Hindi News »Jharkhand »Ranchi »News» Story Of Yoga Teacher Rafia Naaj Ranchi, Meet DGP

इस लड़की के घर तैनात है ऐसी फोर्स, योग से चर्चा के बाद आई सामने

इस लड़की के घर तैनात है ऐसी फोर्स, योग से चर्चा के बाद आई सामने

Gupteshwar Kumar | Last Modified - Nov 11, 2017, 12:46 PM IST

रांची (झारखंड)।यहां के डोरंडा में रहने वाली राफिया नाज के घर के बाहर काफी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। दरअसल, वे रांची में योग सिखाती हैं, लेकिन कुछ कट्टरपंथियों को योग के प्रति उनका झुकाव धर्मविरोधी लगता है। इसलिए योग ना करने की उन्हें धमकी तक दी गई। शुक्रवार की रात राफिया के घर पत्थरबाजी की अफवाह के बाद डीजीपी डीके पांडेय भी मौके पर पहुंचे। राफिया की सुरक्षा में मंगलवार को ही दो बॉडीगार्ड तैनात कर दिए गए थे। क्या है मामला...?


-शुक्रवार को यह अफवाह भी फैलाई गई कि राफिया के घर पर फिर से पत्थरबाजी की गई है। पुलिस ने राफिया के घर पर एक-चार का फोर्स अलग से तैनात कर दिया है।
-वहीं, डोरंडा थाने में एक क्यूआरटी टीम को रिजर्व रखा गया है। रांची के एसएसपी कुलदीप द्विवेदी, रांची जोन के आइजी नवीन कुमार सिंह और डीजीपी डीके पांडेय भी राफिया के घर पहुंचे। सभी ने उससे मामले की जानकारी ली।
-बताते चलें कि निवारणपुर स्थित आदिमजाति सेवा मंडल के आश्रम के बच्चों को राफिया नि:शुल्क योगाभ्यास कराती हैं। वह मारवाड़ी कॉलेज से एमकॉम कर रही हैं।
-दरअसल, राफिया को लगातार योग न सिखाने की धमकियां मिल रही थीं। सोमवार की रात उनके घर पर कुछ लोगों ने पत्थरबाजी भी की थी, जिससे उनका परिवार सहम गया।
-इस मामले में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने संज्ञान लिया था और उनके आदेश पर मंगलवार को रांची के एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने राफिया को दो बॉडीगार्ड्स दिए।
-बताते चलें कि जब बाबा रामदेव हाल ही में रांची आए थे तो उनके मंच पर राफिया ने योग प्रदर्शन कर उन्हें हैरत में डाल दिया था। राफिया का सपना पाकिस्तान और भारत के बीच योग प्रतियोगिता कराने का है।
क्लास एक से लेकर 10th के बच्चों को सिखातीं हैं योगा

- मारवाड़ी कॉलेज से एमकॉम कर रहीं राफिया कॉलेज छात्रसंघ की महासचिव भी हैं। क्लास एक से लेकर 10वीं तक के कई बच्चे हॉल में उनसे योग सीखते हैं।
-आश्रम प्रमुख गोपीनाथ मुंडा कहते हैं कि राफिया पहली बार जब आईं तो नाम से चकित हुआ था। पर उनकी नि:स्वार्थ सेवा ने भ्रम दूर कर दिए।
-राफिया जब डोरंडा के कन्या सरकारी विद्यालय में कक्षा एक में थी, तो बड़ी बच्चियों को योग करते देख उनकी रुचि भी जगी।
-उनके अब्बू रिजाउद्दीन खान ने जब पीठ पर हाथ रखा तो नन्हे कदम चार डग और बढ़ गए। सुशांत भट्‌टाचार्य जैसे शिक्षक ने राफिया को नि:शुल्क योगाभ्यास कराया।
आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×