Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» CM Gave Strict Instructions To Banks, Said- Do Not Tolerate Any Schemes Related To Poor

CM ने बैंकों को दिया कड़ा निर्देश, कहा- गरीबों से जुड़ी योजनाओं में कोताही बर्दाश्त नहीं

गरीबों से जुड़ी योजनाओं को तेजी से लागू किया जा रहा है। लेकिन बैंकों से पूरी तरह से सहयोग नहीं मिल रहा है।

Gupteshwar Kumar | Last Modified - May 18, 2018, 04:08 AM IST

CM ने बैंकों को दिया कड़ा निर्देश, कहा- गरीबों से जुड़ी योजनाओं में कोताही बर्दाश्त नहीं

रांची। गरीबों से जुड़ी योजनाओं को तेजी से लागू किया जा रहा है। लेकिन बैंकों से पूरी तरह से सहयोग नहीं मिल रहा है। राशि जमा होने के बाद भी लाभुकों को पूरी राशि नहीं मिल पा रही है। यह उचित नहीं है। इस तरह की कोताही को सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी। लोगों को दौड़ाने की सूचना नहीं मिलनी चाहिए। उक्त बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहीं। वे गुरुवार को झारखंड मंत्रालय में सभी बैंकों के राज्यस्तरीय प्रमुखों, महाप्रंबधकों, उप महाप्रबंधकों के साथ बैठक बोल रहे थे।

बैंक सखी मंडलों को तव्वजो दें
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना को लेकर सबसे ज्यादा शिकायतें आ रही हैं। कहीं-कहीं लाभुक के खाते में किस्त की राशि आने के बाद भी उन्हें पूरी राशि नहीं दी जा रही है। इससे आवास निर्माण काम धीमा हो जा रहा है। इसके पीछे बैंकों में राशि की कम उपलब्धता बताई जाती है। ऐसा नहीं होना चाहिए। जब लाभुक आए, तो तत्काल उसे पूरी राशि दी जाएगी, ताकि वह तेजी से आवास बनवा सके। इसी प्रकार आधार सिडिंग के मामले में मुख्यालय व जिला स्तर पर एक नोडल अधिकारी को लगाएं, जो वहीं से बैठकर खातों को आधार से जोड़े। जिन खातों में परेशानी आएगी, उन्हीं खातों को शाखा में भेजा जाए। बीडीओ द्वारा प्रमाणित करने पर आधार सिडिंग में आनाकानी नहीं की जानी चाहिए। बैंक सखी मंडलों को तव्वजो दें। उसकी मदद से बैंक के काफी काम हो सकते हैं।

गरीबों व असहाय लोगों को बार-बार न दौड़ाएं बैंक
मुख्यमंत्री ने कहा- हर पंचायत भवन या सुरक्षा बलों के कार्यालय में बैंक एटीएम खोलें, ताकि हर किसी को राशि निकालने के लिए बैंक के चक्कर न काटने पड़े। उन्होंने कहा कि वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन आदि के लाभुकों को भी दौड़ाने की सूचना मिलती रहती है। ऐसा नहीं होना चाहिए। थोड़ा संवेदनशील बनें। गरीबों असहाय लोगों को बार-बार न दौड़ाएं। इससे सरकार की छवि भी खराब होती है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जहां बैंक सहयोग नहीं कर रहे हैं, वहां कड़ाई करें। लोगों को मुख्यमंत्री जन संवाद 181 पर शिकायत करने के लिए कहें।

हर किसी को संदेह की दृष्टि से न देखें
मुख्यमंत्री ने कहा कि सखी मंडल को लोन देने में कंजूसी न करें। इनके छोटे-छोटे लोन होते हैं। ये समय से राशि भी लौटाती हैं। लोन मिलने से वे अपने पैरों पर खड़ी हो सकेंगी। मुद्रा लोन में भी डिफॉल्टर काफी कम हैं। ये भी स्वरोजगार के लिए है। इसे भी बढ़ावा दें। हर किसी को संदेह की दृष्टि से न देखें। कुछ गलत लोगों के कारण ज्यादातर लोगों को लोन से वंचित न करें। बैंक की मदद से बेरोजगारी की समस्या पर नियंत्रण पाया जा सकेगा।

हर पंचायत भवन में एटीएम खोलें

हर पंचायत भवन या सुरक्षा बलों के कार्यालय में बैंक एटीएम खोलें, ताकि हर किसी को राशि निकालने के लिए बैंक के चक्कर न काटने पड़े। वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन आदि के लाभुकों को भी दौड़ाने की सूचना मिलती रहती है। गरीबों असहाय लोगों को बार-बार न दौड़ायें। इससे सरकार की छवि भी खराब होती है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जहां बैंक सहयोग नहीं कर रहे हैं, वहां कड़ाई करें। लोगों को मुख्यमंत्री जन संवाद 181 पर शिकायत करने के लिए कहें।

सखी मंडल को लोन देने में कंजूसी नहीं करें

सखी मंडल को लोन देने में कंजूसी नहीं करें। इनके छोटे-छोटे लोन होते हैं। ये समय से राशि भी लौटाती हैं। उन्होंने विलफुल डिफॉल्टर की सूची बैंकर्स से देने को कहा, ताकि बैंकों के ऋण वसूली में मदद की जा सके। बैठक में विकास आयुक्त अमित खरे, वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह सीएम के प्रधान सचिव सुनील वर्णवाल समेत अन्य थे।

विलफुल डिफॉल्टर की मांगी सूची

उन्होंने विलफुल डिफॉल्टर की सूची बैंकर्स से देने को कहा, ताकि डीसी को इसे भेजकर बैंकों के ऋण वसूली में मदद की जा सके। बैठक में विकास आयुक्त अमित खरे, वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डाॅ.सुनील कुमार वर्णवाल, विभिन्न जिलों के डीसी तथा बैंकों के राज्यस्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×