रांची

--Advertisement--

बैंक लूट बाद अब पेट्रोल पंप लूटने की थी तैयारी, लूट की योजना बनाते ५ गिरफ्तार

बैंक लूट बाद अब पेट्रोल पंप लूटने की थी तैयारी, लूट की योजना बनाते ५ गिरफ्तार

Danik Bhaskar

Dec 27, 2017, 07:20 PM IST
गिरफ्तार अपराधियों के साथ प्र गिरफ्तार अपराधियों के साथ प्र

चाईबासा (झारखंड)। मुफ्फसिल थानांतर्गत गौशाला के पीछे स्थित टुंगरी के झाड़ीनुमा स्थान पर पेट्रोल पंप लूटने की योजना बना रहे पांच अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया, जबकि दो अपराधी भागने में सफल रहे। गिरफ्तार अपराध कर्मियों में सरायकेला के सीनी ओपी अंतर्गत जानकीपुर गांव के गणेश मांझी, महादेवपुर गांव के बाबूलाल हेंब्रम, सिमलबेड़ा गांव के दुखुराम मांझी, महादेवपुर गांव के ग्वाला सिंह उर्फ बांकिरा उर्फ मरान सिंह बांकिरा व मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के खप्परसाई निवासी जुरिया देवगम उर्फ नाना शामिल हैं। ये हुई बरामदगी...

- इनके पास से दो देशी कट्‌टा, सात जिंदा गोलियां, दो चाकू, 5 मोबाइल, एक तलवार, तीन बाइक, शराब की दो खाली बोतलें व प्लास्टिक के 12 ग्लास बरामद किए गए हैं। इसके अलावा 49 हजार रुपए भी बरामद किए गए हैं।

बरामद 49 हजार रुपए बैंक लूट के

- बरामद रुपए टुंगरी के उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंशियल बैंक से लूटे गए थे। पुलिस के अनुसार, इन अपराधियों ने 30 नवंबर को उक्त बैंक से 3.61 हजार रुपए लूट लिए थे।

- अपराधी बैंक लूट के ज्यादातर पैसे खर्च चुके थे। इस आशय की जानकारी पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता ने बुधवार को अपने कार्यालय में पत्रकारों को दी।

डीएसपी के नेतृत्व में बनी थी टीम

- इन अपराधकर्मियों की गिरफ्तारी गुप्त सूचना के आधार पर की गई है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि पांचों युवक गौशाला के पास इकट्‌ठा होकर पेट्रोल पंप लूटने की योजना बना रहे हैं।

- लिहाजा, मुख्यालय डीएसपी प्रकाश सोय के नेतृत्व में चार थानों की टीम तैयार की गई। इनमें सदर व मुफ्फसिल थाना के अलावा तांतनगर व पांड्राशाली ओपी के प्रभारियों व सशस्त्रबल के जवानों को शामिल किया गया था।

चिटीमिटी का रहने वाला है मुख्य आरोपी

- एसपी ने बताया कि बैंक लूट की घटना का मुख्य आरोपी मंझारी थाना क्षेत्र के चिटीमिटी गांव निवासी सनपातन संवैया व कुर्सी गांव निवासी सुकरा तिर्की फरार हैं।

- दोनों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। जल्दी ही दोनों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

जुरिया ने की थी बैंक की रेकी

- एसपी ने बताया कि बैंक लूट की घटना को अंजाम देने से पूर्व बैंक की रेकी भी की गयी थी। बैंक की रेकी करने की जिम्मेदारी 18 वर्षीय जुरिया देवगम उर्फ नाना को सौंपी गयी थी।

- अपराधकर्मियों ने रेकी कर यह पता लगा लिया था कि बैंक में महिला समूहों द्वारा पैसे किए जमा किए जाते हैं।

ग्वाला सिंह व सनातन पहले भी जा चुके हैं जेल

- एसपी ने बताया कि गिरफ्तार सिनी ओपी के महादेवपुर गांव निवासी ग्वाला सिंह बांकिरा उर्फ मारन सिंह बांकिरा व सनातन संवैया पहले भी आपराधिक घटनाओं में जेल जा चुका है।

- दोनों का आपराधिक इतिहास रहा है। ग्वाला सिंह बांकिरा बैंक लूट के इस गैंग का सीनियर सदस्य है।

उलीझारी में किया गया था लूट के पैसे का बंटवारा

- उन्होंने बताया कि गिरफ्तारी के बाद पांचों आरोपियों ने बैंक लूट की घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकारी है। बैंक लूट की घटना को गैंग के सभी छह सदस्यों ने जाम दिया था।

- बैंक लूटने के बाद सभी अपराधकर्मी डिलियामिर्चा होते हुए उलीझारी चले गए थे। वहां पर तत्काल सब ने 20-20 हजार रुपए बांट लिए। रेकी करने वाले जुरिया देवगम को सिर्फ 10 हजार रुपए दिए गए।

बैंक कर्मियों से लूटे 4 मोबाइल बरामद

- उन्होंने बताया कि बैंक लूट के क्रम में इन अपराध कर्मियों ने बैंककर्मियों से चार मोबाइल भी लूट लिए थे। लूटे गए चारों मोबाइल भी इन अपराधकर्मियों के पास से बरामद कर लिया गया है।

फोटो : नितिन चौधरी।

Click to listen..