रांची / यह कैसी सरकार, जिसके बनते ही देशद्रोहियों के मुकदमे हुए वापस, आदिवासियों का हुआ नरसंहार : अरुण सिंह

प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह। प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह।
X
प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह।प्रेसवार्ता के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह।

  • प्रेस वार्ता में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने राज्य सरकार और कांग्रेस की मंशा पर उठाए सवाल 
  • कहा- सीएए के विरोध में जुलूस पर हमला नहीं, पर समर्थन वाले जुलूस पर होता है पथराव, तबरेज पर हंगामा और आदिवासियों के नरसंहार पर सोनिया, राहुल, गुलाम नबी आजाद चुप 

दैनिक भास्कर

Jan 24, 2020, 07:24 PM IST

रांची. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने शुक्रवार को राज्य सरकार और कांग्रेस पर हमला बोला। उनकी मंशा पर सवाल खड़े करते हुए कई तीखे सवाल दागे। प्रदेश भाजपा कार्यालय में हुई प्रेस वार्ता में अरुण ने पूछा, यह कैसी सरकार है, जिसके बनते ही देशद्रोहियों पर हुए मुकदमे वापस होते हैं, फिर आदिवासियों का नरसंहार होता है। सीएए के विरोध में जुलूस शांतिपूर्ण गुजरता है, पर इसके समर्थन वाले जुलूस पर हमले हाेते हैं। तबरेज अंसारी की हत्या पर कांग्रेस के नेता हंगामा करते हैं, पर आदिवासियों के नरसंहार और लोहरदगा की हिंसक घटना पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और गुलाम नबी आजाद चुप रहते हैं। 

उन्होंने कहा कि बुरुगुलीकेरा नरसंहार देश की ऐसी पहली घटना है, जहां पिता के सामने पुत्र और पत्नी के सामने उसका पति मारा गया। उनके सिर को धड़ से अलग कर फेंक दिया गया। लोग त्राहिमाम कर रहे हैं, जबकि सरकार के मुखिया दिल्ली दरबार का चक्कर लगा रहे हैं। गिरिडीह और लोहरदगा में सीएए समर्थकों को पीटा जाता है। उनके घरों और गाड़ियांे को फूंका जाता है। प्रदेश में जंगल राज्य की शुरुआत हो गई है। अरुण सिंह ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि लोहरदगा में कांग्रेस कार्यालय से सीएए समर्थकों पर पथराव किया गया, इससे स्पष्ट है कि कांग्रेस एक विशेष समुदाय को खुश करने के लिए ही राजनीति करती है। उन्होंने कहा कि सरकार गठन के एक माह के अंदर ही कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। कांग्रेस, झामुमो और राजद के तुष्टिकरण की राजनीति से लोग भयभीत हैं। अरुण सिंह ने कहा कि इन सभी विषयों पर भाजपा चुप रहनेवाली नहीं। प्रेस वार्ता में प्रदेश महामंत्री सुनील सिंह भी मौजूद थे। 

कांग्रेस के दबाव में नहीं हो रहा मंत्रिमंडल का विस्तार
अरुण सिंह ने कहा कि कांग्रेस के दबाव में हेमंत सरकार अपने मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं कर पा रहे हैं। कांग्रेस का पुराना इतिहास रहा है कि वह समर्थन के बदले पूरा दाम वसूलती है। अब हेमंत सोरेन को इस चरित्र का एहसास हो रहा होगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना