--Advertisement--

घर के अंदर ऐसे मिली कपल की बॉडी, घर से आ रही थी बच्चे के रोने की आवाज

घर के अंदर ऐसे मिली कपल की बॉडी, घर से आ रही थी बच्चे के रोने की आवाज

Danik Bhaskar | Jan 12, 2018, 07:03 PM IST
घर में ऐसे लटकी हुई थी कपल की बॉ घर में ऐसे लटकी हुई थी कपल की बॉ

रांची। एचईसी सेक्टर-टू निवासी आर्किटेक्ट दिलीप मांझी और उनकी पत्नी रीमा मांझी की शुक्रवार को संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई। दोनों का शव क्वार्टर नंबर सीडी-396 में पंखे से लटका मिला। दिलीप के परिजनों ने इसे हत्या बताया है। पर पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जो उनके आठ माह के बच्चे के नाम लिखा हुआ है।


-दिलीप के कमरे से पुलिस को सुसाइड नोट मिला है। यह आठ महीने के बेटे के नाम लिखा गया है। इसमें लिखा है-'आई लव यू बेटा। हमलोगों को माफ कर देना। कोई उपाय नहीं है।'
-'तुम अपने नाना-नानी के साथ रहना। बेटा हमलोगों को इज्जत और प्यार देना। जो पांच लाख रुपए मिलेंगे, उनसे 1 लाख 20 हजार रुपए ससुराल पहुंचा देना।'
-दिलीप के पिता जनक मांझी ने आरोप लगाया कि उसके बेटे-बहू की हत्या की गई है। उन्होंने पुलिस से कहा-22 दिसंबर को वे पूरे परिवार के साथ खूंटी स्थित पैतृक आवास पर गए थे।
-वे वहीं रुक गए, जबकि बेटा-बहू रांची लौट आए। उन्होंने कहा कि दिलीप ने नगड़ी में किसी व्यक्ति के लिए नक्शा बनाया था। दिलीप बार-बार कहता था कि वहां से मोटी रकम मिलने वाली है।

बच्चे के रोने की आवाज पर कमरे में पहुंचे लोग
-यह हत्या है या आत्महत्या, पुलिस दोनों बिंदुओं पर जांच कर रही है। पुलिस के मुताबिक शुक्रवार सुबह पड़ाेसियों ने घर में बच्चे के रोने की आवाज सुनी।
-वहां पहुंचे तो दरवाजा खुला था और अंदर दोनों के शव दुपट्‌टे के सहारे पंखे से लटके हुए थे। पड़ाेसियाें ने जगन्नाथपुर थाने को इसकी सूचना दी।
-पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया। दंपती का आठ माह का बेटा अब खूंटी के विरमकेल गांव में नाना के पास है।