--Advertisement--

लाठी-डंडे से पीट-पीटकर युवक की हत्या, जमीन विवाद में मर्डर की आशंका

लाठी-डंडे से पीट-पीटकर युवक की हत्या, जमीन विवाद में मर्डर की आशंका

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 01:59 PM IST
रोते-बिलखते परिजन। रोते-बिलखते परिजन।

गुमला(झारखंड)। सदर थाना क्षेत्र के बांगरू गांव में शनिवार की देर रात अज्ञात अपराधियों ने लाठी डंडे से पीट-पीटकर एक 30 वर्षीय युवक की हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी भाग निकले। हत्या के कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है। हालांकि जमीन विवाद में हत्या की आशंका जाहिर की जा रही है। सूचना के बाद रविवार को पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमाॅर्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। साथ ही घटना की तहकीकात में जुट गई।

चचेर भाई और भतीजे पर लगा आरोप

-युवक की पहचान सोहन उरांव के रूप में की गई। परिजन आरोप लगा रहे हैं कि जमीन हड़पने की नीयत से सोहन के चचेरे भाई जितवा उरांव व भतीजा अशोक उरांव ने हत्या की है। घटना के बाद से दोनों ही गांव से फरार है। मृतक की पत्नी ने दोनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी है।

कैसे हुई हत्या
-मृतक के चचेरे भाई कार्तिक उरांव ने बताया कि सोहन अपनी पत्नी व बच्चों के साथ गुमला में केओ कॉलेज के सामने किराए के मकान में रहकर मजदूरी करता था। शनिवार को गांव में सरहुल मनाया जा रहा था। साथ ही गांव के नाटू उरांव के पुत्र की रिसेप्शन पार्टी थी। सोहन यहां से करीब 9 बजे रात अपने घर की ओर लौट रहा था। इसी दौरान अज्ञात अपराधियों ने उसे अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद लाठी डंडे से पीट-पीटकर उसे मार डाला। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी भाग निकले।

-इधर, रविवार को सुबह ग्रामीणों ने उसका शव गांव के आखरा के सामने पाया। इसके बाद इसकी सूचना मुखिया व पुलिस को दी गई।

पत्नी को दी जाती थी धमकी

-कार्तिक ने बताया कि सोहन की पहली पत्नी के देहांत होने के बाद उसने एक विवाहित महिला को अपने साथ रखा था। इसके बाद से ही वह गुमला में रह रहा था। पहली पत्नी से एक व दूसरी पत्नी के दो बच्चे हैं। घटना की सूचना के बाद से पत्नी और बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है।

-सोहन की पत्नी द्वारा थाना में लिखित आवेदन देकर हत्या की एफआईआर दर्ज कराई गई है। दर्ज एफआईआर में उसने कहा है कि गांव की जमीन को हड़पने की नीयत से सोहन को उसके चचेरे भाइयों व भतीजा द्वारा अक्सर जान से मारने और इसके बाद पत्नी को घर से बाहर निकालने की धमकी दी जाती थी।

फोटो: आरिफ हुसैन अख्तर।