Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» National Health Mission Banner In Dead Body Dumka

'राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन' का कफन, फैमिली के पास पैसे नहीं थे तो किया ऐसा

पहाड़िया जनजाति विलुप्ति के कगार पर है। इसे बचाने के लिए सरकार सालाना करोड़ों खर्च कर रही है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 28, 2018, 11:12 AM IST

  • 'राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन' का कफन, फैमिली के पास पैसे नहीं थे तो किया ऐसा
    +4और स्लाइड देखें
    अस्पताल के कर्मचारियों ने कफन की जगह शव को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन का बैनर ओढ़ा दिया।

    दुमका (झारखंड)। पहाड़िया जनजाति विलुप्ति के कगार पर है। इसे बचाने के लिए सरकार सालाना करोड़ों खर्च कर रही है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, जिसके दम पर सरकार सबको स्वास्थ्य की गारंटी दे रही है। दोनों की सच्चाई एक तस्वीर में नजर आ रही है। शनिवार को दलदली गांव के बसंत देहरी की एक्सीडेंट के बाद सदर अस्पताल में मौत हो गई। परिजनों के पास कफन के पैसे नहीं थे। अस्पताल के कर्मचारियों ने कफन की जगह उसे राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन का बैनर ओढ़ा दिया। यानी, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ही कफन बन गया।


    -दरअसल, काठीकुंड से लौटने के दौरान सड़क हादसे में तीन युवक घायल हो गए, जिन्हें दुमका सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया।
    -वहीं, इलाज के दौरान गोपीकांदर स्थित दलदली गांव निवासी आदिम जनजाति समुदाय के बसंत देहरी की मौत हो गई।

    -उसकी मौत शनिवार की दोपहर तीन बजे हुई, जिसका शव पांच बजे तक अस्पताल में यूं ही पड़ा रहा।
    -उसके परिजन गरीब है, जिसके कारण वे कफन की व्यवस्था नहीं सके। इसके बाद दुमका स्वास्थ्य विभाग ने कफन के बदले प्रचार के लिए लगे बैनर में लपेट कर पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा दिया।
    -इधर, स्वास्थ्य विभाग के इस कार्य को कई राजनीतिक दलों ने तीव्र आलोचना कर पूरे प्रकरण की जांच की मांग की है।
    -वहीं, अस्पताल उपाधीक्षक दिलीप केशरी ने बताया कि हमें इसकी जानकारी नहीं है। कहा कि सरकार द्वारा कफन उपलब्ध नहीं कराया जाता है।


  • 'राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन' का कफन, फैमिली के पास पैसे नहीं थे तो किया ऐसा
    +4और स्लाइड देखें
    पोस्टमार्टम के लिए लाया गया शव।
  • 'राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन' का कफन, फैमिली के पास पैसे नहीं थे तो किया ऐसा
    +4और स्लाइड देखें
    परिजनों के पास कफन के पैसे नहीं थे। इसलिए कपन की जगह बैनर ओढ़ा दिया गया।
  • 'राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन' का कफन, फैमिली के पास पैसे नहीं थे तो किया ऐसा
    +4और स्लाइड देखें
    अस्पताल के कर्मचारियों ने कफन की जगह लाश पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन का बैनर ओढ़ा दिया।
  • 'राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन' का कफन, फैमिली के पास पैसे नहीं थे तो किया ऐसा
    +4और स्लाइड देखें
    परिजनों ने बताई पूरी कहानी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ranchi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: National Health Mission Banner In Dead Body Dumka
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×