Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» EX CM Madhu Koda Story Jarkhand Guilty In Coal Scam

श्वङ्ग ष्टरू कभी घरों में लगाते थे खिड़की-दरवाजे, अब कोयला घोटाला में दोषी करार

श्वङ्ग ष्टरू कभी घरों में लगाते थे खिड़की-दरवाजे, अब कोयला घोटाला में दोषी करार

Gupteshwar Kumar | Last Modified - Dec 13, 2017, 10:25 AM IST

रांची। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता, झारखंड के पूर्व चीफ सेक्रेटरी एके बसु समेत तीन को सीबीअाई की स्पेशल कोर्ट ने शनिवार को 3 साल की सजा सुनाई। इनपर जुर्माना भी लगाया गया है। हालांकि इन्हें दो महीने की अंतरिम जमानत भी दी गई है। मधु कोड़ा झारखंड में पहले ऐसे मुख्यंमत्री रहे जो निर्दलीय विधायक होते हुए इस पद पर पहुंचे। मधु कोड़ा एक समय मकानों में लोहे के खिड़की और दरवाजे लगाने का काम किया करते थे। उनके पिता की तमन्ना थी कि वे थानेदार बनें, पर मधु कोड़ा सीएम बन गए। 709 दिन रहे थे सीएम...

-मधु कोड़ा करीब 709 दिन झारखंड के मुख्यमंत्री रहे। घोटाले के आरोप में एक बार कोड़ा जेल गए तो उनकी कुछ कैदियों ने जमकर पिटाई कर दी। कोड़ा को अस्पताल में भर्ती कराया गया।
-झारखंड के अति पिछड़े गांव के रूप में जाना जाता है पट्टाहाटू। यहीं पर मधु कोड़ा का जन्म हुआ था। पिता रसिक के पास एक एकड़ का खेत था।
-खदान में मजदूरी किया करते थे, मजदूरी से लौटने के बाद अवैध रूप से देसी दारू बनाकर बेचा करते थे। तमन्ना थी कि बेटा पढ़ लिखकर थानेदार बन जाए।
-मधु कोड़ा के दिमाग में तो कुछ और ही चल रहा था। चाइबासा में प्राइमरी शिक्षा ली। पत्राचार से स्नातक हुए। वह फिर आरएसएस तथा ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन में रहे।

निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीत गए
-इसी दौरान कोड़ा भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी के संपर्क में आकर राजनीति करने लगे। भाजपा ने टिकट नहीं दिया तो निर्दलीय चुनाव लड़े और जीत गए।
-कमलेश सिंह, एनोस एक्का और हरिनारायण राय (तीन निर्दलीय) के साथ मिलकर उन्होंने सरकार बनाईं और गिराईं। 2000 में जगन्नाथपुर सीट से जीते।
-मरांडी सरकार में पंचायत मंत्री बने। 2005 में निर्दलीय जीते अर्जुन मुंडा की सरकार को समर्थन दिया। 2006 में कोड़ा और तीन निर्दलीयों ने मुंडा सरकार को गिरा दिया और कोड़ा खुद मुख्यमंत्री बन गए।

-मधु कोड़ा के दो दोस्त हैं। विनोद सिन्हा व संजय चौधरी। तीनों ने ही एक समय काफी बुरे दिन देखे। गरीबी के चलते अपने परिवार का भरण-पोषण कैसे किया जाए, यह उनके सामने बड़ी चुनौती थी।
-उसी दौरान इन लोगों के बीच दोस्ती हुई। जब इनकी किस्मत ने साथ दिया तो इन तीनों ने वह काम कर दिखाया, जिसकी कल्पना भी एक आम आदमी नहीं कर सकता।
-आरोप है कि मुख्यमंत्री बने मधु कोड़ा और इनके बाकी दो दोस्तों ने गैरकानूनी तरीके से जो रुपए कमाए, उससे ये होटल, खदानें और कई कंपनियों के मालिक बन गए।

आगे की स्लाइड्स पर देखें संबंधित PHOTOS :

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ranchi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: pitaa chaahte the betaa thaanedaar bane, gharon mein drvaaje lgaaa ek din ban gae CM
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×