--Advertisement--

लालू यादव

लालू यादव

Danik Bhaskar | Jan 08, 2018, 10:47 AM IST

रांची। चारा घोटाला मामले में साढ़े तीन साल की सजा सुनाए जाने के बाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ज्यादा समय तक गुमसुम बैठे रहे। इसी बीच रविवार को उन्हें बड़ी बहन की मौत की सूचना एक जेलकर्मी ने दी तो वो भावुक हो गए। लालू की आंखों में आंसू आ गए।

-लालू यादव के वकिल के अनुसार, उनकी ओर से सोमवार को पेरोल की मांग नहीं की जाएगी। डोरंडा ट्रेजरी से अवैध निकासी के मामले में सोमवार को होने वाली सुनवाई टल गई है। यदि कोई गवाह कोर्ट पहुंचता है, तो मंगलवार को लालू प्रसाद की पेशी हो सकती है।

-इधर, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने लालू यादव से जेल में मुलाकात की। उनका हालचाल जाना और वापस आ गए।

-वहीं, रविवार को लालू ने अपर डिवीजन में बंद कैदियों से भी बातचीत नहीं की। बाकि कैदियों ने कोशिश भी की पर वो नाकामयाब रहे।

-जेल सूत्रों के अनुसार, पहले सजा और एक दिन बाद ही बड़ी बहन के निधन की खबर ने लालू को काफी परेशान कर दिया।

आज हुआ अंतिम संस्कार

-राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की बहन गंगोत्री देवी के निधन की सूचना पर पूर्व सीएम राबड़ी देवी अपनी ननद के शोकाकुल परिवार के पास उनके वेटरनरी कॉलेज स्थित घर पर पहुंची।
-विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव भी फुआ को श्रद्धांजलि देने गए। राजद के प्रदेश कार्यालय सचिव चंदेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा कि 'लालू प्रसाद को सजा देने के सदमे से गंगोत्री देवी की जान गई।'
-'76 वर्षीय गंगोत्री देवी ने सजा से पहले कहा था कि लालू निर्दोष हैं। उन्हें सजा नहीं होगी।' वे लालू प्रसाद के छह भाइयों में एक मात्र बहन थी।
-उनके पार्थिव शरीर को पैतृक गांव गोपालगंज के चक्रपाणी ले जाया गया, जहां सोमवार को अंतिम संस्कार किया गया।