--Advertisement--

भू-अर्जन ने दो दिन लगाया कैंप, अब रैयतों को भेजा जाएगा नोटिस

भू-अर्जन ने दो दिन लगाया कैंप, अब रैयतों को भेजा जाएगा नोटिस

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 05:26 PM IST
कैंप के दूसरे दिन बुधवार को मह कैंप के दूसरे दिन बुधवार को मह

रांची। कांटाटोली फ्लाईओवर के निर्माण में जमीन अधिग्रहण का मामला सुलझता नजर नहीं आ रहा है। रांची जिला भू-अर्जन कार्यालय की ओर से बहु बाजार रोड स्थित वाईएमसीए में लगाए गए कैंप के दूसरे दिन बुधवार को भी महज 10 रैयत पहुंचे। वहीं, मंगलवार को 40 रैयतों ने दावा पेश किया था।

महज 50 ने ही अब तक आवेदन दिया
-मालूम हो कि फ्लाईओवर निर्माण को लेकर जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है। इसको लेकर ही कैंप का आयोजन किया गया है। लेकिन, रैयतों ने कैंप का बहिष्कार कर रखा है। करीब 250 रैयतों की जमीन अधिग्रहित हो सकती है। लेकिन महज 50 ने ही अब तक आवेदन दिया है।


-इस संबंध में जिला भू-अर्जन के सीआई अनिल कुमार का कहना है कि रैयत कैंप में आकर अपना दावा पेश नहीं कर रहे हैं। इसलिए उन्हें नोटिस भेजकर कागजात जमा करने कहा जाएगा। जांच के बाद वास्तविक जमीन मालिक को मुआवजा राशि दिया जाएगा।


कैंप में शामिल नहीं होने के लिए बांटे गए पर्चे का दिखा असर
-मंगलवार को कैंप में शामिल होने के लिए रैयतों की ओर से पर्चे बांटे गए थे। बुधवार को भी इसका असर नजर आया। दरअसल पर्चे में लिखा था कि कांटाटोली फ्लाईओवर को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है। इसकी सुनवाई पूरी हो चुकी है।
-जबकि सरकारी तंत्र कोर्ट इससे पहले यह दिखाने की कोशिश कर रहा है कि अधिकतर लोग मुआवजा लेने को राजी हैं। वहीं, याचिका दायर करने वाले कैसर हसन का कहना था कि बार काउंसिल की चुनाव को लेकर कुछ परेशानी हुई है। बुधवार को याचिका पर सुनवाई नहीं हो सकी।

फोटो: सरफराज कुरैशी।