Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» 11 Billion To 71 Crores Will Be The Development Of The City

११ अरब ७१ करोड़ रुपए से होगा शहर का विकास, निगम स्टैंडिंग ने संशोधन के साथ बजट किया पास

११ अरब ७१ करोड़ रुपए से होगा शहर का विकास, निगम स्टैंडिंग ने संशोधन के साथ बजट किया पास

Santosh Choudhry | Last Modified - Feb 12, 2018, 04:42 PM IST

रांची। राजधानी के विकास का सपना इस बार 1171 करोड़ रुपए से साकार होगा। सोमवार को निगम सभाकक्ष में हुए निगम स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में कुछ संशोधन के साथ बजट पास हो गया। अब संशोधित बजट को निगम बोर्ड की बैठक में रखा जाएगा। बोर्ड से बजट पास होने के बाद सरकार की स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा। इस बार के बजट में जलापूर्ति, बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर, पार्क के डेवलपमेंट पर जोर दिया गया है।

-बैठक में मेयर आशा लकड़ा, डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय, नगर आयुक्त डा. शांतनु अग्रहरि सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

-निगम के राजस्व और सरकार से मिलने वाले फंड को जोड़कर बजट बना है। इसमें नगर निगम को अपने स्त्रोत से कुल 145 करोड़ रुपए का राजस्व मिलेगा।
-इसके मुकाबले 123 करोड़ रुपए खर्च होगा। यानी कुल 21.48 करोड़ रुपए का सरप्लस बजट होगा। नगर निगम ने पिछले वर्ष की तुलना में इस बार अपने स्त्रोत से मिलने वाला राजस्व बढ़ाया है।
-वित्तीय वर्ष 2017-18 में निगम का अपने स्त्रोत से कुल राजस्व 117 करोड़ और व्यय 87 करोड़ रुपए था। कुल 27 करोड़ का सरप्लस बजट था। बजट में सरकार से मिलने वाली राशि में भी बढ़ोतरी की गई है।

कहां कितने हाेंगे खर्च
-10.60 करोड़ रुपए का प्रावधान शहर के सभी वार्ड के विकास के लिए किया गया है। वार्ड में जरूरी कार्य इस फंड से कराए जाएंगे।
-112 करोड़ रुपए की लागत से सड़क बनाई जाएगी। विभिन्न वार्डों में रोड चकाचक होगी। 55.55 करोड़ की लागत से विभिन्न मुहल्लों में नाली का निर्माण होगा।
-116 करोड़ रुपए 14 वें वित्त आयोग से मिलने वाले फंड से खर्च होगा। पार्क-तालाब का निर्माण होगा। 22 करोड़ रुपए फेरीवाला के विकास और वेंडिंग जोन बनाने पर खर्च होगा।
-2.44 करोड़ रुपए वार्ड कार्यालय बनाने और फर्नीचर खरीदने पर खर्च होगा। 30.78 करोड़ रुपए सार्वजनिक शौचालय और व्यक्तिगत शौचालय बनाने पर खर्च होगा।
-2 करोड़ रुपए मच्छर मारने के लिए माउंटेड फॉगिंग मशीन खरीदने पर खर्च होंगे।

फोटो: संतोष चौधरी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×