विज्ञापन

रेप और हत्या के मामले में दोषी को मिली फांसी की सजा, २०१४ की थी घटना

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 06:23 PM IST

रेप और हत्या के मामले में दोषी को मिली फांसी की सजा, २०१४ की थी घटना

कोर्ट ने आरोपी को 31 जनवरी को ही कोर्ट ने आरोपी को 31 जनवरी को ही
  • comment

रांची। 8 वर्षीय नाबालिग की रेप के बाद हत्या कर देने के मामले में खादगढ़ा बस स्टैंड के तत्कालीन खलासी गांधी उरांव को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई। यह फैसला न्यायायुक्त प्रथम शिवपाल सिंह की अदालत में सोमवार को सुनाई गई। साथ ही फैसले पर पुष्टि करने के लिए कोर्ट ने अपने निर्णय की प्रति और अभिलेख को झारखंड हाई कोर्ट भेज देने का निर्देश दिया है।

पूर्व परिचित होने का फायदा उठाकर किया था रेप
-कोर्ट ने आरोपी को 31 जनवरी को ही इस मामले में दोषी ठहराया था। इस मामले में गांधी उरांव 21 मार्च 2014 से लगातार जेल में है।

-उसके खिलाफ लोअर बाजार थाने में पीड़िता के पिता ने एफआईआर दर्ज कराई थी। आरोप था कि उसने अपने ही सहयोगी खलासी की नाबालिग बच्ची के साथ पूर्व परिचित होने का फायदा उठाकर 19 मार्च 2014 शाम 7 बजे रेप किया।

-जब वह लगातार रो रही थी, चिल्ला रही थी तो पत्थर से कूचकर उसकी हत्या कर दी। इस मामले में 20 मार्च 2014 को चांडिल ब्रिज के पास सरायकेला पुलिस ने उसे उस समय गिरफ्तार किया, जब वो कोलकाता भाग रहा था।

-आरोपी गांधी उरांव जब गिरफ्तार किया गया तो वह एक बार कोर्ट में पेशी के दौरान हाजत से भी भागने में सफल हो गया था। इसे लेकर लोअर बाजार थाना में एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

दूसरे दिन बरामद की गई लाश
-घटना के दिन नाबालिग बच्ची के माता-पिता आपस में झगड़ा कर रहे थे। इसी का फायदा उठाकर आरोपी उसकी बच्ची को घर से बहला फुसलाकर बाहर ले गया।

-बाद में देर रात तक बच्ची के माता-पिता ने उसकी खोज की। पर कुछ भी पता नहीं चला। दूसरे दिन उसकी लाश कांटा टोली कब्रिस्तान के पीछे से बरामद की गई।

-बच्ची के पिता सान्या बस पर खलासी का काम करता था। कोर्ट ने आरोपी गांधी को भादवि की धारा 376 दुष्कर्म के मामले में आजीवन कारावास और 10,000 रुपए जुर्माना, धारा 201 सबूत छिपाने के आरोप में 5 वर्ष की सश्रम कारावास और 5000 जुर्माना, पॉक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत आजीवन कारावास और 10,000 का जुर्माना, तथा धारा 302 में उसे फांसी की सजा सुनाई।

X
कोर्ट ने आरोपी को 31 जनवरी को ही कोर्ट ने आरोपी को 31 जनवरी को ही
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन