--Advertisement--

भाजपा नेता के बेटे ने की आत्महत्या, चिन्मया स्कूल का छात्र था निहाल

भाजपा नेता के बेटे ने की आत्महत्या, चिन्मया स्कूल का छात्र था निहाल

Danik Bhaskar | Dec 15, 2017, 01:14 PM IST
भाजपा नेता को दिलासा देते विधा भाजपा नेता को दिलासा देते विधा

बोकारो (झारखंड)। भाजपा नेता सह ठेकेदार कमलेश राय के पुत्र ने गुरुवार की देर रात अपने कमरे में फंदे से झूल आत्महत्या कर ली। रात में ही परिजन उसे हॉस्पिटल ले गए। जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। रोते पिता ने कहा- 'काफी मन्नतों के बाद हुआ था बेटे का जन्म, जिसका नाम उन लोगों ने निहाल रखा था।'

-घटना की जानकारी मिलते ही सिटी थाना पुलिस ने घटनास्थल की जांच की और मृतक के मोबाइल और लैपटाॅप को अपने कब्जे में ले लिया है।
-निहाल बोकारो के चिन्मय विद्यालय में कक्षा ग्यारह में पढ़ता था। वह पिछले कुछ दिनों से तनाव में रह रहा था।
-गुरुवार की देर रात उसने अपने कमरे में लगे पंखे से गमछा के सहारे लटक कर आत्महत्या कर ली।
-रात में करीब दो बजे उसकी मां ने उसे पंखे में झूलते हुए पाया। पुलिस ने आत्महत्या की सूचना के बाद निहाल के कमरे में जाकर उसके मोबाइल और लैपटाप को अपने कब्जे में ले लिया है।
-एसपी कार्तिक एस ने कहा कि पुलिस के तकनीशियन मोबाइल और लैपटाॅप की बारीकी से जांच करेंगे।

पुत्र के जन्म के लिए काफी मन्नत मांगी थी

-भाजपा नेता कमलेश राय की शादी करीब 30 साल पूर्व हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद उनकी पुत्री का जन्म हुआ था। भाजपा नेता ने पुत्र के जन्म के लिए काफी मन्नत मांगी थी।

-वे मन्नत मांगने के लिए विभिन्न तीर्थ स्थानों और मंदिरों में पूजा अर्चना की थी। उसके बाद बेटे का जन्म हुआ, जिसका नाम उन लोगों ने निहाल रखा था।

आत्महत्या के पहले अपने चाचा और पिता का पैर दबाया था
-मृतक निहाल के चाचा त्रिभुवन राय की तबीयत खराब थी। वे रांची से इलाज कराने के बाद देर रात बोकारो लौटे थे। उनके लौटने पर निहाल ने उनका तथा अपने पिता कमलेश का पैर भी दबाया था।
-त्रिभुवन के मॉर्निंग वाक पर जाने की बात पर उसने अपने चाचा को कहा था कि उन्हें सुबह वह जगा देंगा। क्योंकि वह स्कूल जाने के लिए सुबह उठता ही है।
-उसके बाद वह अपने कमरे में सोने चला गया था। रात करीब दो बजकर 56 मिनट में उसकी मां ने उसे लटका हुआ पाया।

घर पर लगा रहा लोगों का तांता
-भाजपा नेता के पुत्र कमलेश राय के इकलौते पुत्र की मौत का समाचार पूरे बोकारो में फैल गई। समाचार फैलते ही काफी संख्या में उनके मित्र और शुभचिंतक उनके आवास पर जुटने लगे।
-बोकारो विधायक विरंची नारायण, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मंजूर अंसारी, चास नगर निगम के उप मेयर अविनाश कुमार के अलावा विभिन्न दलों के नेता, यूनियन के नेता, ठेकेदार और उनके शुभचिंतक उनके आवास पर पहुंच गए।