल) झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन। (फाइल)
X
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन। (फाइल)झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन। (फाइल)

  • झामुमो केंद्रीय कार्यकारिणी समिति की बैठक के बाद बोले सोरेन-सबसे अधिक सीट पर चुनाव लड़ेगा झामुमो

Dainik Bhaskar

Jun 03, 2019, 07:47 PM IST

रांची. पार्टी कार्यकर्ताओं-नेताओं द्वारा गठबंधन के तहत विधानसभा चुनाव लड़ने और न लड़ने के दिए गए सुझावों के बीच झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा है कि पार्टी गठबंधन के तहत विधानसभा चुनाव लड़ेगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि 30 जून तक महागठबंधन के दलों के बीच लोकसभा चुनाव के पूर्व तय हुए फार्मूले के तहत सीटों का बंटवारा हो जाएगा। झामुमो सबसे अधिक सीटों पर बड़े भाई की भूमिका में विधानसभा चुनाव लड़ेगा। झामुमो समान विचारधारावाली पार्टियों व वामदलों को साथ लेकर चलने का हिमायती रहेगा। हेमंत सोरेन झामुमो की केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। इस अवसर पर सांसद विजय कुमार हांसदा और पूर्व विधायक अमित कुमार महतो भी उपस्थित थे।

 

प्रवासी रघुवर भगाओ-झारखंड बचाओ का झामुमो ने दिया नारा
हेमंत सोरेन ने कहा कि झामुमो प्रवासी रघुवर भगाओ, झारखंड बचाओ के नारे के साथ जनता के बीच जाएगा। पार्टी ने प्रवासी को प्रवास का रास्ता दिखाने का निर्णय लिया है। क्योंकि रघुवर दास सरकार के साढ़े चार साल में जल संकट को लेकर भयावह स्थिति है। लोगों के बीच रंजिश बढ़ने और खून खराबे की स्थिति पैदा हो सकती है। तालाबों का वजूद मिटा दिया गया है। एक और तालाब पर माफियाओं की नजर है, इस तरह की बाते मीडिया में अाई है। बिजली की स्थिति और भी भयावह है। 24 घंटे बिजली देने के वादों की सच्चाई यह है कि 24 फीसदी भी सरकार को सफलता नहीं मिली है। नक्सली अातंक पर लगाम लगाये जाने के सीएम के बयान पर उन्होंने कहा कि यही तो राज्य के मुखिया का बड़बोलापन है। वास्तविकता से उन्हें कोई लेना-देना नहीं है। जैसे ही वह कुछ बोलते हैं राज्य में कोई न कोई घटना हो जाती है। अब उनके मुंह में क्या वास करता है, यह वही समझ सकते हैंं।

 

गठबंधन के तहत विस चुनाव लड़ने पर कार्यकर्ताओं में अंतरर्विरोध
गठबंधन के तहत विधानसभा चुनाव लड़ने के मुद्दे पर पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी मतांतर रहा। कार्यकारिणी की बैठक के बाद विधायक पॉलुस सुरीन ने कहा कि कांग्रेस के साथ मिल कर चुनाव लड़ना चाहिए। वहीं, पार्टी प्रवक्ता अभिषेक प्रसाद पिंटू ने बताया कि अधिकतर कार्यकर्तांओं की भावना है कि झामुमो को अकेले चुनाव लड़ना चाहिए। कार्यकर्ताओं के अलग-अलग विचार पर हेमंत सोरेन ने कहा कि उन्हें अपनी भावना व्यक्त करने का अधिकार है। पार्टी को भी उनकी भावना को सुनना चाहिए। भावना अानी भी चाहिए। फिर यह पूछने पर कि प्रदेश कांग्रेस और झाविमो में खुद कोहराम मचा है, उस स्थिति में झामुमो किससे बात करेगा। हेमंत सोरेन ने कहा कि दल तो है। उनके घर के भीतर क्या हो रहा है, इससे झामुमो को कोई लेना देना नहीं है।

 

15-16 को दुमका में केंद्रीय समिति की बैठक
15-16 जून को दुमका में झामुमो केंद्रीय समिति की बैठक होगी। इसमें राज्यभर से पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ता शामिल होंगे। बैठक में विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनाई जाएगी। संथाल में पार्टी के कमजोर होते गढ़ को दुरुस्त करने पर भी विचार किया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना