--Advertisement--

निकाय चुनाव के कार्यक्रम की आज होगी घोषणा

निकाय चुनाव के कार्यक्रम की आज होगी घोषणा

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 11:54 AM IST
प्रेसवार्ता के दौरान नगर निका प्रेसवार्ता के दौरान नगर निका

रांची। राज्य निर्वाचन आयोग ने राज्य के नगर निकाय चुनावों के लिए सोमवार को अधिसूचना जारी कर दी। इसके साथ ही आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गई। जारी अधिसूचना के अनुसार राज्य के 34 नगर निकायों में 16 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। 15 मार्च को जिला निर्वाचन पदाधिकारी निर्वाचन संंबंधी सूचना का प्रकाशन करेंगे। इसके बाद 16 मार्च से नामांकन की प्रक्रिया शुरू होगी, जो 22 मार्च तक चलेगी।

16 अप्रैल को मतदान
-23 मार्च को नामांकन पत्रों की जांच होगी। 27 मार्च को नाम वापस लिए जा सकते हैं। चुनाव चिन्ह का आवंटन 28 मार्च का होगा। इसके बाद 16 अप्रैल को मतदान होगा। मतगणना 20 अप्रैल को किया जाएगा। 21 अप्रैल को पूरी निर्वाचन प्रक्रिया राजकीय गजट प्रकाशन के साथ संपन्न हो जाएगा। प्रेसवार्ता के दौरान राज्य के गृह सचिव एस के जी रहाटे, डीजीपी डी के पांडेय, एडीजी ऑपरेशन आर के मल्लिक, नगर विकास सचिव अरूण कुमार सिंह, कमिश्नर डी के मिश्रा सहित कई पदाधिकारी मौजूद थे।

इन क्षेत्रों में होंगे चुनाव, उपचुनाव भी होंगे
-राज्य के कुल 34 नगर निकाय में चुनाव होंगे। इसके अतिरिक्त झुमरी तिलैया में अध्यक्ष, विश्रामपुर में वार्ड 4, देवघर में वार्ड 25, धनबाद में वार्ड 31 तथा वार्ड 40 में उपचुनाव भी होंगे। जो रिक्त थे।

राज्य के कुल 747 वार्ड में होगे चुनाव
-राज्य के कुल 747 वार्ड में चुनाव होंगे। वार्ड पार्षद चुनाव गैर दलीय तथा मेयर, डिप्टी मेयर, अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का चुनाव दलीय आधार पर होगा। इस बार चुनाव जनगणना रिपोर्ट 2011 के आधार पर कराया जा रहा है।

कुल 22,12,137 लाख मतदाता हिस्सा लेंगे
-इस चुनाव में कुल 22 लाख, 12 हजार, 137 मतदान हिस्सा लेंगे। जिसमें 11 लाख, 72 हजार 641 पुरुष एवं 10 लाख, 39 हजार 496 महिला मतदाता शामिल हैं। कुल 2337 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। मतदान के लिए 1,311 भवन में चुनाव होंगे। 12 चलंत मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

सुबह 7 से शाम 5 बजे तक होंगे मतदान
-राज्य निर्वाचन आयुक्त एनएन पांडेय ने बताया कि यह भारतीय लोकतंत्र के लोकल सरकार का चुनाव है। इसके जरिए मुहल्ले और कॉलोनियों का विकास व अन्य नागरिक सुविधाएं प्रदान की जाती है। इसलिए इस चुनाव में अधिक से अधिक लोग हिस्सा लें। इसके लिए मतदान सुबह 7 बजे से शाम के 5 बजे तक होगा।

नोटा का भी रहेगा विकल्प, ईवीएम से होगा मतदान
-नगर निकाय का पूरा चुनाव ईवीएम के जरिए होगा। इसके लिए ईवीएम की जांच भारत इलेक्ट्रॉनिक्स के इंजीनियर द्वारा की जा चुकी है। एआरओ और आरओ का प्रशिक्षण कार्य संपन्न हो चुका है। पर्ववेक्षकों का प्रशिक्षण 14 मार्च होगा। मतदान दल को कोई दिक्कत न हो इसके लिए कंप्यूटरीकृत प्रक्रिया अपनाई जाएगी।

