--Advertisement--

मुखिया हत्या के विरुद्ध उबला आक्रोश, छह घंटे जाम रहा रोड

मुखिया हत्या के विरुद्ध उबला आक्रोश, छह घंटे जाम रहा रोड

Danik Bhaskar | Jan 21, 2018, 06:23 PM IST
मुआवजे की मांग पर सड़क जाम करते मुआवजे की मांग पर सड़क जाम करते

चतरा (झारखंड)। गजवा मुखिया चंद्रिका यादव की हत्या के विरोध में रविवार को प्रतापपुर में लोगों ने शव को सड़क पर रख मुआवजे की मांग की और रोड जाम कर दिया। इससे प्रतापपुर-हंटरगंज, प्रतापपुर-जोरी, प्रतापपुर-कुंदा व प्रतापपुर-पलामू सड़क पर आवागमन बाधित हो गया। हालांकि पुलिस-प्रशासन के आश्वासन पर करीब 6 घंटे बाद जाम हटा लिया गया।

-बताते चलें कि शनिवार की शाम गजवा-प्रतापपुर के बीच शेषगड़ा के पास चंद्रिका यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

-वे गजवा स्थित पंचायत भवन में बैठक करने के बाद बाइक से वापस प्रतापपुर लौट रहे थे। इसी दौरान पहले से घात लगाए हथियारबंद लोगों ने उन्हें गोली मार दी थी।

-मृतक के परिजन और आक्रोशित लोगों ने 10 लाख रुपए मुआवजा, परिवार के एक सदस्य को नौकरी और हत्यारों को 12 घंटे के अंदर गिरफ्तार करने की मांग की।
-घटना की सूचना पाकर जेवीएम नेता नीलम देवी, पूर्व मंत्री सत्यानंद भोक्ता और आजसू नेता अशोक गहलौत भी प्रतापपुर पहुंचे।
-मृतक के पुत्र दीपक कुमार यादव ने जिला प्रशासन से हथियार का लाइसेंस देने की भी मांग की। उनका कहना था कि उसकी भी हत्या की जा सकती है।
-आत्मसुरक्षा के लिए हथियार जरूरी है। जामस्थल पर भारी भीड़ थी। आसपास के गांवों से काफी संख्या में लोग पहुंचे थे। सभी लोग मारे गए चंद्रिका यादव के पक्ष में नारे लगा रहे थे।
-घटना के बाद से प्रतापपुर बाजार भी बंद कर दिया गया। जाम की सूचना मिलने के बाद चतरा एसडीओ राजीव कुमार मिश्रा और डीएसपी पीतांबर खरवार प्रतापपुर पहुंचे।
-उन्होंने मृतक के आश्रितों को दो लाख रुपए मुआवजा, 24 घंटे के भीतर हत्यारों को गिरफ्तार करने और परिवार के एक सदस्य को नौकरी के लिए उच्चाधिकारियों से बातचीत करने का आश्वासन दिया।
-इस आश्वासन पर करीब 11 बजे जाम हटा लिया गया। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए चतरा भेज दिया।

हत्या के विरुद्ध पूर्व विधायक सहित 13 पर एफआईआर

चंद्रिका यादव की हत्या के विरुद्ध पुत्र दीपक कुमार के आवेदन पर प्रतापपुर थाना में पूर्व विधायक जनार्दन पासवान सहित 13 नामजद लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है।