Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Auto Dropped From Dhurwa Dam In Ramchi

ऑटो की स्टेयरिंग से खेल रहा था बच्चा, न्यूट्रल होते ही लुढ़का डैम में, डूबने से मौत

ऑटो अनियंत्रित होकर लुढ़कने लगा और डैम में डूब गया।

Santosh Choudhry/Krantideep Mahto | Last Modified - Apr 02, 2018, 01:54 AM IST

  • ऑटो की स्टेयरिंग से खेल रहा था बच्चा, न्यूट्रल होते ही लुढ़का डैम में, डूबने से मौत
    +5और स्लाइड देखें
    शिवम की मौत पर रोते-बिलखते माता-पिता और परिवार के लोग।

    रांची।धुर्वा डैम के ऊपर सड़क पर खड़ा एक ऑटो लुढ़क कर डैम में जा गिरा। ऑटो में तीन बच्चे खेल रहे थे, जिसमें एक छह साल के बच्चे शिवम लाल उर्फ भोलू की मौत हो गई। शिवम की बड़ी बहन पूजा (8) और छोटी बहन ज्योति (2) हादसे में बाल-बाल बच गई। घटना रविवार दिन के 12.10 बजे की है। तीनों बच्चे जेपी मार्केट विद्या नगर के रहने वाले हैं। उनके पिता प्रमोद लाल उर्फ सुदामा ऑटो चलाते हैं।

    आधे घंटे पानी में रहा, अस्पताल पहुंचते ही मौत

    पूरा परिवार रविवार को डैम में नहाने और कपड़ा धोने ऑटो से गया था। उसी दौरान यह घटना हुई। घटना के समय बच्चों की मां अनिता देवी डैम में कपड़े धो रही थी। तीनों बच्चे डैम के ठीक किनारे खड़े अपने ऑटो में खेल रहे थे। अचानक अॉटो लुढ़कते हुए डैम के अंदर चला गया। हादसे में दोनों बच्चियों को लोगों ने बचा लिया। लेकिन, शिवम आधा घंटा तक पानी में ही रहा। इस वजह से अस्पताल पहुंचते उसकी मौत हो गई।

    डरी हुई पूजा ने कुछ देर बाद बताया कि भाई शिवम ऑटो में है

    ऑटो की आगे वाली सीट पर बैठा शिवम ऑटो के साथ डैम के काफी अंदर चला गया। वहां 15 से 20 फीट पानी था। करीब 20 मिनट बाद पूजा ने बताया कि ऑटो में उनका भाई शिवम भी था। तब मौजूद लोगों की हवाइयां उड़ गईं। मां चिल्लाने लगीं। शिवम को ढूंढ़ने के लिए स्थानीय लोग डैम के अंदर पानी में उतरे, लेकिन वे निकाल नहीं पाए। करीब आधे घंटे के बाद एनडीआरएफ की टीम पहुंची। टीम के सदस्यों ने शिवम को बाहर निकाला। लेकिन, आधे घंटे से अधिक देर पानी में रहने की वजह से शिवम काफी पानी पी चुका था। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया। लेकिन, डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

    पिता को देर से मिली खबर तो भागे पहुंचे डैम

    डैम से कुछ दूर तीन बच्चों के पिता अपने बहनोई का ऑटो बनवा रहे थे। बेटे की डूबने की खबर उन्हें काफी देर बाद मिली। सूचना मिलते वे दौड़े-दौड़े डैम पहुंचे। बेटे की डूबने की खबर सुन वे बेसुध हो हुए। वे बार-बार कह रहे थे कि ऑटो में ओट लगा कर गए होते तो ऐसी चूक नहीं होती। शिवम की मां अनिता देवी अपने इकलौते बेटे की मौत के सदमे से रोते-रोते बार-बार बेहोश हो जा रही थीं। पिता ने बताया कि चार साल पहले उनके एक और बेटे की मौत बीमारी की वजह से गई थी। शिवम कक्षा एक में पढ़ता था।

    शिवम स्टेयरिंग से खेल रहा था, बच्चियां बीच में

    प्रमोद लाल अपनी पत्नी अनिता देवी और तीनों बच्चों के साथ ऑटो से सुबह 11.25 बजे नहाने और कपड़ा धोने डैम निकले थे। डैम पहुंच कर उन्होंने अपनी ऑटो सड़क पर खड़ा की। ऑटो में सिर्फ गियर लगा हुआ था। तीनों बच्चे ऑटो में ही थे। बेटा आगे की स्टेयरिंग से खेल रहा था। दोनों बच्चियां बीच वाली सीट पर थीं।



    फोटो: क्रांतिदीप महतो।


  • ऑटो की स्टेयरिंग से खेल रहा था बच्चा, न्यूट्रल होते ही लुढ़का डैम में, डूबने से मौत
    +5और स्लाइड देखें
    शिवम की फाइल फोटो।
  • ऑटो की स्टेयरिंग से खेल रहा था बच्चा, न्यूट्रल होते ही लुढ़का डैम में, डूबने से मौत
    +5और स्लाइड देखें
    शिवम की बड़ी बहन पूजा।
  • ऑटो की स्टेयरिंग से खेल रहा था बच्चा, न्यूट्रल होते ही लुढ़का डैम में, डूबने से मौत
    +5और स्लाइड देखें
    शिवम की छोटी बहन ज्योति।
  • ऑटो की स्टेयरिंग से खेल रहा था बच्चा, न्यूट्रल होते ही लुढ़का डैम में, डूबने से मौत
    +5और स्लाइड देखें
    हादसे के बाद डैम के किनारे जुटी लोगों की भीड़।
  • ऑटो की स्टेयरिंग से खेल रहा था बच्चा, न्यूट्रल होते ही लुढ़का डैम में, डूबने से मौत
    +5और स्लाइड देखें
    स्थानीय गोताखोरों की मदद से बच्चे की तलाश जारी है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×