--Advertisement--

सेप्टिक टैंक की गंदगी को ट्रीटमेंट करने के लिए सभी शहरों में एसटीपी बनाने की तैयारी, मंत्री ने कहा स्वच्छता के लिए फीकल मैनेजमेंट जरूरी

सेप्टिक टैंक की गंदगी को ट्रीटमेंट करने के लिए सभी शहरों में एसटीपी बनाने की तैयारी, मंत्री ने कहा स्वच्छता के लिए फीकल मैनेजमेंट जरूरी

Danik Bhaskar | Feb 13, 2018, 03:03 PM IST
नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने

रांची। राजधानी रांची सहित राज्य के अन्य शहरों में सीवरेज सिस्टम बनाने के बजाय सेप्टिक टैंक की गंदगी को साफ कर उसका ट्रीटमेंट करने के लिए फीकल स्लज मैनेजमेंट सिस्टम अपनाने पर जोर दिया जा रहा है। नगर विकास विभाग ने इसके लिए प्लान भी तैयार किया है। फीकल मैनेजमेंट को अनिवार्य रूप से लागू करने को लेकर मंगलवार को प्रोजेक्ट भवन स्थित सभा कक्ष में विभिन्न निकाय के पदाधिकारियों व एजेंसी के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा की गई।

-उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि स्वच्छता के लिए वेस्ट वाटर एंड फीकल स्लज मैनेजमेंट (अवशिष्ट जल एवं मल युक्त गाद प्रबंधन) को लागू करने की जरूरत है।
-उन्होंने कहा कि शहरी स्वच्छता की चुनौतियां कई तरह की है। इसका सीधा संबंध मानव स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है। यदि मानव मल का प्रबंधन और उपचार ढंग से नहीं किया जाता है तो यह खाद्य पदार्थ द्वारा हमारे शरीर में प्रवेश कर कई तरह की बीमारियों को जन्म देता है।
-इसलिए सभी शहरों में फीकल स्लज मैनेजमेंट द्वारा ट्रीटमेंट प्लांट बनाकर सेप्टिक टैंक की गंदगी का ट्रीटमेंट होना जरूरी है।
-मौके पर सूडा के निदेशक राजेश शर्मा ने इस प्रोजेक्ट की जानकारी विस्तार से दी। मौके पर विभिन्न संस्था के पदाधिकारी उपस्थित थे।

फोटो: संतोष चौधरी।