--Advertisement--

टीपीसी व न्यू एसपीएम उग्रवादी संगठन के हथियारबंद दस्ता के दो सदस्य गिरफ्तार

टीपीसी व न्यू एसपीएम उग्रवादी संगठन के हथियारबंद दस्ता के दो सदस्य गिरफ्तार

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 07:40 PM IST
टीपीसी सह जेजेएमपी उग्रवादी व टीपीसी सह जेजेएमपी उग्रवादी व

हजारीबाग (झारखंड)। यहां के बड़कागांव थाना व उरीमारी ओपी पुलिस ने अलग- अलग कार्रवाई कर दो उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक उग्रवादी बड़कागांव थाना क्षेत्र के सेहदा गांव का विजय करमाली है। विजय टीपीसी उग्रवादी संगठन का हथियारबंद दस्ता का सक्रिय सदस्य है, जो वर्तमान में पुराने दोस्त अनिल भुईंया के संपर्क में आकर जेजेएमपी संगठन के लिए भी काम करता रहा है। वहीं दूसरा उग्रवादी चतरा के पत्थलगडा थाना क्षेत्र के जोरी मेराल गांव का मनोज भोक्ता उर्फ मंटू न्यू एसपीएम संगठन का सदस्य है। अपहरण कर हत्या का अभियुक्त है विजय...

- विजय उरीमारी के लुरुंगा निवासी लालबहादुर साव का अपहरण कर उसकी हत्या करने के कांड का अभियुक्त है, जबकि मंटू न्यू एसपीएम नामक आपराधिक संगठन बना कर लेवी और रंगदारी वसूलने का अपराध करता है। इनके पास से पुलिस ने हथियार बरामद किया है। यह जानकारी एसपी अनूप बिरथरे ने बुधवार को पत्रकारों को दी।

- एसपी ने बताया कि दोनों की गिरफ्तारी पुलिस के लिए अहम है क्योंकि इनसे पुलिस को कई आपराधिक क्लू और आंतरिक इतिहास हाथ लगे हैं। हासिल हुए जानकारी से कई गंभीर कांडों में अनुसंधान बेहतर और त्वरित हो सकेगा। वहीं इनके कई ग्रुप के सदस्य जो पर्दे के पीछे से सपोर्ट करते हैं उन्हें भी गिरफ्त में लिया जा सकेगा।


किसके पास से क्या मिला

- टीपीसी सह जेजेएमपी उग्रवादी विजय करमाली के पास से पुलिस को कुछ भी नहीं मिला, जबकि न्यू एसपीएम उग्रवादी मनोज भोक्ता उर्फ मंटू के पास से एक देशी पिस्तौल, एक देशी कट्टा, छह चक्र गोली, एक अपाचे मोटरसाइकिल, चार मोबाइल और सात सिम कार्ड बरामद किया गया।

आपराधिक इतिहास

- एसपी बिरथरे ने बताया कि विजय करमाली ने अपने सहयोगी सोरेन, मनमोहन, नीतेश, प्रमुख, जगु गंझू, मनोज महतो के साथ मिलकर 16 मार्च 2017 को रात में लुरुंगा निवासी लालबहादुर साव का अपहरण कर लिया था, फिर उसकी हत्या कर दी थी।

- इस संबंध में उरीमारी में कांड दर्ज है, जबकि जून 2017 में अपने उक्त सहयोगियों के साथ मिलकर चरही रेलवे साइडिंग में गोली चलाई थी और पोस्टर चिपकाया था। इस संबंध में चरही थाना में दो कांड दर्ज हैं।

- इसके अलावा बड़कागांव में 2 मार्च 2013 को कोलमाइन्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। रामगढ़ के मांडू थाना में इसके विरुद्ध आर्म्स एक्ट व 17 सीएलएएक्ट के तहत दो मामले दर्ज हैं।

- विजय पांच गंभीर कांडों का अभियुक्त है, जबकि न्यू एसपीएम उग्रवादी मंटू के विरुद्ध बड़कागांव, सिमरिया व राजपुर थाना में आर्म्स एक्ट व 17 सीएलएएक्ट के तहत अलग अलग कांड दर्ज है।

ऐसे हुई गिरफ्तारी

- एसपी ने बताया कि विजय करमाली लुरूंगा में अपराध करने की नियत से पहुंचा था। इसकी सूचना ओपी प्रभारी परमानन्द मेहरा को मिली। उन्होंने मंगलवार को घेर कर गिरफ्तार किया।

- इनके साथ सअनि मंगरा मुंडा, एसएसबी कंपनी का जवान व रिजर्व बल शामिल थे। वहीं मंटू की गिरफ्तारी मोटरसाइकिल चेकिंग के दौरान मंगलवार को शाम में बड़कागांव रोड में कर्णपुरा कॉलेज गेट के पास से हुई। इसके साथ और दो उग्रवादी थे जो भागने में सफल रहे।

- एसपी ने कहा कि संगठन के नाम पर तीनों लेवी वसूली करने बड़कागांव की ओर आ रहे थे। इस कार्रवाई में प्रशिक्षु डीएसपी पवन कुमार एसएसबी के सहायक कमांडेंट तारनी कुमार हंस, एसआई अकिल खान, सअनि सरोज कुमार सिंह व सैट एक के बल और जिला बल शामिल थे। टीम में शामिल सभी लोगों को एसपी पुरस्कृत करेंगे।