--Advertisement--

ऑन लाइन मार्केटिंग से ठगी का चल रहा था नेटवर्क, तीन युवक अरेस्ट

ऑन लाइन मार्केटिंग से ठगी का चल रहा था नेटवर्क, तीन युवक अरेस्ट

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 01:33 PM IST
महाराष्ट्र पुणे क्राइम ब्रां महाराष्ट्र पुणे क्राइम ब्रां

रामगढ़(झारखंड)। महाराष्ट्र पुणे क्राइम ब्रांच की साइबर सेल टीम ने रामगढ़ कॉलेज कॉलोनी में छापेमारी कर तीन युवकों को गिरफ्तार किया। इन युवकों पर आॅन लाइन मार्केटिंग के तहत ढाई लाख रुपए की ठगी करने का आरोप है। उनके पास से बरामद मोबाइल व सीम कार्ड से साइबर क्राइम का बड़ा खुलासा हुआ है। तीनों युवकों का नेटवर्क कई राज्याें से जुड़ा है।

-गिरफ्तार तीनों युवक बिहार के रहने वाले है। यहां, छात्र बनकर किराए के मकान में रह रहे थे। रामगढ़ पुलिस के साथ महाराष्ट्र साइबर सेल टीम नेटवर्क को लेकर जांच में जुट गई है।
-पुणे क्राइम ब्रांच की इंस्पेक्टर राधिका पाडके ने बताया कि पुणे के विशाल चौहान ने ढाई लाख रुपए की ऑन लाइन ठगी करने की शिकायत दर्ज कराई थी।
-मोबाइल नंबर को ट्रेस करने के साथ नेटवर्क से जुड़े लोगों का साइबर के तहत लोकेश लिया जा रहा था। इस बीच रामगढ़ से नेटवर्क संचालित होने का लोकेशन मिलने के बाद टीम पहुंची।
-यहां, रामगढ़ कॉलेज कॉलोनी में भुनेश्वर महतो के मकान में छापेमारी की गई। मकान के चार कमरों से तीन युवक सुबोध कुमार, जीतेंद्र कुमार और नलांदा कतरीसराय निवासी रोशन कुमार को गिरफ्तार किया गया।
-इनके कमरों से सीम के साथ 24 मोबाइल फोन, 22 सीम कार्ड, मापतौल का स्क्रैच कार्ड और कुरियर का फॉरमेट बरामद किया गया है। तीनों युवक ऑन लाइन मार्केटिंग के तहत लोगों से रुपए की ठगी कर रहे थे।
-इनसे जुड़े नेटवर्क की जानकारी हासिल की जा रही है। छापेमारी में रामगढ़ इंस्पेक्टर राजेश कुमार, एसआई अर्जुन उरांव के अलावा पुणे साइबर सेल टीम में इंस्पेक्टर राधिका पाडके, सब इंस्पेक्टर किरण आवटे सहित आठ पुलिस कर्मी शामिल थे।

युवकों ने छात्र बनकर चार कमरों को लिया था किराए पर
-गिरफ्तार युवकों ने पुलिस को बताया कि वे लोग रामगढ़ में खुद को छात्र बताकर 500-500 रुपए में चार कमरे किराया पर लिया था।
-यहां, वे लोग पिछले वर्ष के सितंबर से रह रहे थे। युवकों ने बताया कि बिहार जहानाबाद के जीतेंद्र कुमार और लखीसराय के रंजीत कुमार नेटवर्क चलाते हैं। सभी को छह हजार रुपए महीने पर काम पर रखा था।

ऐसे बनाते थे लोगों को ठगी का शिकार
-इंस्पेक्टर राधिका पाडके ने बताया कि गिरफ्तार युवकों का नेटवर्क कई राज्यों से जुड़ा हुआ है। झारखंड के कई जिलों में नेटवर्क को लेकर कार्रवाई की जाएगी।
-गिरफ्तार तीनों युवक व उसके नेटवर्क द्वारा लोगों को मोबाइल पर ऑन लाइन मार्केटिंग के तहत प्राइज जीतने का मैसेज भेजते हैं। वहीं, उनके पास कुरियर से स्क्रैच कार्ड भेजते थे।
-गिफ्ट व प्राइज के एवज में लोगों से एक अकाउंट में रुपए जमा करने को बोलते थे। ऐसे ही पुणे के विशाल चौहान ने ढाई लाख रुपए जमा कर दिए थे।
-इंस्पेक्टर राधिका पाडके ने बताया कि गिरफ्तार युवकों को रामगढ़ कोर्ट में पेश कर ट्रंजिट रिमांड मांगी जाएगी। रिमांड मिलने के साथ पुलिस तीनों युवकों को लेकर पुणे लेकर जाएगी।