--Advertisement--

एक-दूसरे पर छिड़कते थे दोनों जान, पढ़िए लव से मौत तक की पूरी कहानी

एक-दूसरे पर छिड़कते थे दोनों जान, पढ़िए लव से मौत तक की पूरी कहानी

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 12:51 PM IST
प्रेमी जोड़े की फाइल फोटो। प्रेमी जोड़े की फाइल फोटो।

धनबाद(झारखंड)। भूली ओपी क्षेत्र में 9 जनवरी को हुई खुशबू की संदिग्ध मौत मामले में अब नया मोड़ आ गया है। खुशबू के ब्वॉयफ्रेंड(मृत) के पिता ने इसे साजिश करार दिया है। उन्होंने एसएसपी को लिखित शिकायत भी की है। उनका कहना है कि बेटे की हत्या में खुशबू मुख्य गवाह थी। गवाही से रोकने के लिए उसकी फैमिली ने खुशबू को भी मार डाला। खुशबू के ब्वॉयफ्रेंड योगेश की 19 नवंबर को हत्या कर दी गई थी। योगेश और खुशबू के कुछ दोस्तों के अनुसार दोनों एक-दूजे पर जान छिड़कते थे। क्या है मामला...

-19 नवंबर 2017 को BF योगेश की लाश दुग्धा में रेलवे पटरी पर मिली थी। 9 जनवरी 2018 को उसकी GF खुशबू की जली हुई लाश मामा के किचन में मिली।
-पहले प्रेमी और अब प्रेमिका की हुई संदिग्ध मौत ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। मृतका खुशबू पिछले एक माह से भूली स्थित अपने मामा के घर में रह रही थी।
-मंगलवार सुबह 5 बजे खुशबू की नानी किचन में माचिस लाने गई तो उसे खुशबू जली हुई अवस्था में मृत मिली। घटना की जानकारी भूली ओपी को दी गई।
-घरवालों ने पुलिस को बताया कि खुशबू अपने प्रेमी योगेश की मौत के बाद गुमसुम रहती थी। उसने सोमवार की रात किचन में आग लगाकर जान दे दी।

ऐसी थी इनकी लव स्टोरी
-उनके दोस्तों ने बताया हर सुबह की शुरुआत दोनों की मिलन से ही होती थी। इनकी दोस्ती की मिशाल हम लोग दिया करते थे। दोनों एक दूसरे को खूब अच्छी तरह समझते थे।
-खुशबू-योगेश की प्रेम कहानी पुटकी के उस मुहल्ले में चर्चित हो गई है, जहां दोनों एक-दूसरे के पड़ोसी थे। दोनों को जानने वाले कहते हैं कि तीन सालों तक इनका प्रेम समाज से छुपा रहा।
-दोनों को खिड़की पर आने का बस बहाना चाहिए था। एक दीदार के लिए दोनों तड़पते थे। योगेश के दोस्त बताते हैं कि खुशबू को लेकर वह कुछ लोगों से ही बात करता था।
-15 नवंबर 2017 को दोनों ने अपने प्यार को जग जाहिर कर दिया था। दोनों का परिवार विरोध में खड़ा हो गया। योगेश और खुशबू दोनों ने घर छोड़ दिया।
-दोनों भाग कर रांची पहुंच गए। दो दिन हुए होंगे, खुशबू के परिवार वालों ने उन्हें ढूंढ़ निकाला। वे खुशबू को जबरन धनबाद ले आएं।
-इधर, 19 नवंबर 2017 को योगेश की मौत की खबर खुशबू को मिली। दुग्धा स्थित रेलवे लाइन पर योगेश मरा पड़ा था। योगेश के परिवार वालों ने खुशबू के परिवार पर हत्या की एफआईआर दर्ज कराई।
-खुशबू के पिता, चाचा और फुफेरा भाई तेनुघाट जेल में हैं। योगेश की मौत के बाद खुशबू अकेली थी। वह तन्हा थी। योगेश अब सिर्फ उसकी यादों में था।
-अब घर की खिड़की से योगेश नजर नहीं आता था। घर वालों ने उसका मन बदलने के लिए उसकी जगह बदल दी। उसे मामा के भूली स्थित घर पहुंचा दिया गया।
-दुग्धा पुलिस की मानें तो योगेश की हत्या के मामले में खुशबू महत्वपूर्ण गवाह थी। शायद वह योगेश को लेकर अपने परिवार के खिलाफ गवाह थी।
-पुलिस उसकी गवाही कराना चाहती थी, पर वह ऐसा कर ना सकी। 8 जनवरी 2018 की रात खुशबू की भी संदिग्ध मौत हो गई।

X
प्रेमी जोड़े की फाइल फोटो।प्रेमी जोड़े की फाइल फोटो।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..