--Advertisement--

भाजपा जीत का जश्न नहीं तांडव मचा रही है : दीपांकर भगत सिंह लेनिन को मानते थे अपना आदर्श, तो क्या यह भी विदेशी हो गए - 1

भाजपा जीत का जश्न नहीं तांडव मचा रही है : दीपांकर भगत सिंह लेनिन को मानते थे अपना आदर्श, तो क्या यह भी विदेशी हो गए - 1

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2018, 06:21 PM IST
भाकपा माले के राष्ट्रीय महासच भाकपा माले के राष्ट्रीय महासच

रांची। भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में भाजपा जीत का जश्न नहीं तांडव मचा रही है। यह लोकतंत्र के लिए बहुत ही खतरनाक है। मूर्ति तोड़े जाने की गलत परंपरा की शुरुआत कर रही है। कभी यूपी में डाॅ. भीम राव अंबेडकर तो कभी त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति तोड़ रही है। ये बातें दीपांकर भट्टाचार्य ने रांची में गुरुवार को आयोजित एक प्रेस वार्ता के दौरान कही।

'एनडीए का नाम नेशनल डिजास्टर एलायंस'
-उन्होंने कहा- भगत सिंह, लेनिन को अपना आदर्श मानते थे। यही कारण रहा कि जब उन्हें फांसी दी जा रही थी तब अपने लेनिन की किताब पूरी पढ़ने की अंतिम इच्छा में जाहिर की थी।
-उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में वामदल पार्टी दफ्तर में कब्जा, वाम कार्यकर्ताओं के साथ मार-पीट आदि घटना को अंजाम दे रहे हैं। इन सब कार्यों का असर अगले चुनावों में पड़ेगा। भट्टाचार्य ने कहा कि बिहार और यूपी के उपचुनाव तथा राज्यसभा चुनाव में माले, भाजपा के खिलाफ वोट करेगा। अब एनडीए का नाम नेशनल डिजास्टर एलायंस हो गया है। इसलिए इनके सहयोगी अब इनसे अलग हो रहे हैं।

पकौड़ा बनाने की ट्रेनिंग देकर रोजगार देने की बातें कही जा रही
-उन्होंने कहा कि 10 मार्च से पंजाब के मानसा में पार्टी का 10 वां राष्ट्रीय अधिवेशन शुरू होगा। इसमें भारत के सभी राज्यों के अतिरिक्त पड़ोसी देशों के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे।

-उन्होंने कहा कि स्मार्ट के सिटी के नाम पर एक ओर जहां ठेला-खोमचा को हटाने पर तुली है। वहीं, पकौड़ा बनाने की ट्रेनिंग देकर रोजगार देने की बातें कही जा रही है। देश में नौजवान रोजगार की मांग को लेकर सड़क पर हैं।

फोटो: कौशल आनंद।

X
भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचभाकपा माले के राष्ट्रीय महासच
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..