Hindi News »Jharkhand News »Ranchi »News» Restriction On Whistle Play In Koderma Wildlife Century, Illegal Quarrying Happening At

यहां सीटी बजाने पर भी है प्रतिबंध, जंगल पहुंचे DC-SP तो दिखा ऐसा हाल

dainikbhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 01:02 PM IST

विभाग के आकड़ों पर अगर गौर करें तो 1993 से सिसिरवा में अवैध उत्खनन की सूचना है।
  • यहां सीटी बजाने पर भी है प्रतिबंध, जंगल पहुंचे DC-SP तो दिखा ऐसा हाल
    +5और स्लाइड देखें
    अवैध उत्खनन करने वाले जंगल में वन कर्मियों और पुलिस से निगरानी के लिए बना रखे हैं मचान।
    कोडरमा(झारखंड)। कोडरमा वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के सिसिरवा इलाके में सीटी बजाने पर भी प्रतिबंध है, लेकिन यहां विस्फोट के जरिए वर्षों से अवैध उत्खनन हो रहा है। रविवार को जिले के डीसी संजीव बेसरा और एसपी सुरेंद्र झा दल बल के साथ छापेमारी के लिए यहां पहुंचे तो चारों ओर जंगलों से घिरे इस इलाके में दर्जनों अवैध स्टोन माइंस संचालित मिली। 100 फीट तक गहरा हो चुका है माइंस...
    - माइंस की गहराई भी 50 से 100 फीट की हो चुकी है। कोडरमा वाइल्ड लाइफ सेंचुरी की अधिसूचना 25 जनवरी 1985 को जारी की गई, जबकी वर्ष 2003 में वाइल्ड लाइफ सेंचुरी का अलग डिवीजन सृजित किया गया।
    -विभाग के आकड़ों पर अगर गौर करें तो 1993 से सिसिरवा में अवैध उत्खनन की सूचना है। वहीं, पिछले पांच वर्षों में 414 लोगों पर 156 मामले दर्ज किए गए हैं, 53 वाहन भी जब्त किए गए हैं।
    -17 लोगों को मौके पर गिरफ्तार किया गया। बावजूद इसके सिसिरवा में अवैध माइंस बंद नहीं हुए। वन्य प्राणी संरक्षण के संसाधनों की कमी का बहाना बनाकर इससे अपना पल्ला झाड़ते रहे हैं।
    -जिला टास्क फोर्स की बैठक में वन विभाग की ओर से 57 ऐसे क्रशरों की सूची सौंपी गई है, जो वन्य आश्रयणी के समीप अवैध ढंग से संचालित हैं।
    -बावजूद इसके आज तक इसपर कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। विभाग के एक अधिकारी ने बताया की वर्तमान में वहां अपराधी सफेदपोश लोगों द्वारा संगठित ढंग से उत्खनन कराया जा रहा है।
    प्रतिनियुक्त किए जा रहे हैं होमगार्ड के जवान

    -वन्यप्राणी आश्रयणी अंतर्गत सिसिरवा में चल रहे अवैध खनन पर रोक थाम को लेकर दस होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति की जा रही है।
    -रेंजर प्रमोद कुमार ने बताया कि डीएफओ दिलीप यादव द्वारा दस होमगार्ड अलग से रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। ये जवान सुबह से शाम तक सिसिरवा जंगल में गश्ती अभियान में रहेंगे।
    आगे की स्लाइड्स पर देखें संबंधित PHOTOS :
  • यहां सीटी बजाने पर भी है प्रतिबंध, जंगल पहुंचे DC-SP तो दिखा ऐसा हाल
    +5और स्लाइड देखें
    100 फीट गहरी खदानों में करते हैं विस्फोट।
  • यहां सीटी बजाने पर भी है प्रतिबंध, जंगल पहुंचे DC-SP तो दिखा ऐसा हाल
    +5और स्लाइड देखें
    डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्टेशन के अफसर यहां पहुंचे तो चारों ओर जंगलों से घिरे इलाके में दर्जनों अवैध स्टोन माइंस संचालित मिली।
  • यहां सीटी बजाने पर भी है प्रतिबंध, जंगल पहुंचे DC-SP तो दिखा ऐसा हाल
    +5और स्लाइड देखें
    अवैध उत्खनन देखते ऑफिसर।
  • यहां सीटी बजाने पर भी है प्रतिबंध, जंगल पहुंचे DC-SP तो दिखा ऐसा हाल
    +5और स्लाइड देखें
    काफी बड़े क्षेत्र में सालों से अवैध उत्खनन किया जा रहा है।
  • यहां सीटी बजाने पर भी है प्रतिबंध, जंगल पहुंचे DC-SP तो दिखा ऐसा हाल
    +5और स्लाइड देखें
    माइंस की गहराई भी 50 से 100 फीट की हो चुकी है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ranchi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Restriction On Whistle Play In Koderma Wildlife Century, Illegal Quarrying Happening At
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×