Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Jharkhand Samman Samaroh 2017

मुख्यमंत्री ने झारखंड सम्मान समारोह २०१७ में भाग लिया , सामाजिक दायित्व का निर्वहन करने वाले १७ लोग सम्मानित हुए

मुख्यमंत्री ने झारखंड सम्मान समारोह २०१७ में भाग लिया , सामाजिक दायित्व का निर्वहन करने वाले १७ लोग सम्मानित हुए

Pawan Kumar | Last Modified - Nov 14, 2017, 05:49 PM IST

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मंगलवार को प्रोजेक्ट भवन स्थित नया सभागार में झारखंड सम्मान समारोह 2017 में विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा काम करने वाले 17 लोगों को सम्मानित किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि आप सभी अपने सामाजिक उत्तरदायित्व को समझा और देश, राज्य और समाज की बेहतरी में योगदान दिया। ऐसे उत्तरदायित्व का एहसास अगर प्रत्येक व्यक्ति को हो तो देश, राज्य व समाज में बदलाव स्वतः परिलक्षित होगा।
18 हजार अनाथ बच्चों को प्रशिक्षित कर रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा
सीएम ने कहा कि 2 दिन पूर्व ही राज्य सरकार ने खेल के क्षेत्र में राज्य का नाम राष्ट्रीय और अंतरराष्‍ट्रीय स्तर पर करने वालों को सम्मानित किया है। सीएम ने कहा कि राज्य सरकार एक योजना के साथ कार्य कर रही है।
झारखंड में चिन्हित 18000 अनाथ बच्चों को कौशल विकास के माध्यम से प्रशिक्षित कर रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा ताकि ऐसे अनाथ बच्चें गलत रास्ते पर ना जाये। हमें शहीदों के सपनों का झारखंड बनाना है। सरकार की शक्ति और जनशक्ति मिलकर संपन्न राज्य का निर्माण कर सकती है, और तभी हम न्यू इंडिया, न्यू झारखंड का निर्माण कर सकेंगे।
दास ने कहा कि झारखंड के पास सब कुछ है जरूरत थी एक स्थित सरकार की जिसे राज्य की जनता ने दिया। सरकार 20:20 तक गरीबी उन्मूलन का लक्ष्य निर्धारित किया है और आधारभूत संरचनाओं से लेकर व्यक्ति की मूलभूत आवश्यकताओं को हम पूरा करेंगे।

उग्रवाद के विरुद्ध निर्णायक लड़ाई
मुख्य सचिव राजबाला वर्मा ने कहा कि पानी में पत्थर फेंकने से जैसे तरंगें उठती हैं, उसी तरह हम सब अपने कार्य से ऐसी तरंगों को दूर तक फैलाएं जो लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बनें। आप सभी ने राज्य के विकास यज्ञ में झारखंड के नवनिर्माण यज्ञ में अपना अविस्मरणीय योगदान दिया है। हर व्यक्ति को समाज और राज्य निर्माण में योगदान देना चाहिए। झारखंड के विभूति आज हम सबके सामने हैं, जिन्होंने अपने कर्म से समाज में परिवर्तन लाने का प्रयास किया है।
मुख्य सचिव ने बताया कि राज्य सरकार सभी प्रक्षेत्रों में योजना बनाकर कार्य कर रही है। ग्रामीण विकास के लिए 5000 किलोमीटर ग्रामीण सड़क का निर्माण, पेयजल, समाज कल्याण, स्वास्थ्य, शिक्षा व अन्य क्षेत्रों में तेजी से कार्य हुए हैं। विकास का लाभ जन-जन तक पहुंचा है। इस विकास ने नई ऊर्जा, शक्ति और उत्साह दिया है। नई ऊंचाइयों व नई बुलंदियों को छूने की। झारखंड के लिए उग्रवाद चुनौती थी। राज्य ने उग्रवाद का दंश झेला था, लेकिन वर्तमान में हम उग्रवाद के विरुद्ध निर्णायक लड़ाई लड़ रहे हैं। कानून व्यवस्था, शांति व्यवस्था कायम हो इसके लिए पंचायत, गांव, जिला और राज्य स्तर पर कार्य किया जा रहा है, आने वाला दिन हर झारखंड वासियों के लिए खुशहाल हो इसका प्रयास राज्य सरकार कर रही है।

विकास आयुक्त अमित खरे ने कहा कि किसी भी देश समाज की प्रगति वहां के प्रबुद्ध लोगों से होता है, तात्पर्य ऐसे प्रबुद्ध लोग अपनी कला, अपने कार्य से रौशनी फैलाते हैं और समाज को और रौशन करते हैं। यह मानव संसाधन ही हमारी सही मायने में सबसे बड़ी पूंजी है जो समाज के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस रौशनी से प्रेरणा लेकर कार्य की ओर हम सब को अग्रसर होना चाहिए। सरकार, समाज व व्यक्ति जब एक दिशा में आगे बढ़ेंगे तभी राज्य का विकास होगा।
इन लोगों को किया गया सम्मानित

सम्मान समारोह में कुल 17 लोगों को सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में पूर्व महिला हॉकी खिलाड़ी दयामणि सोए और विश्वासी पूर्ति को खेल में, पंडित विश्वजीत राय चौधरी को संगीत में, शशिधर आचार्य को नृत्य में, प्रवीण कर्मकार, तरुण कुमार सिंह और अवनींद्र कुमार सिंह को स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता में, दोरोथिया केरकेट्टा को स्वच्छ भारत मिशन में, सिदो हांसदा को ग्रामीण जलापूर्ति योजना में, योगेश कुमार सिंह को गव्य विकास में, डॉ अनंत कुमार सिन्हा को चिकित्सा में, अवधेश पांडे को कौशल विकास में, जगदीश महतो को ग्राम वन प्रबंधन एवं संरक्षण में, महादेव महतो को वन्य जीव संरक्षण में, अंजलि पिंगुआ, सुधा लीला और गंदुरा उरांव को राज्य सरकार ने एक लाख रुपए, अंगवस्त्र, प्रशस्ति पत्र और भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा प्रदान कर सम्मानित किया।

कार्यक्रम में प्रधान सचिव मंत्रिमंडल सचिवालय एस जी के रहाटे ने स्वागत भाषण और पर्यटन सचिव राहुल शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। सम्मान समारोह में डीजीपी दिनेश कुमार पांडे, अपर मुख्य सचिव वन एवं पर्यावरण इंदुशेखर चतुर्वेदी और विभिन्न विभागों के सचिव व अधिकारी मौजूद थे।
आगे की स्लाइड्स पर देखें संबंधित PHOTOS :
फोटो : पवन कुमार।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×