Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Murder Of Couple In Gumla Jharkhand.

गुमला

गुमला

Gupteshwar Kumar | Last Modified - Dec 17, 2017, 03:57 PM IST

गुमला (झारखंड)। पालकोट थाना क्षेत्र के खटगांव में ग्रामीणों ने रविवार को एक दंपती और उनकी एक बेटी की पीट-पीटकर हत्या कर दी। दंपती की दो बेटियां जख्मी हैं। इस घटना को बदले के रूप में देखा जा रहा है। दरअसल, दंपती की एक नाबालिग बेटी (जख्मी लड़कियों में से एक) अपने ब्वॉयफ्रेंड के संग घर से भाग कर रह रही थी। लड़की के जीजा ने युवक पर साली को अगवा कर लिए जाने की थाना में लिखित शिकायत की थी। पुलिस ने लड़के को गर्लफ्रेंड के साथ हिरासत में लिया। पर 25 नवंबर काे लड़का पुलिस हिरासत से भागने के दौरान कुएं में गिर गया और उसकी मौत हो गई। इसी घटना के बाद से ग्रामीण आक्रोशित थे और लड़की के परिजनों से नाराज थे।

-मृतकों में टहलू राम (65), लखपति देवी (55) और रुनी कुमारी (19) शामिल है। दो बेटियां जख्मी हैं। जख्मी लड़कियों में से एक मृतक की गर्लफ्रेंड थी। घटना के वक्त सभी खेत में काम कर रहे थे।
-लोगों के अनुसार, लड़की के जीजा को लेकर ग्रामीण पहले ही आक्रोशित थे। रविवार को किसी बात पर टहलू और लखपति से कहा-सुनी हो गई।
-इसके बाद कुछ ग्रामीणों ने मिलकर टहलू, उसकी पत्नी और बेटी की पीट-पीटकर जान ले ली। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

हिरासत में लिया तो महिलाओं ने पुलिस पर किया हमला
-देर शाम करीब साढ़े सात बजे गांव में कैंप कर रही पुलिस ने आधा दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। तभी कुल्हाड़ी से लैस महिलाओं ने पुलिस पर हमला कर दिया।
-पुरुषों ने पथराव किया। इसमें तीन जवान पवनवीर महतो, वीरेंद्र नाथ और अरविंद कुमार साहू घायल हो गए। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर उन्हें खदेड़ा।

पुलिस ने मीटिंग ऑर्गनाइज करवाई और खुद नहीं पहुंची
-23 वर्षीय नंदलाल केरकेट्टा की मौत के बाद से ही गांव का माहौल तनावपूर्ण था और ग्रामीण लड़की के परिजनों से बेहद नाराज थे।
-इसे लेकर पुलिस ने समझौता कराने के उद्देश्य से तीन बार गांव में मीटिंग ऑर्गनाइज करवाई। पर पुलिस खुद नहीं पहुंची। आखिरकार रविवार को ग्रामीणों का आक्रोश लड़की की बहन और उसके परिजनों पर फूट पड़ा।

मौत के बाद एएसआई की ग्रामीणों ने की थी पिटाई
- 25 नवंबर को नंदलाल केरकेट्टा की मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने थाने पर हमला बोल दिया था। एएसआई प्रदीप मेहता की ग्रामीणों ने पकड़ कर चप्पल जूते से पिटाई कर दी थी।
-इसके बाद ग्रामीणों ने थाना प्रभारी के चैंबर में घुसकर टेबल कुर्सी तोड़ दिया। थाना के अंदर घंटों हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा। सड़क जाम भी लगाया। इसके बाद आईआरबी के जवानों ने मोर्चा संभाला। तब ग्रामीण पीछे हटे।

शौच जाने की बात कह कर थाना से भागने लगा था नंदलाल
-दोनों प्रेमी-प्रेमिका को थाना में बैठा कर पुलिसिया पूछताछ जारी थी। तभी दोपहर करीब 12 बजे नंदलाल ने शौच जाने की बात कही।
-वह शौच के लिए अकेला थाना के बाहर निकला इसके बाद भागने लगा। जवानों ने उसका पीछा किया। नंदलाल ने पुलिस से बचने के लिए थाना से 200 गज दूर स्थित गांधीनगर के एक कुएं में छलांग लगा दी।
-इधर, पुलिस लड़के को किसी प्रकार कुआं से निकाल कर पालकोट अस्पताल स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंची। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

फोटो : आरिफ हुसैन अख्तर/वीडियो: अनिल कुमार।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×