भयमुक्त होकर मतदाता वोट करें, इसकी पूरी व्यवस्था होगी
-राज्य के गृह सचिव एस के जी रहाटे एवं डीजीपी डी के पांडेय ने कहा कि राज्य की जनता भयमुक्त होकर मतदान करे, इसके लिए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। संवेदनशील एवं अतिसंवेदनशील बूथों को चिन्हित कर लिया गया है। जल्द ही इसकी सूची जारी कर दी जाएगी। पर्याप्त संख्या में पुलिस एवं सुरक्षा बल की तैनाती की जाएगी। सुरक्षा में कोई कमी नहीं रहेगी। इस चुनाव में पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से राज्य निर्वाचन आयोग को सहयोग प्रदान करेगा।

इस चुनाव में प्रत्याशियों के खर्च की सीमा इस प्रकार होगी
नगर निगम

-दस 10 लाख एवं उससे अधिक आबादी वाले क्षेत्र में मेयर एवं उपमहापौर 25 लाख तथा वार्ड पार्षद 5 लाख रुपए।
-दस लाख से कम आबादी वाले क्षेत्र में मेयर एवं डिप्टी मेयर 15 लाख एवं पार्षद 3 लाख रुपए।

नगर परिषद
-एक लाख व उससे अधिक आबादी वाले क्षेत्र में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष 10 लाख तथा वार्ड पार्षद 2 लाख रुपए।
-एक लाख से कम आबादी वाले क्षेत्र में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष 6 लाख तथा पार्षद 1.5 लाख रुपए।

नगर पंचायत
-12 हजार एवं उससे अधिक आबादी वाले क्षेत्र तथा 20 हजार से कम आबादी वाले क्षेत्र में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष 5 लाख रुपए तथा वार्ड पार्षद 1 लाख रुपए।

ये प्रमाण पत्र जमा करने होंगे

-शपथ पत्र
-आरक्षण का दावा संबंधी प्रमाण पत्र सक्षम पदाधिकारी द्वारा निर्गत पत्र की अभिप्रमाणित प्रति।
-शुल्क एवं रसीद का स्व अभिप्रमाणित पत्र।
-अभ्यार्थी एवं उनके प्रस्तावक एवं समर्थक के लिए मतदाता सूची संबंधी अंश की स्व-अभिप्रमाणित पत्र।
-महापौर, उपमहापौर, अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पदों के लिए राजनैतिक दलों द्वारा प्रायोजित किए गए अभ्यार्थियों के मामले में आयोग के निर्वाचन प्रतीक आवंटन आदेश 2018 का प्रपत्र क एवं ख।
-निर्वाचन व्यय के लिए अलग से खोले गए बैंक खाता का विवरण, उसके पासबुक की स्व-अभिप्रमाणित प्रति।

आचार संहिता लागू, जानिए किनपर असर नहीं, क्या काम रुकेंगे

ये काम जारी रहेंगे

- पूर्व से चली आ रही योजना।
- नक्शा पास होते रहेगी। आवेदन भी दे सकते हैं। स्वीकृति भी मिलेगी।
- बोरिंग के लिए आवेदन दे सकते हैं, परमिशन भी मिलेगी।
- स्ट्रीट लाइट, मेंटेनेंस जारी रहेगा।
- कोर्ट के आदेश के अनुपालन में अनुकम्पा के आधार पर नियुक्तियों पर आयोग का प्रतिबंध नहीं रहेगा।
- अनाज ढुलाई, पुलों पर शुल्क, खाद्य, दवा आपूर्ति आदि की निविदा पर रोक नही।

जो नहीं होगा

- नई विकास योजनाओं से सम्बंधित निविदा आमंत्रित करने, उसके निष्पादन पर पाबंदी रहेगी।
- राजनीतिक दलों और अभ्यर्थी कोई ऐसा काम नहीं करेंगे, जिससे किसी धर्म, सम्प्रदाय, जाति के लोगों के भावना का ठेस पहुंचे या तनाव पैदा हो।
- वोट के लिए साम्प्रदायिक, धार्मिक, जातीय या भाषीय भावनाओं का सहारा नहीं लेना।
- मतदाताओं को रिश्वत, धमकी, या किसी प्रकार का पारितोषिक नहीं देना है।
- मतदान केंद्र के 100 मीटर की परिधि में चुनाव प्रचार, मत मांगना निषेध। मतदान केंद तक मतदाताओं को लाने, ले जाने के लिए वाहन के प्रयोग पर मनाही।
- निजी घर, भवन, अहाते पर पोस्टर, नारे लिखने पर मनाही। संंबंधित व्यक्ति से अनुमति ले कर सकते हैं।


फोटो: कौशल आनंद।