--Advertisement--

मुख्यमंत्री के निदेश पर हुआ दिव्यांग बच्ची जितिशा का नामांकन, स्कूल प्रबंधन कर रहा था भेदभाव

मुख्यमंत्री के निदेश पर हुआ दिव्यांग बच्ची जितिशा का नामांकन, स्कूल प्रबंधन कर रहा था भेदभाव

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 05:20 PM IST

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जितिशा खेतान का नामांकन स्कूल में होने पर शनिवार को प्रसन्नता व्यक्त की तथा राज्य के सभी स्कूल प्रबंधन को सख्त हिदायत दी है कि वे बच्चों में किसी प्रकार का भेदभाव न करें। यदि कहीं से भी ऐसी कोई सूचना प्राप्त होती है तो दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

- ज्ञात हो कि धनबाद जिले के एक निजी स्कूल प्रबंधन द्वारा एक दिव्यांग बच्चे के परिजनों के साथ नामांकन को लेकर अपेक्षित व्यवहार ना करने का मामला अखबार के माध्यम से सामने आया था।

- मामले की शिकायत ट्विटर के माध्यम से मुख्यमंत्री से भी की गई थी। इस पर मुख्यमंत्री ने तत्काल संज्ञान लेते हुए स्कूल प्रबंधन को नामांकन का निर्देश दिया था।

- मुख्यमंत्री के इस पहल से जितिशा खेतान का नामांकन स्कूल में हो सका। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड में शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाना ही राज्य सरकार की प्राथमिकता है।

- गरीब, मजदूर, किसान एवं समाज के अंतिम पायदान में खड़े परिवार के बच्चे भी अब अशिक्षित न रहे यही लक्ष्य होनी चाहिए।

- सरकारी एवं निजी स्कूलों के शिक्षकों को भी बच्चों के प्रति स्नेह और प्यार रखना चाहिए। सभी बच्चों को एक समान शिक्षा प्रदान कराएं तभी झारखण्ड स्वावलंबी और समृद्ध होगा। झारखण्ड में बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु सरकार प्रतिबद्ध है।