Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Girl Dead Body Recovered From Tree In Chakradharpur

मेले से लौट रही लड़की की ऐसे मिली लाश, फ्रेंड्स ने कहा-लड़के को देखते ही पहचान लेंगे

मेले से लौट रही लड़की की ऐसे मिली लाश, फ्रेंड्स ने कहा-लड़के को देखते ही पहचान लेंगे

Gupteshwar Kumar | Last Modified - Jan 30, 2018, 12:32 PM IST

चक्रधरपुर(झारखंड)। शहर से 12 किमी दूर कुलीतोड़ांग गांव के एक जंगल में पेड़ पर लटकी लड़की की लाश को 40 घंटे बाद चक्रधरपुर पुलिस ने सोमवार को उतारा। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर ने बताया कि मरने से पहले शारीरिक संबंध बनाया गया है। वहीं, लड़की के फ्रेंड्स ने बताया कि उसने मेले में एक लड़के के साथ बातचीत करने और गांव तक छोड़ने की बात बताई थी। उन्होंने कहा कि लड़के को देखेंगे तो पहचान लेंगे।

-27 जनवरी से युवती गायब थी। 28 जनवरी को पुलिस को खबर मिली और 29 जनवरी को पुलिस ने गांव जाकर दोपहर एक बजे पेड़ से लाश को उतारा।
-पुलिस इस मामले को सुसाइड बता रही है। जिस पेड़ पर युवती की लाश मिली, उसके ठीक नीचे पेड़ की जड़ के पास लड़की के चप्पल और मोजे रखे गए थे।
-बहरहाल लाश की बरामदगी के बाद अनुमंडल अस्पताल में पोस्टमार्टम हुआ है। पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर ने बताया है कि मरने से पहले शारीरिक संबंध बनाया गया है।
-मालूम हो कि युवती के पिता लेबेया जोंको ने बताया था कि उसकी बेटी के साथ रेप के बाद मर्डर हुआ है। वहीं, पुलिस प्रथम दृष्टया सुसाइड मान रही है।
-पोस्टमॉर्टम में लड़की के सीमंस का सैंपल लेकर रांची लैब में जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट से ही पता चलेगा कि मामला क्या है।

पूरी रात लाश की सुरक्षा के लिए ग्रामीणों को पेड़ के नीचे रहना पड़ा
-कुलीतोड़ाग गांव की किशोरी पागेला जोको (16) का शव गांव के ही सामू बोदरा के आसन नामक पेड़ की टहनी पर फंदा लगाकर लटकता हुआ पाया गया था।
-पिता लेबेया जोंको के अनुसार बेटी 26 जनवरी से गुड़ासाई गुलकेडा पंचायत के मेले में जा रही थी। वहीं, साथ में गांव के ही चार-पांच उसकी सहेलियां भी मेला गईं थीं। 27 जनवरी को भी मेला गई थी व रात्रि लगभग 11:30 बजे घर वापस आ गई।
-चक्रधरपुर थाना में गांव के डाकुआ महेश तांती व मुंडा नारायण जोंको के अलावा आजसू पार्टी के विधानसभा प्रभारी रामलाल मुंडा ने 28 जनवरी को सूचना दी थी। लेकिन पुलिस नहीं गई।
-ग्रामीण बताते हैं कि इसके कारण 28 जनवरी की पूरी रात लाश की सुरक्षा के लिए ग्रामीणों को पेड़ के नीचे रहना पड़ा। जंगल क्षेत्र होने व रात होने के कारण पुलिस नहीं गई।

-चक्रधरपुर के एसएसआई योगेंद्र मिश्रा ने कहा- प्रथम दृष्टया यह हत्या का मामला नहीं है, आत्महत्या है। वजह प्रेम-प्रसंग से इंकार नहीं किया जा सकता है। बाकि जांच चल रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×