--Advertisement--

सतर्कता समितियों के सदस्यों के साथ खाद्य मंत्री ने की बैठक, कहा- राशन जरूरतमंद व्यक्ति तक सही समय पर और सही मात्रा में पहुंचाएं अधिकारी

सतर्कता समितियों के सदस्यों के साथ खाद्य मंत्री ने की बैठक, कहा- राशन जरूरतमंद व्यक्ति तक सही समय पर और सही मात्रा में पहुंचाएं अधिकारी

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 05:58 PM IST
अधिकारियों के साथ मीटिंग करते अधिकारियों के साथ मीटिंग करते

रांची। खाद्य सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग के मंत्री सरयू राय की अध्यक्षता में बुधवार को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत गठित प्रदेश सतर्कता समितियों के सरकारी एवं गैर सरकारी मनोनीत सदस्यों की एक बैठक प्रोजेक्ट भवन के सभाकक्ष में हुई। बैठक में मंत्री ने कहा कि उपभोक्ता समिति की बहुत बड़ी भूमिका है। सरकार ने जरूरतमंद लोगों तक राशन पहुंचाने के लिए सारी व्यवस्था कर रखी है मगर जानकारी के अभाव और अधिकारियों के उदासीन रवैया के कारण गड़बड़ी हो रही है।

- सरकार का स्पष्ट निर्देश है कि कोई भी व्यक्ति कार्ड बनवाने अथवा राशन से संबंधित किसी भी समस्या के लिए आता है तो यह संबंधित जिला आपूर्ति पदाधिकारी की जिम्मेवारी है कि वह उसे सिर्फ सलाह देकर विदा न करें बल्कि उसकी मदद करे।

- मंत्री ने सतर्कता समिति के सदस्यों को कहा कि कहीं भी लापरवाही होती है तो इसकी सूचना दें। अधिकारियों का काम है कि राशन जरूरतमंद व्यक्ति तक सही समय पर और सही मात्रा में पहुंचे। जिसे भी कार्ड होने के बावजूद राशन नहीं मिलता वह संबंधित जिला के अपर समाहर्ता को लिखित शिकायत करें।

सरकार सतर्कता समितियों को संस्थागत स्वरूप प्रदान करना चाहती है

- मंत्री ने कहा कि सरकार सतर्कता समितियों को संस्थागत स्वरूप प्रदान करना चाहती है। सतर्कता समितियां जिले के स्तर पर उपभोक्ता संरक्षण परिषद के साथ मिलकर काम करें। उन्होंने कहा कि आप सब सरकार का अंग हैं।

- ऐसा कोई काम न करें, जिससे सरकार की बदनामी हो। आपकी जो भी शिकायत हैं सरकार उन्हें दूर करेगी। प्रदेश की सतर्कता समितियां जिलों में होने वाली बैठकों का ध्यान रखें।

- मंत्री ने यह भी बताया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम का क्रियान्वयन अब खाद्य निदेशालय करेगा। विभाग का काम सिर्फ नीतियां बनाना और इसकी मॉनिटरिंग करना रहेगा।

खाते-पीते लोगों का बीपीएल कार्ड बना है तो होगी कार्रवाई

- बैठक में उपस्थित साहेबगंज के विधायक अनंत ओझा ने अपने इलाके के 4200 परिवारों को राशन न मिलने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि उन्होंने पिछली बैठक में इस मुद्दे को उठाया था लेकिन जिला आपूर्ति कार्यालय इन लोगों का नाम लाभुकों की सूची में जोड़ने के प्रति काफी उदासीन है। तरह-तरह के बहाने बनाकर काम को लटकाया जा रहा है।

- बैठक में सदस्यों द्वारा यह कहे जाने पर कि कई खाते-पीते लोगों का BPL कार्ड बन गया है और लोग तो कारों में बैठकर राशन लेने आते हैं।

- विभागीय सचिव डॉ अमिताभ कौशल ने कहा कि ऐसे कार्डधारियों की सूची बनाकर दें, विभाग कार्यवाही करेगा और सूचना देने वालों का नाम गुप्त रखा जाएगा।

- मंत्री ने कहा कि खाद्य निदेशालय लाभुकों की जागरूकता के लिए 3x2 फुट का पोस्टर बनवा रहा है, इसमें उपभोक्ताओं के हक की पूरी जानकारी होगी। इसे हर राशन दुकान पर लगाना अनिवार्य होगा।

- बैठक में खाद्य निदेशक सुनील कुमार सिन्हा, विभाग के संयुक्त सचिव विनय कुमार राय समेत अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

फोटो : पवन कुमार।