झारखंड / बाबूलाल मरांडी के आने से भाजपा को राज्यसभा में एक सीट मिलने की राह आसान

बाबूलाल मरांडी। (फाइल) बाबूलाल मरांडी। (फाइल)
X
बाबूलाल मरांडी। (फाइल)बाबूलाल मरांडी। (फाइल)

  • 9 अप्रैल को राज्यसभा में झारखंड से 2 सीटें खाली हो रहीं
  • संजीव कुमार को फिर राज्यसभा भेज सकता है झामुमो

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 11:36 AM IST

रांची. मार्च में संभावित राज्यसभा चुनाव की 2 सीटों में से भाजपा के लिए एक सीट जीतने की राह आसान हो गई है। बाबूलाल मरांडी के भाजपा में आने से यह संभावनाएं बनी हैं। वर्ष 2014 में निर्विरोध जीते राजद के प्रेमचंद गुप्ता और निर्दलीय परिमल नथवाणी भले ही इस बार झारखंड से राज्यसभा में न जाएं, पर इस बार भी यह चुनाव निर्विरोध ही होने की उम्मीद है। जहां भाजपा की एक सीट तय मानी जाने लगी है। वहीं, जेएमएम का पूर्व से ही एक सीट पक्की है। जेएमएम प्रमुख शिबू सोरेन काे सीबीआई कोर्ट से राहत दिलाने वाले सुप्रीम कोर्ट के वरीय अधिवक्ता और पूर्व सांसद संजीव कुमार को झामुमो फिर से राज्यसभा भेज सकता है।

जीत के लिए एक प्रत्याशी को 28 विधायकों का समर्थन जरूरी
भाजपा में अभी असमंजस की स्थिति है। स्थानीय नेताओं पर दांव खेला जाए या बाहरी को टिकट दिया जाए। 9 अप्रैल को राज्यसभा में झारखंड से दो सीटें खाली हो रही हैं। चुनाव में जीत के लिए एक उम्मीदवार को कम से कम 28 विधायकों के समर्थन की आवश्यकता होगी। झामुमो के पास 30 विधायक हैं। बाबूलाल मरांडी के भाजपा में शामिल होने के बाद इस पार्टी की सदस्य संख्या 26 हो जाएगी। आजसू के दो विधायकों को मिला लें तो भाजपा समर्थक विधायकों की संख्या 28 हो जाती है। वैसे भाजपा का दावा है कि दो निर्दलीय विधायक भी उनके संपर्क में हैं। इन्हें मिला लें तो भाजपा 30 तक पहुंच जाती है। इस प्रकार जेएमएम-भाजपा अपने-अपने उम्मीदवारों को राज्यसभा भेज सकते हैं।

2008 में सांसद बने थे संजीव कुमार
सुप्रीम कोर्ट के वरीय अधिवक्ता संजीव कुमार वर्ष 2008 में पहली बार झामुमो की ओर से राज्यसभा सदस्य बने थे। गुरुजी के करीबी संजीव कुमार दिल्ली में झामुमो का चेहरा माने जाते हैं। शशिनाथ झा हत्याकांड से लेकर सांसद घूस कांड के आरोपी रहे गुरुजी के सभी केस में वह वकील रहे हैं। ऐसी संभावना है कि उन्हें इस बार इसका पुरस्कार मिलेगा।

भाजपा मार्च में तय करेगी उम्मीदवार
भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व मार्च में उम्मीदवार तय करेगा। पार्टी नेता फिलहाल प्रदेश अध्यक्ष, विधायक दल के नेता, जिला और मंडल अध्यक्षों के मनोनयन में व्यस्त हैं। 17 को रांची आ रहे भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इस बारे में प्रदेश नेतृत्व से बात कर सकते हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना