रांची

--Advertisement--

नेतरहाट में शत प्रतिशत सीटों पर हुआ दाखिला, आज से चलेगी क्लास

नेतरहाट में शत प्रतिशत सीटों पर हुआ दाखिला, आज से चलेगी क्लास

Danik Bhaskar

Mar 11, 2018, 06:54 PM IST
भाजपा की ओर से समीर उरांव व प्र भाजपा की ओर से समीर उरांव व प्र

रांची। झारखंड से राज्यसभा की दो सीटों के लिए होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए सोमवार को तीन प्रत्याशियों ने दो-दो सेटों में अपना नामांकन दाखिल किया। भाजपा ने समीर उरांव और प्रदीप कुमार सोंथालिया को जहां चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं, कांग्रेस ने धीरज साहु को। भाजपा प्रत्याशियों के नामांकन में मुख्यमंत्री रघुवर दास, प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, संगठन महामंत्री धर्मपाल जी सहित कई अन्य नेता कार्यकर्ता उपस्थित थे। वहीं, कांग्रेस प्रत्याशी के नामांकन में प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार बलमुचू के अलावा झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन व अन्य विधायक नेता भी उपस्थित थे।

झाविमो से कोई विधायक प्रस्तावक नहीं बना
-सबसे दिलचस्प यह रहा कि कांग्रेस प्रत्याशी धीरज साहु द्वारा दो सेटों में दाखिल किये गए नामांकन में झाविमो का कोई विधायक प्रस्तावक नहीं बना है। नामांकन दाखिल करने में झाविमो का कोई बड़ा नेता और विधायक भी उपस्थित नहीं हुआ। 13 मार्च को स्क्रूटनी और 15 मार्च तक नामांकन पत्र वापस लिए जा सकेंगे। 23 मार्च को मतदान और मतदान की समाप्ति के बाद मतगणना होगी।

भारी बहुमत से जीतेंगे: रघुवर दास
-भाजपा प्रत्याशियोंं के नामांकन दाखिल करने के बाद मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि पार्टी ने प्रदेश उपाध्यक्ष व अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश प्रभारी समीर उरांव को राज्यसभा चुनाव में पहली सीट के लिए प्रत्याशी बनाया है। उरांव जमीन से जुड़े रहे हैं। फिर पार्टी कार्यकर्ता प्रदीप सोंथालिया को दूसरी सीट के लिए प्रत्याशी बनाया गया है। -उन्होंने कहा कि एनडीए को जय भारत समानता पार्टी, नौजवान संघर्ष मोर्चा सहित अन्य दलों का समर्थन प्राप्त है। अंकगणित के आधार पर भाजपा प्रत्याशियों की भारी जीत होगी।

कौरव सौ थे लेकिन पांडव पांच ही थे : समीर उरांव
-भाजपा प्रत्याशी समीर उरांव ने कहा कि कौरव सौ थे जबकि पांडव पांच। आत्म विश्वास ने पांडवों को जीत दिलाई। इसलिए भाजपा के दूसरे प्रत्याशी को लेकर कोई संशय नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा- वह हमेशा पार्टी संगठन से जुड़े रहे हैं। संगठन का काम करने पर वह सम्मान देता ही है। राजनीति में पक्ष-विपक्ष की बात होती ही है। यह राजनीति का काम है। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी ने एक साधारण कार्यकर्ता को टिकट देकर जनजातीय समुदाय का मान भी बढ़ाया है। उन पर भरोसा करने के लिए वह पार्टी के बड़े नेताओं के प्रति आभारी हैं।

