--Advertisement--

ब्लाइंड स्कूल और हॉस्टल की होगी मरम्मत, बच्चों को जेसोवा ने बांटे ऊनी कपड़े

ब्लाइंड स्कूल और हॉस्टल की होगी मरम्मत, बच्चों को जेसोवा ने बांटे ऊनी कपड़े

Dainik Bhaskar

Dec 20, 2017, 07:20 PM IST
झारखंड आईएएस वाइव्स एसोसिएशन ( झारखंड आईएएस वाइव्स एसोसिएशन (

रांची। झारखंड आईएएस वाइव्स एसोसिएशन (जेसोवा) ने रांची के ब्लाइंड स्कूल में बेहतर आधारभूत संरचना उपलब्ध कराने की कोशिश शुरू की है। जेसोवा की अध्यक्ष सह कार्मिक विभाग की प्रधान सचिव निधि खरे ने बुधवार को कहा है कि यहां के छात्र बड़े ही मेधावी हैं। पढ़ाई के अलावे संगीत, कला, कंप्यूटर और खेल में इनकी गजब की रुचि है।

- जेसोवा की तरफ से शुरू किए गए स्पोकेन इंग्लिश क्लास में भी बच्चे बेहतर कर रहे हैं। आने वाले दिनों में यहां के बच्चे भी झारखंड का नाम रौशन करने में कामयाब होंगे। उन्होंने समाज कल्याण सचिव विनय चौबे से स्कूल और छात्रावास भवन की मरम्मत करने का अनुरोध किया।

- निधि खरे ब्लाइंड स्कूल में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रही थी। उनके अनुरोध पर समाज कल्याण विभाग की तरफ से स्कूल की खराब कंप्यूटर की मरम्मत और संगीत के शिक्षक सहित दूसरी जरुरी सुविधा में सुधार का भरोसा दिया गया। उन्होंने भवन मरम्मत का काम जल्द शुरू करने की घोषणा की।

- इस मौके पर बच्चों के बीच ऊनी वस्त्र का वितरण किया गया। इससे पूर्व जेसोवा की तरफ से हेल्थ कैंप का आयोजन ब्लाइंड स्कूल में कराया गया था।

- इसका उद्घाटन मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने किया था। संस्था की तरफ से खेल सामग्री का वितरण और संगीत वाद्ययंत्रों की मरम्मत भी कराई गई है।

- बुधवार को ब्रेल लिपि से अनुवादित कुछ पुस्तकों का भी वितरण किया गया। कक्षा सात तक की पाठ्य पुस्तकें जल्द ही ब्रेल में अनुवादित हो जाएंगी। वहीं छह बच्चों के बहरापन ठीक करने की कोशिश की जा रही है। एक बच्चे की इलाज पर करीब छह लाख रुपया खर्च आता है। जेसोवा की तरफ से इसके लिए राशि की व्यवस्था करने की कोशिश की जा रही है।

- निधि खरे ने भरोसा दिलाया कि जेसोवा की स्वंयसेवक आगे भी बच्चों की मदद के लिए तैयार रहेंगी।

- कार्यक्रम में समाज कल्याण निदेशक मनोज कुमार, जेसोवा की सचिव गायत्री सिंह,रंजीता गंगवार, ज्योति भजंत्री आदि मौजूद थी।

फोटो : पवन कुमार।

X
झारखंड आईएएस वाइव्स एसोसिएशन (झारखंड आईएएस वाइव्स एसोसिएशन (
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..