--Advertisement--

विकास आयुक्त अमित खरे ने किया झारखंड के पहले सोलर चरखे का लोकार्पण

विकास आयुक्त अमित खरे ने किया झारखंड के पहले सोलर चरखे का लोकार्पण

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 05:46 PM IST
खादी द्वारा बोर्ड लघु और कुटीर खादी द्वारा बोर्ड लघु और कुटीर

रांची। विकास आयुक्त अमित खरे ने कहा कि राज्य में स्वरोजगार और स्वावलंबन को बढ़ावा देने में खादी एक सशक्त भूमिका निभा रहा है। झारखंड खादी बोर्ड गांव के गरीबों को आत्मनिर्भर बनाने एवं आर्थिक रूप से संपन्न बनाने का कार्य बखूबी कर रहा है। खरे शनिवार को झारखंड राज्य खादी बोर्ड द्वारा हटिया स्टेशन रोड स्थित साई कृपा भवन में बुनाई प्रशिक्षण केंद्र सह झारखंड के पहले सोलर चरखे के लोकार्पण समारोह में बोल रहे थे।

खादी को आधुनिक फैशन और भारतीय संस्कृति के साथ भी जोड़ा जा रहा


खरे ने कहा कि राज्य के विकास में खनन आधारित बड़े उद्योगों की भूमिका सर्वविदित है,परंतु लघु और कुटीर उद्योगों की भूमिका भी उतनी ही महत्वपूर्ण है। खादी द्वारा बोर्ड लघु और कुटीर उद्योगों के माध्यम से स्वरोजगार को बढ़ावा दे रहा है। उन्होंने कहा कि अब खादी को आधुनिक फैशन और भारतीय संस्कृति के साथ भी जोड़ा जा रहा है।

पर्यटन सचिव राहुल शर्मा ने कहा कि खादी बोर्ड विकास के पथ पर निरंतर आगे बढ़ते हुए नित नये प्रयोग कर रहा है। बोर्ड अब सौर ऊर्जा का उपयोग कर लोगों के काम को आसान बना रहा है,जो काबिलेतारीफ है।

25 महिलाओं के समूह को 3 महीने के प्रशिक्षण कार्यक्रम में सोलर चरखे का प्रशिक्षण दिया जाएगा


इस अवसर पर खादी बोर्ड के अध्यक्ष संजय सेठ ने सोलर चरखे के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इस सोलर चरखे के द्वारा कम शारीरिक श्रम मे ज्यादा सूत का उत्पादन किया जा सकेगा। जो हाथ से चलने वाले चरखे का तीन गुना होगा। यह चरखा लगातार 8 घंटे तक चलेगा। 25 महिलाओं के समूह को 3 महीने के प्रशिक्षण कार्यक्रम में सोलर चरखे का प्रशिक्षण दिया जाएगा। साथ ही हर महीने 1500 रू भी दिये जाएंगे।

प्रशिक्षण उपरांत 20 प्रतिशत की सब्सिडी दर महिलाएं यह चरखा खरीद कर अपना रोजगार कर सकती हैँ और सूत खादी बोर्ड को बेच सकती हैं। वहीं बोर्ड द्वारा मीठी क्रांति यानि मधुमक्खी पालन को बढ़ावा दिया जा रहा है। कुछ दिनों पहले ही 500 गरीब किसानों को मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण उपरांत उन्हें 5 बी बॉक्स सब्सिडी पर दिया गया।

22 दिसंबर से खादी एवं सरस मेला

सेठ ने बताया कि 22 दिसंबर से खादी एवं सरस मेला 2017-18 का आयोजन किया जा रहा है। मेले में 22 राज्यों के प्रतिभागियों द्वारा 1000 स्टॉल लगाया जा रहा है। मेले में आकर्षण का केंद्र मि. एवं मिस खादी प्रतियोगिता, देश का दूसरा सबसे बड़ा चरखा , सरस एवं खादी हाट, कला एवं संस्कृति विभाग और पर्यटन विभाग का हैंगर हैं। सभी सरकारी विभागों एवं बैंकों के भी स्टॉल रहेंगे। साथ ही स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन एस डी सिंह ने किया। इस अवसर पर झारखंड खादी बोर्ड के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी दीपाकंर पांडा, डॉ एस एस अख्तर सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

फोटो : पवन कुमार।