सात विधायकों पर कांग्रेस एक उम्मीद दे सकती है तो भाजपा के पास तो 46-47 हैं : सोंथालिया
भाजपा प्रत्याशी प्रदीप कुमार सोंथालिया ने हॉर्स ट्रेडिंग से इंकार करते हुए कहा कि जब सात विधायकों वाली कांग्रेस एक प्रत्याशी दे सकती है तो 46-47 विधायकों के साथ भाजपा दो उम्मीदवार क्यों नहीं। आंकड़े का जुगाड़ कहां से होगा, जैसे सवालों पर उन्होंने आगे कहा कि विधायक अपनी अंतरआत्मा की आवाज पर राज्य हित में वोट करेंगे। भाजपा के आदेश पर वह चुनाव लड़ रहे हैं। पार्टी ही अब सब कुछ डिसाइड करेगी। एक सवाल पर उन्होंने स्वीकार किया कि वह एक व्यापारी हैं लेकिन इथिक्स के साथ अपना व्यवसाय करते हैं। टिकट दिए जाने के लिए उन्होंने भाजपा व इसके बड़े नेताओं के प्रति अभार व्यक्त किया।

प्रदीप कुमार सोंथालिया के प्रस्तावक
-प्रदीप कुमार सोंथालिया ने दो सेटों में नामांकन दाखिल किया। प्रत्येक सेट में 10-10 विधायक प्रस्तावक बने। उनमें योगेश्वर महतो, मेनका सरदार, लक्ष्मण टुडू, सत्येंद्र नाथ तिवारी, शिवशंकर उरांव, जय प्रकाश सिंह भोक्ता, राज सिन्हा, जानकी प्रसाद यादव, नागेंद्र महतो, आलोक चौरसिया, गीता कोड़ा, जीतू चरण राम, नवीन जायसवाल, नारायण दास, गंगोत्री कुजूर, हरेकृष्ण सिंह, नीलकंठ सिंह मुंडा, राधाकृष्ण किशोर, विरंची नारायण और अनंत ओझा शामिल हैंं।

समीर उरांव के प्रस्तावक
-समीर उरांव ने दो सेटों में नामांकन दाखिल किया। प्रत्येक सेट में 10-10 विधायक प्रस्तावक बने। उनमें रघुवर दास, लुईस मरांडी, चंद्र प्रकाश चौधरी, रामचंद्र चंद्रवंशी, अमर कुमार बाउरी, रणधीर कुमार सिंह, सीपी सिंह, विकास कुमार मुंडा, भानू प्रताप शाही, रामकुमार पाहन, अनंत कुमार ओझा, राधाकृष्ण किशोर, राज पालिवार, विरंची नारायण, केदार हाजरा, नीरा यादव, निर्भय कुमार शाहाबादी, अमित मंडल, जेपी वर्मा और विमला प्रधान।


दो सेट में किया नामांकन
-कांग्रेस नेता और विपक्ष की ओर से राज्य सभा चुनाव के लिए साझा प्रत्याशी बनाए गए धीरज प्रसाद साहू ने दो सेटों में नामांकन किया। दोनों सेटों में अलग अलग बीस विधायकों ने प्रस्तावक के रूप में हस्ताक्षर किया है। धीरज साहू ने पहला नामांकन 12.40 मिनट पर किया और दूसरे नामांकन 12.41 बजे किया।

पहले सेट में ये रहे प्रस्तावक
-पहले सेट के नामांकन फार्म पर प्रस्तावक के रूप में हस्ताक्षर करने वाले विधायकों में आलमगीर आलम , सुखदेव भगत,कुशवाहा शिवपूजन मेहता, कुणाल षाड़गी, जय प्रकाश भाई पटेल, जोबा मांझी, मनोज यादव, डॉ. इरफान अंसारी, देवेंद्र कुमार सिंह, नलिन सोरेन के नाम शामिल हैं।

दूसरे सेट में ये रहे प्रस्तावक
-दूसरे सेट के नामांकन फार्म पर प्रस्तावक के रूप में में हस्ताक्षर करने वाले विधायकों में चंपई सोरेन, जगन्नाथ महतो, दीपक बिरुआ, दशरथ गागराई, अमित कुमार, चमरा लिंडा, शशिभूषण सामद, स्टीफन मरांडी, रविंद्र नाथ महतो और हेमंत सोरेन के नाम शामिल हैं।

फोटो: जितेंद्र कुमार।

Click to listen..