आयुष्मान भारत के मरीज बाहर से खरीद कर ला रहे हैं दवाइयां

Ranchi News - रांची | विश्व की सबसे बड़ी हेल्थ बीमा योजना ‘अायुष्मान भारत’ (पीएम जय) का हाल राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में ही...

Bhaskar News Network

Jun 15, 2019, 06:05 AM IST
Ranchi News - ayushman patients from india are buying from abroad
रांची | विश्व की सबसे बड़ी हेल्थ बीमा योजना ‘अायुष्मान भारत’ (पीएम जय) का हाल राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में ही बुरा है। हालत यह है कि आयुष्मान भारत के मरीज दवा के इंतजार में दम तोड़ रहे हैं। अब जान बचाने के लिए आयुष्मान भारत के मरीज बाहर से दवा खरीद रहे हैं। रिम्स के न्यूरो वार्ड में भरती आयुष्मान भारत के मरीज बाहर से दवा खरीद कर ले अाए। पांच लाख के मुफ्त इलाज की जगह मरीज हर हफ्ते 600 रुपए की दवा खरीद कर ला रहे हैं। कई मरीजों का अॉपरेशन इसलिए नहीं हो रहा है। भास्कर संवाददाता पवन कुमार की रिपोर्ट-

4 केस से जानिए... परिजन बोले- दवा के बिना मरीज को मरने के लिए कैसे छोड़ दें

केस-1 : ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित बिंदू देवी हर सप्ताह खरीद रहीं 700 रुपए की दवा

रिम्स के न्यूरो विभागाध्यक्ष डॉ. अनिल कुमार की यूनिट में भरती बिंदु देवी ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित हैं। 15 मई से वह रिम्स में भरती हैं। उनका ऑपरेशन किया जाना है, लेकिन अभी तक ऑपरेशन नहीं हुआ। आयुष्मान कार्ड धारी बिंदु देवी के पति बिनोद कुशवाहा ने बताया कि रिम्स से कोई दवा नहीं मिल रही है। हर सप्ताह 700 रुपए की दवा बाहर से खरीद कर लानी पड़ रही है। बिनोद ने कहा कि वे दवा के कारण अपनी प|ी को मरता हुआ नहीं छोड़ सकते।

केस-3 :आयुष्मान भारत कार्ड होने के बाद भी ब्रेन ट्यूमर के ऑपरेशन में खर्च एक लाख

न्यूरो वार्ड में भरती रूपा उरांव के ब्रेन ट्यूमर का ऑपरेशन रिम्स में किया गया। ऑपरेशन के बाद दवाएं बाहर से खरीदनी पड़ रही हैं। अबतक एक लाख रुपए खर्च हो चुके हैं। रिम्स से केवल स्लाइन ही उपलब्ध कराया जा रहा है। अब मरीज की जान बचाने के लिए परिजन बाहर से दवा खरीद कर ला रहे हैं।

केस-2 : डॉक्टर बोले-20 दिन बाद ऑपरेशन होगा, तब तक खुद से दवा खरीद कर खाइए

आयुष्मान भारत योजना के तहत रिम्स के न्यूरो वार्ड में ही भरती चतरा निवासी चंद्र साहू (55वर्ष) की रीढ़ की हड्डी का अॉपरेशन होना है। अभी ऑपरेशन का सामान नहीं अाया। तब तक उन्हें दवा खरीदकर खाने को कहा गया है। कार्ड होने के बाद भी हर दिन वह दवा बाजार से खरीद कर ला रहे हैं। डॉक्टरों ने कहा है कि आयुष्मान भारत के तहत दवा मिलने में देरी होगी, तब तक बाजार से दवा खरीद कर खाओ।

केस-4 : कंप्लीट हार्ड ब्लॉकेज का मरीज, चार दिन से पेसमेकर का कर रहे इंतजार

कार्डियोलॉजी विभाग में भरती अर्जुन पांडेय और जानकी देवी को 11 जून को भरती किया गया है। आयुष्मान भारत के इन दोनों मरीजों का कंप्लीट हार्ट ब्लॉकेज है। इनको पेसमेकर और स्टेंट लगाया जाना है। लेकिन तीन बाद भी अभी तक पेसमेकर नहीं अाया। मरीज की स्थिति कभी भी खराब हो सकती है, लेकिन रिम्स प्रबंधन को इसका ध्यान नहीं है।

X
Ranchi News - ayushman patients from india are buying from abroad
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना