--Advertisement--

बेटे तेजस्वी के साथ रांची पहुंचे लालू प्रसाद, चारा घोटाले में कल सुनाई जाएगी सजा

बेटे तेजस्वी के साथ रांची पहुंचे लालू प्रसाद, चारा घोटाले में कल सुनाई जाएगी सजा

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 05:29 PM IST
video:  रांची एयरपोर्ट पर बेटे तेज video: रांची एयरपोर्ट पर बेटे तेज

रांची (झारखंड). लालू प्रसाद यादव के खिलाफ चारा घोटाले से जुड़े एक मामले पर आज यानी शनिवार को फैसला आएगा। यह केस देवघर का है। सीबीआई की स्पेशल कोर्ट इस मामले पर फैसला सुनाएगी। सुनवाई पहले ही पूरी हो चुकी है। राष्ट्रीय जनता दल (RJD) चीफ लालू बेटे तेजस्वी के साथ शुक्रवार को रांची पहुंचे। कोर्ट ने लालू समेत सभी आरोपियों को पेश रहने के ऑर्डर दिए हैं। फैसले से पहले लालू यादव ने कहा, "हमारा ज्यूडिशियरी में विश्वास है और हम उसका सम्मान करते हैं। हम बीजेपी की साजिश को कामयाब नहीं होने देंगे। जैसे 2जी और अशोक चव्हाण के मामले में हुआ, वैसा ही हमारा भी होगा।"

एयरपोर्ट पर लगे नारे

- लालू के रांची आने की सूचना मिलते ही RJD के कार्यकर्ता एयरपोर्ट पहुंच गए। उन्होंने नारेबाजी शुरू कर दी। एयरपोर्ट पर सिक्युरिटी स्टाफ ने दोनों नेताओं को बाहर निकाला।

नेताओं से नहीं की बात

- एयरपोर्ट से बाहर निकलते वक्त लालू गंभीर दिखे। उनके चेहरे पर तनाव दिख रहा था। वो किसी से बात करने के मूड में नहीं थे। लालू ने कई नेताओं और कार्यकर्ताओं से बात तक नहीं की। हालांकि कार्यकर्ताओं ने लालू से कहा कि वो चिंता ना करें।

- कुछ नेता लालू से बात करना चाहते थे लेकिन लालू सीधे गाड़ी में बैठे और चले गए। हालांकि, बाद में मीडिया से बातचीत की। कहा- मुझे न्यायालय पर पूरा भरोसा है। मैं बेगुनाह हूं और जनता RJD के साथ है।

- लालू ने कहा- मैं पहले भी जेल जा चुका हूं। उस वक्त भी बेटों ने पार्टी संभाली थी। इस बार भी अगर जेल जाना पड़ा तो बेटे पार्टी संभालने तैयार हैं।

सरकारी गाड़ी से परहेज

- झारखंड सरकार ने लालू के लिए बुलेट प्रूफ गाड़ी एयरपोर्ट भेजी थी, लेकिन उन्होंने इसका इस्तेमाल नहीं किया। वो दूसरी गाड़ी से रवाना हुए।

- बिहार से करीब 200 गाड़ियां रांची पहुंचीं। इनमें ज्यादातर RJD के कार्यकर्ता थे।


सिविल कोर्ट में होगी साल की आखिरी सुनवाई

- 2017 में सिविल कोर्ट में मामले की सुनवाई का आखिरी दिन शनिवार यानी 23 दिसंबर को है। 24 दिसंबर से दो जनवरी 2018 तक कोर्ट में क्रिसमस की छुट्टियां रहेंगी।
- साल की आखिरी सुनवाई के दिन सीबीआई के स्पेशल जज शिवपाल सिंह की अदालत ने लालू और बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्र समेत अन्य आरोपियों को कोर्ट में हाजिर होने को कहा है।

क्या है मामला ?

- यह मामला देवघर कोषागार (ट्रैजरी) से 1992 से 1994 के दौरान में फर्जी आवंटन पत्र और चालान पर 89 लाख रुपए निकालने से जुड़ा है। यह सरकारी पैसा था।

- चारा घोटाले में लालू पर कुल छह मामले दर्ज हैं। एक केस की पटना और पांच की रांची में सुनवाई चल रही है।

- शनिवार को जिस मामले पर फैसला आना है वो देवघर जिले का है। ये केस 1996 में दर्ज हुआ था।

- चाईबासा कोषागार से गलत तरीके से पैसा निकालने के मामले में लालू को सजा सुनाई जा चुकी है। वो फिलहाल जमानत पर हैं। तीन केस की सीबीआई कोर्ट में सुनवाई चल रही है।

900 करोड़ रुपए का था चारा घोटाला

- 1997 के जुलाई महीने में लालू प्रसाद पहली बार जेल गए थे। चारा घोटाले में 900 करोड़ रुपए के हेरफेर का आरोप है।

- इसी घोटाले में सजा हो जाने के कारण लालू प्रसाद को मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़कर जेल जाना पड़ा था।