--Advertisement--

घटना / हजारीबाग में एटीएम काटकर 34 लाख 16 हजार ले गए अपराधी



घटना की जानकारी मिलने पर एपीएस के को-ऑर्डिनेटर बंशराज प्रजापति घटना स्थल पर पहुंचकर क्षति का जायजा लिया। घटना की जानकारी मिलने पर एपीएस के को-ऑर्डिनेटर बंशराज प्रजापति घटना स्थल पर पहुंचकर क्षति का जायजा लिया।
X
घटना की जानकारी मिलने पर एपीएस के को-ऑर्डिनेटर बंशराज प्रजापति घटना स्थल पर पहुंचकर क्षति का जायजा लिया।घटना की जानकारी मिलने पर एपीएस के को-ऑर्डिनेटर बंशराज प्रजापति घटना स्थल पर पहुंचकर क्षति का जायजा लिया।

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 07:41 PM IST

हजारीबाग. शहर के ईचाक मोड़ पर स्थित एसबीआई के एटीएम को गैस कटर से काटकर उसमें रखे 34 लाख 16 हजार रुपए लेकर अपराधी फरार हो गए। यह घटना शुक्रवार-शनिवार की रात 2.34 बजे से 3.25 बजे के बीच की है। यह एटीएम हजारीबाग जिला मुख्यालय से 10 किमी और ईचाक थाने से तीन किमी दूर एनएच 33 पर स्थित है।

सफाई कर्मी ने बताया

  1. घटना की जानकारी तब हुई जब सफाई कर्मी राकेश कुमार शनिवार सुबह 9.45 बजे एटीएम को खोलने पहुंचा। उसने बताया कि बाहर से लगा एटीएम रूम का ताला हुक से अलग था। फिर उसने घटना की जानकारी वरीय प्रबंधक रोहित कुमार को दी। वरीय प्रबंधक ने घटना की सूचना ईचाक थाना में देने को कहा जिसके बाद गश्ती कर रहे पीसीआर दल के साथ एएसआई अनिल राम घटना स्थल पहुंचे और घटना की जानकारी ली। पुलिस के पहुंचने पर एटीएम का शटर खोला। चोरों ने गैस कटर से एटीएम को काट कर घटना को अंजाम दिया। 

  2. पांच मिनट में घटना को दिया अंजाम

    सीसीटीवी कैमरा में कैद तस्वीर के अनुसार दो चोर अंदर घुस कर 5 मिनट में घटना को अंजाम दिया। जबकि चोरों का एक साथी बाहर मुबारक मियां के घर के पास पुलिस गश्ती वाहन की गतिविधि पर नजर जमाए था। रुपए को दो बोरी में भरा गया।
     

  3. सुरक्षा गार्ड रखने की जिम्मेदारी एसआईएस एनसीआर एजेंसी की

    घटना की जानकारी मिलने पर एपीएस के को-ऑर्डिनेटर बंशराज प्रजापति घटना स्थल पर पहुंचकर क्षति का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि एसबीआई स्विच रिकॉर्ड के अनुसार एटीएम में 34 लाख 16 हजार की रकम थी। उधर, बीआरडी के चैनल मैनेजर अखिलेश प्रसाद और राकेश प्रसाद ने भी बैंक पहुंचकर नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि एटीएम में पैसों को रखने की जिम्मेदारी एसआईएस एनसीआर की है। बैंक प्रबंधन स्थान, बिजली और कनेक्टिविटी सप्लाई करती है। एटीएम में रात्रि प्रहरी नहीं रहने के सवाल पर कहा कि इसकी जिम्मेवारी एसआईएस एनसीआर एजेंसी की है जबकि एपीएस इसका मॉनिटरिंग का काम करता है। 

  4. एटीएम में लगे शटर का लॉक था खराब

    आस-पास के लोगों ने बताया कि एटीएम जब से लगा है तब से कई बार विभिन्न तरह की घटनाएं घट चुकी है। परंतु बैंक के अधिकारियों ने कभी भी उचित कदम नहीं उठाया। इतनी मोटी रकम की सुरक्षा के लिए एटीएम के शटर का लॉक खराब था, उपर से एक ताला लगा कर छोड़ दिया गया था। 

  5. पुलिस का है कहना

    थाना प्रभारी अकील अहमद ने बताया कि सीसीटीवी में कैद अपराधियों की तस्वीरों पर काम किया जा रहा है। एसपी मयूर पटेल ने कहा कि फॉरेंसिक एवीडेंस कलेक्ट कर उसकी जांच की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है। हर पहलू पर जांच की जा रही है। फुटेज में कुछ चेहरे आए हैं, उनकी पहचान की कार्रवाई जारी है। घटना के पूर्व से लेकर अब तक के लोकल एक्टिविटी को खंगाला जा रहा है।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..